यमुना सिटी में बनेगा उत्तर भारत का पहला मेडिकल डिवाइस पार्क, दिसंबर में लांच होगी योजना

अच्छी खबर : यमुना सिटी में बनेगा उत्तर भारत का पहला मेडिकल डिवाइस पार्क, दिसंबर में लांच होगी योजना

यमुना सिटी में बनेगा उत्तर भारत का पहला मेडिकल डिवाइस पार्क, दिसंबर में लांच होगी योजना

Tricity Today | Yamuna Authority

यमुना सिटी में बनेगा उत्तर भारत का पहला मेडिकल डिवाइस पार्क, दिसंबर में लांच होगी योजना Yamuna City : यमुना सिटी में उत्तर भारत का पहला मेडिकल डिवाइस पार्क (Medical Devices Park) बनेगा। यह मेडिकल डिवाइस पार्क यमुना प्राधिकरण (Yamuna Authority) के सेक्टर-28 में बनेगा। इसके लिए योजना दिसंबर महीने में लांच हो जाएगी। परियोजना की डीपीआर (DRP) संशोधन के साथ केंद्र सरकार को भेजी जाएगी। यह जानकारी यमुना प्राधिकरण ने दी है। केंद्र सरकार ने उत्तर भारत में मेडिकल डिवाइस पार्क बनाने की योजना निकाली थी। उत्तर प्रदेश सरकार (Uttar Pradesh Government) ने भी इसमें आवेदन किया और इसके लिए यमुना प्राधिकरण को मौका दिया। 

एक हफ्ते में केंद्र सरकार को भेजी जाएगी रिपोर्ट
केंद्र सरकार ने कहा कि यमुना प्राधिकरण अपने क्षेत्र में मेडिकल डिवाइस पार्क विकसित करे। यमुना प्राधिकरण ने इस योजना में आवेदन किया और केंद्र सरकार ने इसको मंजूर कर लिया। यमुना प्राधिकरण एक हफ्ते में केंद्र सरकार को इस परियोजना की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) भेज देगा। पहले डीपीआर भेजी गई थी, लेकिन इसमें सरकार ने कुछ संशोधन बताए थे। अब उन संशोधनों के साथ यह डीपीआर भेजी जाएगी। 

350 एकड़ में विकसित होगा
यमुना प्राधिकरण के सेक्टर -28 में उत्तर भारत का पहला मेडिकल डिवाइस पार्क विकसित किया जाएगा। यह पार्क 350 एकड़ में विकसित होगा। पहले चरण में 90 एकड़ में योजना आएगी।  इसमें मेडिकल उपकरण बनाने वाली कंपनियों के लिए भूखंड और फ्लैट्टेड फैक्ट्री का विकल्प होगा। यमुना प्राधिकरण योजना लाने से पहले देश की टॉप फार्मा कंपनियों के साथ वेबीनार करेगा। उन्हें इस योजना के बारे में बताया जाएगा। साथ ही कहा जाएगा कि वह यहां अपनी इकाइयां लगाएं। इस पार्क का शिलान्यास करने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी या मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आ सकते हैं। 

ड्रा के जरिए होगा भूखंड
यमुना प्राधिकरण जल्द ही औद्योगिक भूखंडों की योजना लाएगा। इसके लिए तैयारी चल रही है। ये भूखंड सामान्य श्रेणी के होंगे। इसमें करीब 250 भूखंड होंगे। सभी भूखंड 4,000 वर्ग मीटर से छोटे होंगे। इन भूखंडों का आवंटन ड्रा के जरिए किया जाएगा। प्राधिकरण ने इसकी तैयारी पूरी कर ली है। यमुना प्राधिकरण आवासीय भूखंडों की लेफ्ट ओवर स्कीम लाने की भी तैयारी कर रहा है। योजना के लिए भूखंडों को चिन्हित किया जा रहा है। बहुत संभव है कि अगले महीने यह योजना लांच कर दी जाए।

अन्य खबरे

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.