विकास की राह : यमुना सिटी में साइंस पार्क विकसित करने की तैयारी शुरू, म्यूजियम और साइंस एंड टेक्नोलॉजी हेरिटेज गैलरी बनेगी

यमुना सिटी में साइंस पार्क विकसित करने की तैयारी शुरू, म्यूजियम और साइंस एंड टेक्नोलॉजी हेरिटेज गैलरी बनेगी

Tricity Today | Yamuna Authority

यमुना प्राधिकरण में कलस्टर बनाकर विकास कार्य कराने पर जोर दिया जा रहा है। अब प्राधिकरण ने अपने क्षेत्र में साइंस पार्क विकसित करने की योजना बनाई है। दिल्ली के नेशनल साइंस सेंटर की तर्ज पर यहां पार्क विकसित होगा। यहां विज्ञान के छात्र-छात्राओं को अनुसंधान का मौका मिलेगा। साइंस म्यूजियम बनाया जाएगा, जिसमें छात्रों को भी सीखने का मौका मिलेगा। साथ ही पार्क में साइंस से संबंधित कंपनियां निवेश भी करेंगी।

यमुना प्राधिकरण में कलस्टर बनाकर विकास कार्य कराए जा रहे हैं। इंडस्ट्री भी कलस्टर में बसाई जा रही है। यहां पर हैंडीक्राफ्ट पार्क, अपैरल पार्क, एमएसएमई पार्क व ट‘वाय सिटी के लिए भूखंडों का आवंटन किया जा चुका है। फर्नीचर पार्क भी विकसित करने की तैयारी है। दरअसल अभी जिले में साइंस म्यूजियम नहीं है। विज्ञान के छात्रों को इसके लिए स्कूल अभी दिल्ली लेकर जाते हैं। इसको देखते हुए अब यहां पर साइंस पार्क विकसित करने की योजना बनाई गई है। इसमें विज्ञान से संबंधित कंपनियां निवेश करेंगी। यहां साइंस म्यूजियम बनाया जाएगा। इसमें विज्ञान का इतिहास भी देखने को मिलेगा। दिल्ली की तरह साइंस एंड टेक्नोलॉजी हेरिटेज गैलरी होगी। इसमें संचार प्रौद्योगिकी के विकास की कहानी बताई जाएगी।

विज्ञान से संबंधित फिल्में दिखेंगी
विज्ञान को मनोरंजन के तरीके से समझाया जाएगा। 3 डी थिएटर की सुविधा रखने की भी योजना है। साइंस पार्क में प्रेक्षागृह की भी सुविधा होगी। इसमें विज्ञान से संबंधित फिल्में दिखाई जाएंगी। डिजिटल तारामंडल की सुविधा भी होगी, जिसमें तारामंडल के सभी ग्रहों को देखा जा सकेगा। साइंस पार्क में अनुसंधान केंद्र भी विकसित किया जाएगा। यहां छात्र अनुसंधान कर सकेंगे।

मनोरंजन के साथ नया सीखने को मिलेगा
साइंस पार्क में बच्चों के मनोरंजन का भी इंतजाम किया जाएगा। जिसमें प्रैक्टिकल शिक्षा पर अधिक जोर दिया जाएगा। छात्र मनोरंजन के साथ-साथ कुछ नया भी सीख सकेंगे। विज्ञान को बोझिल विषय माना जाता है, लेकिन यह पार्क बोझिलता दूर करेगा। यहां पर विश्वस्तरीय सुविधाएं दी जाएंगी ताकि छात्रों में विज्ञान के प्रति जागरूकता बढ़ सके।

यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में तमाम देसी-विदेशी कंपनियां आ रही हैं। इसके साथ ही यह इलाका एजूकेशन हब भी है। इसको ध्यान में रखते हुए यहां पर साइंस पार्क विकसित किया जाएगा।
डॉ. अरुणवीर सिंह, सीईओ यमुना प्राधिकरण

अन्य खबरे

Copyright © 2019-2020 Tricity. All Rights Reserved.