BIG NEWS : ग्रेटर नोएडा से Jewar Airport तक एक्सप्रेस जाएगी मेट्रो ट्रेन, प्रोजेक्ट में किया जा रहा बड़ा बदलाव

ग्रेटर नोएडा से Jewar Airport तक एक्सप्रेस जाएगी मेट्रो ट्रेन, प्रोजेक्ट में किया जा रहा बड़ा बदलाव

Tricity Today | नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट विशेष

ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) में नॉलेज पार्क से जेवर में नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Noida International Airport) के लिए लोगों को एक्सप्रेस मेट्रो की कनेक्टिविटी मिलेगी। यह आदेश उत्तर प्रदेश सरकार ने यमुना प्राधिकरण (Yamuna Authority) और नोएडा मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (Noida Metro Rail Corporation) को दिया है। दरअसल, अभी यमुना प्राधिकरण की ओर से पैसा लेने के लिए राज्य सरकार को मेट्रो का जो प्रस्ताव भेजा गया था, उसके मुताबिक ग्रेटर नोएडा से जेवर एयरपोर्ट (Jewar Airport) के बीच 25 स्टेशन हैं।

अब शासन के आदेश पर इसके लिए एयरपोर्ट मेट्रो (Airport Metro) की विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) में संशोधन किया जाएगा। इतना ही नहीं इस परियोजना की लागत कम करने के लिए स्टेशन की संख्या कम की जा रही है। इस रूट पर 120 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से मेट्रो का संचालन किया जाएगा, ताकी नोएडा और दिल्ली से एयरपोर्ट तक पहुंचने में कम समय लगेगा।

यमुना प्राधिकरण ने दिल्ली मेट्रो रेल कारपोरेशन ने नोएडा एयरपोर्ट मेट्रो की डीपीआर तैयार करवाई थी। ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क दो से जेवर में नोएडा एयरपोर्ट तक 35.64 किलोमीटर लंबे मेट्रो ट्रैक पर अभी 25 स्टेशन प्रस्तावित हैं। इसका मकसद नोएडा एयरपोर्ट के साथ-साथ ग्रेटर नोएडा और यमुना प्राधिकरण के सेक्टरों को भी मेट्रो की कनेक्टिविटी देना है। यमुना प्राधिकरण ने एयरपोर्ट मेट्रो के लिए फंडिग पैटर्न तय करने के लिए प्रस्ताव शासन को भेजा था। शासन ने प्राधिकरण का प्रस्ताव उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कारपोरेशन को भेज दिया था। अब करीब एक साल से अधिक समय बीतने के बाद शासन ने इस पर फिर पत्राचार शुरू किया है।

एयरपोर्ट के यात्रियों को फ़ास्ट कनेक्टिविटी चाहिए

उत्तर प्रदेश सरकार ने यमुना प्राधिकरण और नोएडा मेट्रो रेल कारपोरेशन से कहा है कि नोएडा एयरपोर्ट को तेज कनेक्टिविटी की जरूरत होगी। मौजूदा डीपीआर के हिसाब से यह संभव नहीं होगा। अगर ग्रेटर नोएडा से जेवर एयरपोर्ट तक मेट्रो 25 स्टेशनों पर रुकेगी तो सवा से डेढ़ घंटे में पहुंचेगी। ऐसे में एयरपोर्ट के यात्री इस सेवा का लाभ लेने से बचेंगे। लिहाजा, एक्सप्रेस मेट्रो पर विचार किया जाना चाहिए। इसके लिए शासन ने दिल्ली एयरपोर्ट मेट्रो लाइन का अध्ययन करके डीपीआर में संशोधन करने का सुझाव दिया है।

यमुना एक्सप्रेस वे के समानांतर बनेगी मेट्रो

डीएमआरसी की ओर से सौंपी गई डीपीआर के मुताबिक इस रूट के आठ स्टेशन ग्रेटर नोएडा क्षेत्र में हैं। बाकी 17 स्टेशन यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में बनाए जाएंगे। दो स्टेशनों के बीच की दूरी एक किलोमीटर से लेकर 1.45 किलोमीटर तक है। एयरपोर्ट परिसर में करीब 2.7 किलोमीटर लंबा मेट्रो ट्रैक बनेगा। नंगला हुकुम सिंह से मेट्रो ट्रैक भूमिगत हो जाएगा। एयरपोर्ट मेट्रो स्टेशन भूमिगत होगा। शासन ने इन स्टेशन की संख्या कम करने का सुझाव दिया है। इससे परियोजना की लागत कम होने के साथ मेट्रो को एयरपोर्ट तक पहुंचने में कम समय लगेगा। यह पूरा ट्रैक यमुना एक्सप्रेसवे के समानांतर ग्रीन बेल्ट में बनाई जाएगी।

इन स्थानों पर बनाए जाएंगे स्टेशन

नॉलेज पार्क दो
सेक्टर चाई एक
सेक्टर चाई दो
सेक्टर चाई तीन
सेक्टर चाई चार
गौतमबुद्ध विश्वविद्यालय
नाइट सफारी
मुर्शदपुर
यमुना प्राधिकरण सेक्टर-26 ए
नोएडा इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी
गलगोटिया यूनिवर्सिटी
सेक्टर-17ए
स्पो‌र्ट्स सिटी
सेक्टर-22ए
सेक्टर-22बी
सेक्टर-18 एक
सेक्टर-22सी
फिल्म सिटी
सेक्टर-19
सेक्टर-18 दो
सेक्टर-20
सेक्टर-21
सेक्टर-28
सेक्टर-29
नंगला हुकुम सिंह
नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट टर्मिनल स्टेशन

रूट पर बढ़ाए जा सकेंगे स्टेशन

यमुना प्राधिकरण के अफसरों का कहना है कि उनके सेक्टरों में अभी बसावट नहीं हुई है। इसलिए 25 स्टेशन का निर्माण व्यावहारिक नहीं है। सेक्टर 17ए, 18, 20, फिल्म सिटी, औद्योगिक सेक्टर 28, 29 आदि सेक्टर के लिए शुरुआत में स्टेशन बनाए जा सकते हैं। भविष्य में जैसे-जैसे प्राधिकरण क्षेत्र में बसावट होगी, स्टेशन का निर्माण किया जाएगा।

आसान नहीं होगा पैसा जुटाना

यमुना प्राधिकरण के लिए नोएडा एयरपोर्ट मेट्रो के निर्माण के लिए पूंजी जुटाना बड़ी चुनौती है। परियोजना की लागत 5000 करोड़ रुपये अनुमानित है। यह तय है कि केंद्र सरकार, राज्य सरकार, यमुना प्राधिकरण और नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड प्रोजेक्ट में निवेश करेंगे। पूंजी जुटाने के लिए क्या विकल्प हो सकते हैं, किसकी कितनी अंश धारिता होगी, इस पर भी शासन ने विचार करने का अधिकारियों को निर्देश दिया है। यमुना प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी अरुणवीर का कहना है कि नोएडा एयरपोर्ट मेट्रो को एक्सप्रेस बनाने और स्टेशन की संख्या कम करने के लिए शासन ने पत्र भेजा है। इस पर विचार के लिए जल्द ही एनएमआरसी के साथ बैठक करके निर्णय लिया जाएगा।

नोएडा एयरपोर्ट मेट्रो के ख़ास तथ्य

1. इस मेट्रो ट्रैक की लंबाई 35.64 किलोमीटर होगी।

2. इस पर अधिकतम रफ्तार 120 किलोमीटर प्रति घंटा होगी।

3. प्रोजेक्ट की अनुमानित लागत पांच हजार करोड़ रुपये होगी।

4. फिलहाल मेट्रो के इस रूट पर प्रस्तावित स्टेशन संख्या 25 है।

अन्य खबरे

Copyright © 2019-2020 Tricity. All Rights Reserved.