12 हजार पेड़ काटे जाएंगे, शिलान्यास करवाने के लिए इन 11 में कोई एक कम्पनी चुनी जाएगी

जेवर एयरपोर्ट BREAKING : 12 हजार पेड़ काटे जाएंगे, शिलान्यास करवाने के लिए इन 11 में कोई एक कम्पनी चुनी जाएगी

12 हजार पेड़ काटे जाएंगे, शिलान्यास करवाने के लिए इन 11 में कोई एक कम्पनी चुनी जाएगी

Tricity Today | Symbolic Photo

12 हजार पेड़ काटे जाएंगे, शिलान्यास करवाने के लिए इन 11 में कोई एक कम्पनी चुनी जाएगी Jewar Airport Update : जेवर एयरपोर्ट परियोजना के लिए करीब 12 हजार पेड़ काटे जाएंगे। हालांकि, इसके बदले में 10 गुना यानि सवा लाख पौधे लगाए जाएंगे। पौधे लगाने का काम वन विभाग कर रहा है। विभाग ने अब तक 50 हजार से अधिक पौधे लगा दिए हैं। दूसरी ओर वह घड़ी नजदीक है जब 25 साल लम्बा सपना साकार होने वाला है। जेवर एयरपोर्ट के शिलान्यास कार्यक्रम के लिए इंवेंट मैनेजमेंट एजेंसी की तलाश लगभग पूरी हो गई है।

जेवर एयरपोर्ट परियोजना में 11,460 पेड़ आए। वन विभाग ने इन पेड़ों को काटने की अनुमति दे दी। इसके अलावा मुख्य सड़क के किनारे 536 पेड़ आ रहे थे। इन पेड़ों को काटने के लिए वन विभाग से अनुमति ली गई। वन विभाग ने सशर्त इन पेड़ों को काटने की अनुमति दे दी है। इसके बदले 10 गुना पौधे लगाने होंगे। यह काम वन विभाग करेगा। इसके लिए प्राधिकरण ने जमीन मुहैया कराई है। वन विभाग ने पेड़ों को लगाने का काम शुरू कर दिया है। अब तक 50 हजार से अधिक पौधे लगाए जा चुके हैं। पेड़ों को लगाने के बाद उनकी देखरेख भी की जाएगी। पर्यावरण संतुलन को बनाए रखने के लिए यह काम किया जाएगा।

11 में से कोई एक कम्पनी करवाएगी शिलान्यास
जेवर एयरपोर्ट का शिलान्यास कार्यक्रम कराने के लिए इंवेंट मैनेजमेंट एजेंसी की तलाश लगभग पूरी हो गई है। यमुना प्राधिकरण ने वित्तीय निविदा खोल दी है। इसमें 11 कंपनियां मानकों पर खरी उतरी हैं। इनमें दिग्गज कंपनी विज़क्राफ्ट भी शामिल है, जिसने देश में कॉमनवेल्थ गेम्स कराए थे। अब प्राधिकरण की ओर से रेट कार्ड बनाया जाएगा। इस रेट कार्ड जो कंपनियां फिट बैठेंगी, उनको यमुना प्राधिकरण अपने पैनल में शामिल कर लेगा। भविष्य में होने वाले कार्यक्रम इन कंपनियों से ही कराए जाएंगे।

यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में जेवर एयरपोर्ट, फिल्म सिटी, लॉजिस्टिक हब, हेरिटेज सिटी जैसी परियोजनाओं का शिलान्यास किया जाना है। इसको देखते हुए प्राधिकरण ने इवेंट मैनेजेमेंट एजेंसी की तलाश शुरू की। तकनीकी निविदा में 18 कंपनियां पास हुई थीं। इसके बाद प्राधिकरण ने वित्तीय निविदा खोली। इसमें 11 कंपनियों ने प्राधिकरण की शर्तों को पूरा किया है। अब प्राधिकरण रेट कार्ड बनाएगा। इसमें आयोजन में लगने वाले आइटमों की दर तय की जाएगी। यह रेट कार्ड फिर कंपनियां को दिया जाएगा। इस रेट कार्ड में जो सबसे कम दर बताएगा, उसे प्राधिकरण अपने पैनल में शामिल करेगा। इसमें टॉप-3 या टॉप-5 कंपनियों को शामिल किया जा सकता है। भविष्य में जब कोई कार्यक्रम होगा तो इन्हीं कंपनियों से कराया जाएगा।

ये कपंनियां हैं शामिल
विज़क्राफ्ट, पवेलियन एंड इंटीरियर, हितकारी प्रोडक्शन एंड क्रिएशन प्राइवेट लिमिटेड, जेबी डिकोट प्राइवेट लिमिटेड, संकेत कम्युनिकेशन प्राइवेट लिमिटेड, मेटोफार्म प्राइवेट लिमिटेड, एक्सिस कम्युनिकेशन, क्रियांश एडवरटाइजिंग, दिपाली डिजाइन प्राइवेट लिमिटेड, गांधी टेंट हाउस, गो-बनानाज।

कॉमनवेल्थ गेम कराने वाली कंपनी भी शामिल
निविदा निकालते समय प्राधिकरण ने शर्त रखी थी, वे कंपनियां ही इसमें शामिल हो सकती हैं, जिनके पास प्रधानमंत्री के दो और मुख्यमंत्री के 3 कार्यक्रमों को कराने का अनुभव हो। इवेंट मैनजमेंट के लिए आई कंपनियों का प्रोफाइल बहुत बेहतर है। विज़क्राफ्ट कॉमनवेल्थ गेम्स, हॉकी वर्ल्ड कप, डिफेंस एक्सपो जैसे आयोजन करा चुकी है। इसी तरह अन्य कंपनियों ने भी बड़े-बड़े आयोजन कराए हैं।

बड़े कार्यक्रमों को कराने के लिए इवेंट मैनेजमेंट एजेंसी का चयन किया जा रहा है। वित्तीय निविदा में 11 कंपनियां चयनित हुई हैं। जल्द की यह प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी।
- डॉ. अरुणवीर सिंह, सीईओ यमुना प्राधिकरण

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.