मैट्रिमोनियल साइट्स पर जीवन साथी चुनने की जल्दबाजी न करें, अभी तक सैकड़ों लड़कियां हुई शिकार

बड़ी खबर : मैट्रिमोनियल साइट्स पर जीवन साथी चुनने की जल्दबाजी न करें, अभी तक सैकड़ों लड़कियां हुई शिकार

मैट्रिमोनियल साइट्स पर जीवन साथी चुनने की जल्दबाजी न करें, अभी तक सैकड़ों लड़कियां हुई शिकार

Google Image | आरोपी गिरफ्तार

मैट्रिमोनियल साइट्स पर जीवन साथी चुनने की जल्दबाजी न करें, अभी तक सैकड़ों लड़कियां हुई शिकार Faridabad : आज के दौर में मैट्रिमोनियल साइट्स जरिए दोस्ती या शादी करना आम बात है लेकिन कुछ लोगों का आदत बन चुका ठग और फरेब करके पैसे कमाने का। इसी बीच एक बड़े खेल का पर्दाफाश किया गया है, जहां पता चला है कि हैंडसम लड़कों की फोटो लगाकर युवतियों संग मैट्रिमोनियल साइट्स पर दोस्ती और शादी का झांसा देकर ठगी का शिकार बनाने वाले दो नागरिकों को जो अफ्रीकी मूल से तालुकात रखते है, जिन्हें बल्लभगढ़ साइबर थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने दोनों ही आरोपियों को दो दिन के रिमांड पर लेकर पूछताछ की। जहां पूछताछ में पुलिस को कई अहम बातें पता चली हैं। जानकारी मुताबिक आरोपियों ने बताया कि किस तरह बीते दो  महीनों में दोनों ने मिलकर दर्जनभर युवतियों को अपने प्यार के झांसे में लूटा हैं।

अकाउंट में मिला 10 लाख से ज्यादा का ट्रांजेक्शन 
पुलिस जांच में सामने आया कि गिरफ्तार किए गए दोनों अफ्रीकी नागरिकों से बरामद हुए बैंक खाते में 10 लाख से अधिक का लेनदेन का मामला सामने आया है। वहीं पुलिस को आरोपियों के पास से लूट के दौरान इस्तेमाल किए गए दो मोबाइल, पांच एटीएम और 26 हजार नगद कैश बरामद हुए। इन सभी पैसों का हिसाब-किताब जुटाने में पुलिस जुट चुकी है और दूसरी ओर यह भी लगाया जा रहा है की इन दिनों आरोपियों ने किन किन शहरों की युवतियों को ठगी का शिकार बनाया है। इसके साथ ही आरोपियों के पास से बरामद हुए बैंक खातों के धारकों के बारे में भी पुलिस डिटेल जुटाने में लगी हुई है।

फर्जी दस्तावेजों के सहारे दिल्ली में रह रहे थे
पुलिस प्रशासन का कहना है कि गिरफ्तार किए गए नाईजिरियन नागरिक क्रिस्चियन न्वाबू उडेम्बा के पास से जो वीजा के दस्तावेज मिले हैं वो साफ तौर पर फर्जी है और उसका असली वीजा साल 2011 में ही समय अवधि समाप्त होने के कारण खतम हो चुकी थी। जिसके बाद से ही वो फर्जी दस्तावेजों के सहारे इंडिया में रह रहा था। वहीं गिरफ्तार दूसरा नागरिक कॉफी एंगे अफ्रीकी देश आइवरी कोस्ट का निवासी है। उसके पास कोई भी वीजा या दस्तावेज पुलिस को जांच के दौरान नहीं मिला। इसके अलावा पुलिस ने दोनों के बारे में जानने के लिए संबंधित एम्बेसी को पत्र भेजकर उनसे जानकारी देने की मांगी की है।

जानिए कैसे चल रहा था यह पूरा खेल
साइबर थाना बल्लभगढ़ एसएसओ नवीन कुमार ने बताया कि आरोपियों ने बल्लभगढ़ की रहने वाली एक युवती से 1.65 लाख की ठगी कर उससे लूटा था। पीड़िता ने बयान दिया कि कैसे उसकी मेट्रिमोनियल ऐप पर राकेश नाम के एक युवक से दोस्ती हुई, जिसने अपनी फेक प्रोफाइल आईडी बनाकर खुद को यूएसए के किसी हॉस्पिटल का डॉक्टर बताया था। वहीं आरोपी ने फेक प्रोफाइल आईडी में अपना नाम राकेश बता रखा था। दूसरी ओर आरोपी ने कुछ दिनों बाद उससे प्यार में उलझा कर पीड़िता को बताया कि वह 11 मई तक भारत आ जाएगा। जिसके बाद वह पीड़िता के साथ शादी करके वहीं उसके साथ भारत में ही रहेगा। इसके अलावा एसएसओ नवीन कुमार ने बताया कि ऐसा पहली बार नहीं हुआ है इससे पहले भी इन दोनों ने मिलकर सैकड़ों लड़कियों को ठगी का शिकार बनाया है।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.