कानून वापस नहीं हुए तो लखनऊ को बनाएंगें ठिकाना, कांग्रेस बोली- ‘जागो सरकार’

आंदोलनकारी किसानों का ऐलान: कानून वापस नहीं हुए तो लखनऊ को बनाएंगें ठिकाना, कांग्रेस बोली- ‘जागो सरकार’

कानून वापस नहीं हुए तो लखनऊ को बनाएंगें ठिकाना, कांग्रेस बोली- ‘जागो सरकार’

Social Media | ट्रैक्टर पर संसद पहुंचे राहुल गांधी

कानून वापस नहीं हुए तो लखनऊ को बनाएंगें ठिकाना, कांग्रेस बोली- ‘जागो सरकार’
  • हम उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, पंजाब और पूरे देश में घुमकर किसानों से अपनी बात रखेंगे
  • इस बारे में आगामी 5 सितंबर को मुजफ्फरनगर में बड़ी पंचायत होगी
  • अगर केंद्र सरकार ने 3 कानूनों को वापस नहीं लिया, तो लखनऊ को भी दिल्ली बनाया जाएगा
Uttar Pradesh: केंद्र सरकार के 3 नए कृषि सुधार कानूनों के खिलाफ पिछले 8 महीने से आंदोलन कर रहे संयुक्त मोर्चा के किसान संगठनों ने इसे धार देने की रणनीति बनाई है। खासतौर पर आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए उत्तर प्रदेश में प्रदर्शन को ज्यादा प्रभावी हथियार बनाया जाएगा। भारतीय किसान यूनियन (Bhartiya Kisan Union) के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) का कहना है कि जिस तरह राजधानी दिल्ली की सीमाओं को सील करना पड़ा है, ऐसे ही लखनऊ को भी सील करना पड़ेगा। हमारा अगला ठिकाना लखनऊ होगा। दूसरी तरफ कानूनों के खिलाफ कांग्रेस के नेता राहुल गांधी आज ट्रैक्टर चलाते हुए संसद पहुंचे। इस मौके पर उन्होंने भारत सरकार पर जमकर हमला बोला। 



यूपी-उत्तराखंड समेत पूरे देश में जाएंगे
मीडिया से बातचीत करते हुए भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष राकेश टिकैत ने कहा, ‘कृषि कानूनों के खिलाफ 8 महीने आंदोलन करने के बाद संयुक्त मोर्चा ने बड़ा फैसला किया है। हम उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, पंजाब और पूरे देश में घुमकर किसानों से अपनी बात रखेंगे। सरकार की नीति और कार्यों से अवगत कराएंगे। इस बारे में आगामी 5 सितंबर को मुजफ्फरनगर में बड़ी पंचायत होगी। पर इतना तय है कि अगर केंद्र सरकार ने 3 कानूनों को वापस नहीं लिया, तो लखनऊ को भी दिल्ली बनाया जाएगा। जिस तरह दिल्ली में चारों तरफ के रास्ते सील हैं, ऐसे ही वहां के सील होंगे। हम इसकी तैयारी करेंगे। भारी संख्या में किसान राजधानी लखनऊ में भी धरना देंगे।’

राहुल गांधी ट्रैक्टर पर पहुंचे
कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों के समर्थन में आज कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ट्रैक्टर चलाते हुए संसद पहुंचे। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को नए कृषि क़ानूनों को वापस लेना पड़ेगा। ये क़ानून 2-3 बड़े उद्योगपतियों के लिए हैं। ये किसानों के फायदे के लिए नहीं हैं। ये काले क़ानून हैं। मैं किसानों के संदेश को पार्लियामेंट तक लेकर आया हूं। पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ‘राहुल गांधी ने किसान की आवाज़ बुलंद करने के लिए ट्रैक्टर को संसद की पटल पर ले जाकर इस अहंकारी सरकार को झकझोरने का प्रयास किया है। हम इस सरकार को कहेंगे कि जागो। क्योंकि देश का किसान जग गया है। सरकार कुछ भी करे लेकिन ये आंदोलन जारी रहेगा।

पुलिस ने हिरासत में लिया
आज सीआरपीसी की धारा 144 का उल्लंघन कर ट्रैक्टर मार्च निकालने पर कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला, युवा कांग्रेस प्रमुख श्रीनिवास बीवी और कुछ पार्टी कार्यकर्ताओं को दिल्ली पुलिस ने हिरासत में लिया था। हिरासत से छूटने के बाद रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ‘ये जंग जारी रहेगी। यह जंग देश के अन्नदाता के अस्तित्व को बचाए रखने के लिए है। 7 घंटे उन्होंने जेल में रखा। आप 7 साल रखिए पर कानून वापस लीजिए। हमारी सिर्फ ये ही मांग है।' 

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.