आज इतिहास के पन्नों पर लिखा जाएगा जेवर का नाम, पीएम मोदी और सीएम योगी करेंगे एयरपोर्ट का शिलान्यास

Jewar Airport News : आज इतिहास के पन्नों पर लिखा जाएगा जेवर का नाम, पीएम मोदी और सीएम योगी करेंगे एयरपोर्ट का शिलान्यास

आज इतिहास के पन्नों पर लिखा जाएगा जेवर का नाम, पीएम मोदी और सीएम योगी करेंगे एयरपोर्ट का शिलान्यास

Tricity Today | पीएम मोदी और सीएम योगी करेंगे एयरपोर्ट का शिलान्यास

आज इतिहास के पन्नों पर लिखा जाएगा जेवर का नाम, पीएम मोदी और सीएम योगी करेंगे एयरपोर्ट का शिलान्यास Jewar Airport News : आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) इतिहास के पन्नों पर जेवर (Jewar) का नाम लिखने वाले हैं। बुधवार की दोपहर ऐतिहासिक कार्य होने वाला है। आज 25 नवंबर 2021 की दोपहर जेवर एयरपोर्ट (Jewar Airport) का शिलान्यास और भूमि पूजन होगा। यह सपना दो दशक पुराना है। जो आज पूरा होने जा रहा है। 

योगी आदित्यनाथ ने किया ट्वीट
योगी आदित्यनाथ ने थोड़ी देर पहले ट्वीट करते कहा, "प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आज विश्व के चौथे सबसे बड़े इंटरनेशनल एयरपोर्ट, 'नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट' का शिलान्यास होगा। यह एयरपोर्ट उत्तर प्रदेश को नई वैश्विक पहचान देगा। उत्तर प्रदेश अब देश में सर्वाधिक 05 इंटरनेशनल एयरपोर्ट वाला राज्य होगा।हार्दिक आभार प्रधानमंत्री जी।"

कोरोना काल मे मूर्त रूप हासिल की
आज गौतमबुद्ध नगर वासियों का दो दशक पुराना सपना साकार हो रहा है। नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट धरातल पर उतर रहा है। आज से विकास के रास्ते पर एक नई यात्रा शुरू हो रही है। इस प्रोजेक्ट की एक और बड़ी खूबी है, जब पूरी दुनिया कोरोना संक्रमण की जकड़ में थी तो इस परियोजना नहीं मूर्त रूप हासिल किया था। योगी आदित्यनाथ ने 19 मार्च 2017 को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। उसके बाद ही उन्होंने इस प्रोजेक्ट पर कार्य शुरू किया। यह एयरपोर्ट योगी आदित्यनाथ का ड्रीम प्रोजेक्ट है। इस रिपोर्ट में बहुमुखी खूबियां हैं।

1036 दिनों में पहली उड़ान
सबके दिमाग में एक ही सवाल घूम रहा है कि जेवर में बन रहे इस इंटरनेशनल एयरपोर्ट से पहली उड़ान कब भरी जाएगी ? इस सवाल का जवाब शैलेंद्र भाटिया ने ट्राईसिटी टुडे से बात करते हुए दिया है। शैलेंद्र भाटिया ने बताया कि 1 अक्टूबर से ठीक 1,036 दिनों के भीतर जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट से पहली उड़ान भरी जाएगी। यह वक्त बकायदा कागज पर लिखकर तय किया गया है। उत्तर प्रदेश सरकार की मध्यस्था में जमुना इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड और यूरिक इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड के बीच यह करार हुआ है। साफ तौर पर कहा जाए तो 29 सितंबर 2024 से पहले इस एशिया के सबसे बड़े जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट से पहली उड़ान भरी जाएगी।

सबको पीछे छोड़ देगा जेवर एयरपोर्ट
जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट 6,200 हेक्टेयर जमीन पर बनाया जाएगा। यमुना प्राधिकरण ने इसका 355 हेक्टेयर क्षेत्रफल हाल ही में बढ़ाया है। जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का निर्माण चार चरण में किया जाएगा। पहला चरण 2024 तक पूरा होगा। इसमें 1,334 हेक्टेयर जमीन का विकास होगा। पहले चरण में 12 मिलियन क्षमता पैसेंजर के साथ निर्माण कार्य शुरू होगा। दूसरे चरण साल 2032 तक पूरा होगा। तीसरा चरण 2037 और चौथा चरण 2050 तक पूरा होगा। चौथा चरण 70 मिलियन पैसेंजर का होगा। इस तरह चारों चरण को मिलाकर यह 29,560 करोड रुपए की परियोजना है।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.