बड़ी ख़बरें

असक्त मां नहीं बना सकती सशक्त भारत : IAS एन पी सिंह

Mayank Tawer

मेरठ - ग्रामीण महिलाओं को आगे बढ़कर अपने हितों के लिए आवाज उठानी होगी। एक और हम सशक्त भारत की बात करते हैं लेकिन गांवों में महिलाएं असक्त बनी हुई हैं। शनिवार को जागृति विहार स्थित बीडीएस इंस्टिट्यूट में आयोजित विचार गोष्ठी में यूपी के ग्रामीण विकास आयुक्त एनपी सिंह ने असक्त मां कैसे सशक्त भारत बना सकती है।

ग्राम विकास आयुक्त एनपी सिंह ने संगोष्ठी में भाग लिया

महामना मालवीय शोध संस्थान के तत्वावधान में 'ग्रामीण विकास में पत्रकारिता का योगदान' विषय पर आयोजित विचार गोष्ठी में एनपी सिंह ने कहा, देश में पत्रकारिता और उच्चतम न्यायालय संतुलन का काम करते हैं। सरकार और प्रशासन में अगर कहीं भटकाव आता है तो ये दोनों निकाय सुधार के लिए विवश करते हैं। ग्रामीण और शहरी विकास के बीच संतुलन बनाने की दिशा में मीडिया को काम करना चाहिए।

गांवों में काम कर रहे लोगों को सम्मानित किया गया

कार्यक्रम की अध्यक्षता विधायक सोमेंद्र तोमर ने की, विधायक ने कहा, पत्रकारिता मार्ग दर्शन का कार्य करती है। प्रत्येक क्षेत्र में मीडिया ने योगदान दिया है। समाज के अनछुए पहलुओं को सामने लाने और निर्णायक बनाने में पत्रकार भूमिका अदा कर रहे हैं। 

इस मौके पर ग्रामीण क्षेत्रों में काम कर रहे डॉ. रमन त्यागी, नवीन प्रधान, डॉ. मनोज जाटव, अमित मदान, इंद्रजीत चौधरी, रमन कांत, अमित कुमार को ग्राम गौरव अवॉर्ड से सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का संचालन डॉ. केके शर्मा ने किया। धर्मेन्द्र शर्मा, डॉ. कपिल त्यागी, मोनू सांगवान, मीनाक्षी, पायल, सुमित काठा मौजूद रहे।