एयर शो के मौके पर विवाद, भगवंत मान का ना आना बड़ा मुद्दा, पंजाब के मुख्यमंत्री और राज्यपाल आमने-सामने

Chandigarh : एयर शो के मौके पर विवाद, भगवंत मान का ना आना बड़ा मुद्दा, पंजाब के मुख्यमंत्री और राज्यपाल आमने-सामने

एयर शो के मौके पर विवाद, भगवंत मान का ना आना बड़ा मुद्दा, पंजाब के मुख्यमंत्री और राज्यपाल आमने-सामने

Google Image | वायु सेना दिवस पर एयर शो का आयोजन

एयर शो के मौके पर विवाद, भगवंत मान का ना आना बड़ा मुद्दा, पंजाब के मुख्यमंत्री और राज्यपाल आमने-सामने Chandigarh : चंडीगढ़ में शनिवार को वायु सेना दिवस पर सुखना लेक पर एयर शो का आयोजन किया गया था। इस कार्यक्रम के दौरान राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू  मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थीं। चंडीगढ़ में पहली बार वायु सेना दिवस के मौके पर एयर शो का आयोजन किया गया था। गाजियाबाद के हिंडन बेस से बाहर वायुसेना का शौर्य पूरे देश ने देखा। हालांकि, इस भव्य आयोजन के बेहतरीन एयर शो के दौरान पंजाब और हरियाणा के दो नए विवाद भी खड़े हो गए।

एयर शो में बड़ा मुद्दा
शनिवार को वायु सेना दिवस के अवसर पर चंडीगढ़ में हुए इस आयोजन के दौरान दो नए विवादों ने जन्म ले लिया। एक तरफ इस आयोजन में पंजाब के सीएम भगवंत मान का न आना मुद्दा बन गया, वहीं हरियाणा के राज्यपाल के बैठने की व्यवस्था पर विवाद हो गया है। जहां एक तरफ बेहतरीन एयर शो के प्रसारण से लोग प्रसन्न थे, वहीं राष्ट्रपति के कार्यक्रम के दौरान हरियाणा के राज्यपाल की अनदेखी से हरियाणा सरकार खफा हो गया। चंडीगढ़ प्रशासन की यह बड़ी लापरवाही मुद्दा बन गई है। राष्ट्रपति सचिवालय की ओर से तय की गई व्यवस्था को ताक पर रखे जाने पर कड़ा ऐतराज जताया गया है। 

राष्ट्रपति सचिवालय के प्रोटोकाल में बदलाव
इस आयोजन के दौरान पंजाब के राज्यपाल को राष्ट्रपति के साथ बिठाया गया, वहीं हरियाणा के राज्यपाल को एयरफोर्स के अधिकारी और उनकी पत्नी के बाद बिठाया गया। राष्ट्रपति सचिवालय के प्रोटोकाल के मुताबिक राज्य के राज्यपाल को चौथे नंबर पर रखा गया है। जबकि पहले नंबर पर राष्ट्रपति, दूसरे नंबर पर उप राष्ट्रपति, तीसरे नंबर पर प्रधानमंत्री आते हैं। इस प्रोटोकाल में केंद्रीय मंत्री और राज्यों के मुख्यमंत्री को सातवें क्रमांक पर रखा गया है। राष्ट्रपति सचिवालय के प्रोटोकाल के मुताबिक राज्यपाल यदि राज्य से बाहर के हैं, तो भी उन्हें आठवे नंबर पर रखा गया है। इस लिस्ट के मुताबिक चीफ आफ स्टाफ को रखा गया है। 
 
नहीं पहुंचे पंजाब सीएम, राज्यपाल ने उठाया सवाल
भारत की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने शनिवार दोपहर में चंडीगढ़ के सुखना लेक पर आयोजित एयर शो देखा। उन्होंने शाम को राजभवन में सिविक रिसेप्शन में भी हिस्सा लिया। इस दौरान हरियाणा और पंजाब के राज्यपाल, केंद्रीय राज्यमंत्री, हरियाणा के मुख्यमंत्री समेत तमाम वीवीआईपी उपस्थित रहे, लेकिन सभी कार्यक्रमों से पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान अनुपस्थिति रही। इस पर पंजाब के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित ने सवाल उठाया है। पंजाब राजभवन में शाम छह बजे राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के सम्मान में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। 

पंजाब के मुख्यमंत्री और राज्यपाल आमने-सामने
एयर शो के इस आयोजन के दौरान मंच से पंजाब के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित ने कहा कि हरियाणा की तरफ से राष्ट्रपति का अभिनंदन करने के लिए हरियाणा के मुख्यमंत्री और राज्यपाल उपस्थित हैं, लेकिन पंजाब और चंडीगढ़ की तरफ से वह राष्ट्रपति का धन्यवाद करेंगे। इसके बाद उन्होंने कहा कि कार्यक्रम के लिए पंजाब के मुख्यमंत्री को भी न्योता दिया गया था। इस आमंत्रण को उन्होंने स्वीकार भी किया, लेकिन उनकी कोई मजबूरी होगी जिसकी वजह से वह नहीं आ पाए। हालांकि, कितना भी जरूरी काम हो राष्ट्रपति की मौजूदगी में उनका आना सांविधानिक जिम्मेदारी थी। बनवारीलाल पुरोहित जिस समय ये बातें कह रहे थे मंच पर राष्ट्रपति भी बैठी हुईं थीं। ऑडिटोरियम में पंजाब के कई मंत्री और विधायक भी बैठे हुए थे। राज्यपाल के इस बयान के बाद सियासी गलियारों में हलचल मच गई। विधानसभा सेशन के मुद्दे पर पहले भी पंजाब के मुख्यमंत्री और राज्यपाल आमने-सामने हो चुके हैं।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.