ग्रेटर नोएडा के मैक्स हॉस्पिटल में आयी कुछ अत्याधुनिक मशीने, होगा सरल ईलाज

Mayank Tawer

ग्रेटर नोएडा के मैक्स हॉस्पिटल में आज एक प्रेस कॉन्फ़्रेशन के दौरान बताया गया की ग्रेटर नोएडा के मैक्स हॉस्पिटल में ऐसी मशीने उपलब्ध हो गयी है जो की बिना शरीर के काटे पथरी जैसी घातक बीमारियों का ईलाज संभव है। 

भारत देश में आज कल बड़ी से बड़ी बीमारी पनप रही है। जिसका सबसे बड़ा कारण है दूषित जल, जिससे पथरी, कैंसर जैसी घातक बीमारी हो रही हैं। जो ग्रेटर नोएडा में सबसे ज्यादा देखने को मिल रहा है। इसी को देखते हुए ग्रेटर नोएडा में मैक्स हॉस्पिटल ने पथरी को बिना शरीर के काटे और फाडे बिना शरीर से बहार निकालने वाली जैसी आधुनिक मशीन अपने हॉस्पिटल में उपलब्ध कराई है। 

मैक्स हॉस्पिटल के यूरोलॉजी डिपार्टमेंट के हेड डॉक्टर उमर फारूकी ने शहर के लोगों में बढ़ती पथरी और प्रोस्टेट की समस्याओं के बारे मे अवगत कराया और उसके इलाज के अति- आधुनिक तरीके बताये । डॉ संदीप सहाय, डॉ उमर फारूकी, डॉ वी अरूण कुमार और डॉ संदीप भी उपस्थित थे । 

मैक्स हॉस्पिटल के डॉक्टर उमर फारूकी बताया की, आज के समय में करीब 100 में से 30% लोग किडनी में पत्थरी की बढ़ती समस्याओं से पीड़ित है। किडनी में पत्थर के निर्माण का प्रमुख उत्तरदायी कारण दूषित पानी है। पहले पत्थरी के इलाज के लिए आपको ऑपरेशन करना पड़ता था और कई कई दिनों अस्पताल में रहने की आवश्यकता होती थी। लेकिन अब नवीनतम तकनीकी के जरिए हम मैक्स ग्रेटर नॉएडा में 'नो कट सर्जरी' करने में सक्षम है, जिससे की शरीर को बिना कोई नुकसान पहुँचाए पत्थरी और प्रोस्टेट की समस्याओं सफलता पूर्वक को दूर किया जा सकता है'।

ग्रेटर नोएडा में पानी की गुणवत्ता का वाटर क़्वालिटी इंडेक्स (WQI) द्वारा 25 ब्लॉकों से 47 भूजल के नमूनों को एकत्रित कर उसका अध्ययन किया, जिससे वाटर क़्वालिटी इंडेक्स की गणना के मूल्य 53.6 9 से 267.85 के बीच के थे। नॉएडा के पीने के पानी में कैल्शियम, मैग्नीशियम, क्लोराइड, नाइट्रेट, सल्फेट, सोडियम और पोटेशियम की एक उच्च मात्रा पाई गई।

डॉ संदीप सहाय ने हॉस्पिटल के बारे में कहा की, हमारा मानना है कि घर के बाहर इलाज कराना बेहद शारीरिक और मानसिक परेशानियां देता है लेकिन हम मैक्स के अंतर्गत एक खुशनुमा माहौल मे सुविधाएं और इलाज प्रदान करते है जिससे मरीज को अपने घर मे रहने जैसा सुख और सुकून का एहसास हो।