बुलंदशहर में बड़ी कार्रवाईः अवैध शराब के कारोबार में लिप्त आबकारी निरीक्षक और दो आरक्षी गिरफ्तार, भारी मात्रा में शराब और नगदी बरामद

अवैध शराब के कारोबार में लिप्त आबकारी निरीक्षक और दो आरक्षी गिरफ्तार, भारी मात्रा में शराब और नगदी बरामद

Google Image | आबकारी विभाग का एक निरीक्षक गिरफ्तार

बुलंदशहर पुलिस ने एक बड़ी कार्रवाई करते हुए जिले के आबकारी विभाग के एक निरीक्षक तथा दो सिपाहियों को अवैध मिलावटी शराब की बिक्री के मामले में गिरफ्तार किया है। साथ ही इन तीनों पर 3 लाख रुपये की रिश्वत लेने का आरोप लगा है। बुलंदशहर में जहरीली शराब पीने से 6 लोगों की मौत के बाद जिला प्रशासन अवैध और मिलावटी शराब बनाने तथा बेचने वालों पर शिकंजा कसता जा रहा है। इस कड़ी में आबकारी विभाग के एक निरीक्षक और दो सिपाहियों की गिरफ्तारी बड़ी कार्रवाई मानी जा रही है। 

पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है और पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि इनके साथ और कौन लोग इस गोरखधंधे में शामिल हैं। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह ने शनिवार को इस बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि हापुड़ पुलिस की सूचना के आधार पर अनूप शहर  थाना पुलिस ने 21 जनवरी को थाना क्षेत्र के एक धर्मशाला में छापा मारकर मिलावटी शराब बनाने की फैक्ट्री का  भंडाफोड़ किया था।  पुलिस ने मौके से मिस इंडिया ब्रांड की शराब की 21 पेटी बरामद किया था। मौके से पुलिस ने विमल राघव नाम के अभियुक्त को गिरफ्तार किया था। 

पुलिस ने विमल राघव से पूछताछ की तो मामले में आबकारी विभाग की संलिप्तता उजागर हुई। विमल ने बताया कि शराब कारखाना गांव का शराब कारोबारी ब्रह्मपाल चलाता है। विमल ने पुलिस को  बताया कि 8 जनवरी को वह मिस इंडिया ब्रांड की शराब की 8 पेटी लेकर कार  से बुलंदशहर  आ रहा था। इसी दौरान रास्ते में आबकारी विभाग के निरीक्षक सुरेश चौहान, आरक्षी खेम सिंह और अनुज ने कार को रोक लिया। कार से बरामद 8 पेटी शराब को  आबकारी निरीक्षक ने अपने पास रख लिया। उन्होंने कॉल कर  ब्रह्मपाल को इस बारे में जानकारी दी। उन्होंने ब्रह्मपाल को बुलंदशहर बुलाया। इसी बीच आबकारी  निरीक्षक ने लाइसेंसी ठेकेदार ब्रह्मपाल से रिश्वत के नाम पर तीन लाख रुपये वसूले। 

इसके बाद उन्होंने विमल को कार समेत छोड़ दिया। विमल राघव से मिले इनपुट्स के आधार पर पुलिस ने मामले की जांच  शुरू की।  इलेक्ट्रॉनिक सर्विलांस के जरिए विमल की दी हुई जानकारी सही पाई गई। इसके बाद पुलिस ने छापा मारकर आबकारी निरीक्षक सुरेश चौहान के पास से 8 पेटी शराब  बरामद की। आबकारी निरीक्षक सुरेश चौहान, आरक्षी खेम  सिंह और आरक्षी अनुज के खिलाफ कोतवाली नगर में आबकारी अधिनियम की धारा 60 ए और, भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा 7 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। पुलिस इनके खिलाफ आगे की कार्रवाई कर रही है।

अन्य खबरे

Copyright © 2019-2020 Tricity. All Rights Reserved.