नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के शिलान्यास की तारीख तय, मोदी-योगी इस खास मौके पर करने आएंगे भूमि पूजन

Jewar Airport Update : नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के शिलान्यास की तारीख तय, मोदी-योगी इस खास मौके पर करने आएंगे भूमि पूजन

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के शिलान्यास की तारीख तय, मोदी-योगी इस खास मौके पर करने आएंगे भूमि पूजन

Tricity Today | मोदी-योगी इस खास मौके पर करने आएंगे भूमि पूजन

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के शिलान्यास की तारीख तय, मोदी-योगी इस खास मौके पर करने आएंगे भूमि पूजन Jewar Airport : एशिया का सबसे बड़ा नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Noida International Airport) ग्रेटर नोएडा में जेवर कसबे के पास बन रहा है। एयरपोर्ट के शिलान्यास की तारीख तय हो गई है। मिली जानकारी के मुताबिक यूपी के मुख्यमंत्री कार्यालय और प्रधानमंत्री कार्यालय में सहमति बन गई है। मोदी-योगी खास मौके पर भूमि पूजन करने आएंगे। दूसरी तरफ एयरपोर्ट का निर्माण कर रही कम्पनी और उत्तर प्रदेश सरकार के अधिकारियों का कहना है कि अगले 100 दिनों में एयरपोर्ट शक्ल लेने लगेगा। रनवे का निर्माण शुरू करने के लिए जमीन का समतलीकरण चल रहा है। 

नवरात्र के दौरान होगा एयरपोर्ट का शिलान्यास
केंद्रीय नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पिछले सप्ताह विमानन के क्षेत्र में होने जा रही क्रांति का एजेंडा पेश किया है। जिसमें नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट को सबसे ऊपर रखा है। इस बार पितृपक्ष की शुरुआत 20 सितंबर को रही है। 6 अक्टूबर को श्राद्ध अमावस्या है। इसके बाद 7 से 15 अक्टूबर तक नवरात्र चलेंगे। विश्वसनीय सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक नवरात्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ संयुक्त रूप से जेवर आकर भूमि पूजन करेंगे। उस दिन यहां एक बड़ी जनसभा का आयोजन भी किया जाएगा। जिसे मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री संबोधित करेंगे। इसके बाद निर्माण कार्य गति पकड़ने लगेगा।

सिंधिया से मिले कम्पनी व सरकार के अफसर
केंद्रीय नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया से नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड और यमुना इंटरनेशनल एयरपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड के अधिकारियों ने मुलाकात की है। इसी दौरान उन्हें आश्वासन दिया कि शिलान्यास के साथ 100 दिन के अंदर एयरपोर्ट अपनी शक्ल लेने लगेगा। दूसरी और मौके पर काम चल रहा है। नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट पहले चरण में 1,334 हेक्टेयर जमीन पर बनेगा। इसको विकसित करने वाली कंपनी वाईआईएपीएल को जमीन मिल चुकी है। जमीन के समतलीकरण का काम चाल रहा है। जमीन के खसरा-खतौनी का मिलान करने के लिए यमुना अथॉरिटी के विशेष कार्याधिकारी शैलेंद्र भाटिया दिन-रात जुटे हैं। उनकी रिपोर्ट के आधार पर ही चारदीवारी बन रही है। मशीनें पिलर गाड़ने और समतलीकरण का काम कर रही हैं।

पहले चरण में 9,000 करोड़ रुपये का निवेश
केंद्रीय नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को नियाल और वाईएपीएल के अधिकारियों ने मुलाकात के दौरान बताया कि यह पूरा प्रॉजेक्ट 30 हजार करोड़ रुपये का है। इसके पहले चरण में 9,000 करोड़ रुपये का निवेश होगा। नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट से 1.2 करोड़ यात्री पहले साल से उड़ान भरना शुरू करेंगे। चौथे चरण का काम पूरा होने के बाद से यहां से प्रतिवर्ष 7 करोड़ यात्री उड़ान भर सकेंगे। केंद्रीय नागर विमानन मंत्रालय में नोएडा एयरपोर्ट के शिलान्यास की तैयारी सहित अन्य विषयों को लेकर बैठक हुई। जिसमें बताया गया कि नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट से हवाई सफर की शुरुआत 2023-24 तक कर दी जाएगी।

एशिया का सबसे बड़ा, दुनिया का चौथा एयरपोर्ट
पांच हेक्टेयर क्षेत्रफल और आठ रनवे के साथ नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट देश का नहीं एशिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट बनेगा। वर्ष 2024 तक पहले चरण में दो रनवे का निर्माण हो जाएगा। इस एयरपोर्ट के सभी चार चरणों का विकास करने ऐसा करीब 30 वर्ष का वक्त लगेगा। एयरपोर्ट की डीपीआर के मुताबिक इसका पूर्ण रूप से विकास वर्ष 2050 तक किया जाएगा।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.