यमुना प्राधिकरण बोर्ड मीटिंग यमुना प्राधिकरण ने लिया बड़ा फैसला, दो साल में दो हजार करोड़ कर्ज उतरेगा, एक साल में आमदनी 150 फ़ीसदी बढ़ाएगा

यमुना प्राधिकरण ने लिया बड़ा फैसला, दो साल में दो हजार करोड़ कर्ज उतरेगा, एक साल में आमदनी 150 फ़ीसदी बढ़ाएगा

Tricity Today | यमुना प्राधिकरण बोर्ड मीटिंग

-इन दो सालों में ऋणमुक्त हो जाएगा यमुना प्राधिकरण

- पिछले 3 वर्षों में 2000 करोड़ रुपए कर्ज खत्म किया

यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण की बोर्ड बैठक सोमवार की दोपहर उत्तर प्रदेश के औद्योगिक विकास आयुक्त और चेयरमैन आलोक टंडन की अध्यक्षता में हुई। बैठक में कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए हैं। इस दौरान एक बड़ा फैसला लिया गया कि विकास प्राधिकरण अगले 2 वर्षों में सारा कर्ज समाप्त कर देगा। फिलहाल विकास प्राधिकरण पर 2027 करोड़ रुपए का कर्ज है। पिछले 3 वर्षों के दौरान करीब 2000 करोड रुपए कर्ज खत्म किया गया है।

यमुना प्राधिकरण की बोर्ड बैठक में प्रगति रिपोर्ट रखी गई है। इसमें बताया गया है कि अगले दो साल में प्राधिकरण ऋण मुक्त हो जाएगा। सीईओ डॉ.अरुणवीर सिंह ने बताया कि इस समय प्राधिकरण 2027 करोड़ रुपये के कर्ज में है। इसमें से 1100 करोड़ रुपये नोएडा विकास प्राधिकरण का है। प्राधिकरण को अब 25 करोड़ रुपये हर महीने दिया जाएगा। कोविड प्रभाव खत्म होने के बाद यह राशि 50 करोड़ रुपये कर दी जाएगी। नोएडा प्राधिकरण साधारण ब्याज लेगा। सीईओ ने बताया कि इस वित्तीय वर्ष में प्राधिकरण की आमदनी पिछले वर्ष की तुलना में 150 फीसदी अधिक होने की उम्मीद है।

आपको बता दें कि पिछले महीने यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण ने कर्ज पर लग रहे ब्याज को कम करने के लिए नोएडा विकास प्राधिकरण में प्रत्यावेदन दिया था। जिस पर सुनवाई करते हुए नोएडा की पिछली बोर्ड बैठक में प्रस्ताव रखा गया था। उस प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया गया है। जिसके मुताबिक अब यमुना प्राधिकरण को कर्ज के सापेक्ष साधारण ब्याज देना होगा। अभी तक चक्रवृद्धि ब्याज दे रहा था। इससे भी यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण को राहत मिली है। दूसरी ओर नोएडा प्राधिकरण ने कर्ज की एवज में यमुना प्राधिकरण से जमीन मांगी थी। यमुना प्राधिकरण ने जमीन देने की बजाय अगले 2 साल में कर्ज उतारने का वादा किया है।

अन्य खबरे

Copyright © 2019-2020 Tricity. All Rights Reserved.