ग्रेटर नोएडा बना विदेशी अपराधियों की ऐशगाह, जेपी ग्रीन्स से नाइजीरियाई नागरिकों के आधार कार्ड बनाने वाला गैंग गिरफ्तार

BIG BREAKING : ग्रेटर नोएडा बना विदेशी अपराधियों की ऐशगाह, जेपी ग्रीन्स से नाइजीरियाई नागरिकों के आधार कार्ड बनाने वाला गैंग गिरफ्तार

ग्रेटर नोएडा बना विदेशी अपराधियों की ऐशगाह, जेपी ग्रीन्स से नाइजीरियाई नागरिकों के आधार कार्ड बनाने वाला गैंग गिरफ्तार

Tricity Today | नाइजीरियन महिला कृष्टि उर्फ लारेन अपने साथी के साथ गिरफ्तार।

ग्रेटर नोएडा बना विदेशी अपराधियों की ऐशगाह, जेपी ग्रीन्स से नाइजीरियाई नागरिकों के आधार कार्ड बनाने वाला गैंग गिरफ्तार Faridabad | Greater Noida : ग्रेटर नोएडा शहर विदेशी अपराधियों का अड्डा बनता जा रहा है। चीनी घुसपैठियों का जासूसी कांड अभी ठंडा भी नहीं पड़ा, अब नाइजीरियाई नागरिकों के फर्जी आधार कार्ड बनाने वाला गैंग पकड़ा गया है। बड़ी बात यह है कि फरीदाबाद पुलिस ने ग्रेटर नोएडा शहर से एक विदेशी युवती को गिरफ्तार किया है। यह युवती दिल्ली और फरीदाबाद के युवकों के साथ मिलकर फर्जी दस्तावेजों पर अफ्रीकी मूल के नागरिकों के आधार कार्ड बनवा रही थी। इनके कब्जे से करीब 20 विदेशी नागरिकों के आधार कार्ड फरीदाबाद पुलिस ने जब्त किए हैं। दूसरी ओर ग्रेटर नोएडा पुलिस का कहना है कि उन्हें इस गिरफ़्तारी और गैंग के बारे में कोई जानकारी नहीं है।

फरीदाबाद क्राइम ब्रांच ने किया बड़ा खुलासा
फरीदाबाद के डीसीपी क्राइम नरेंद्र कादयान के आदेश पर क्राइम ब्रांच ने जांच शुरू की। नाइजीरियन व्यक्तियों के फर्जी तरीके से आधार कार्ड बनाने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया है। फर्जी आधार कार्ड बनवाने वाले युवक राहुल, एमएलए की फर्जी मोहरें बनवाने वाले युवक संजय और नाईजीरियाई लोगों के फर्जी आधार कार्ड बनवाने वाली युवती को गिरफ्तार करके जेल भेजा है। फरीदाबाद पुलिस के प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपियों में राहुल और संजय का नाम शामिल हैं। संजय दिल्ली के सरिता विहार का रहने वाला है। जिसकी नेहरू प्लेस में मोहर बनाने की दुकान है। राहुल रोहतक के गांव कांधला का रहने वाला है और बड़खल तहसील में पिछले एक वर्ष से आधार कार्ड बनाने का प्राइवेट तौर पर काम कर रहा था। उसने बीपीटीपी एरिया की बिहारी मार्केट में आधार कार्ड बनवाने का सीएचसी सेंटर खोला है।

राहुल से मिली नाइजीरियाई युवती
पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि राहुल से नाईजीरियन महिला क्रिस्टी लारेन मिली। उसने अपने नाइजीरियन दोस्तों के लिए आधार कार्ड बनवाने के लिए सम्पर्क किया था। राहुल को गिरफ्तार किया गया। उसने पूछताछ में बताया कि वह एक साल से बड़खल तहसील में आधार कार्ड बनाने का कार्य करता है। इसी दौरान करीब एक माह पहले क्रिस्टी से मुलाकात हुई। जिसने कहा कि वह अपने जानकारों के आधार कार्ड बनवाना चाहती है, लेकिन उसके पास उनकी कोई आईडी नहीं है। अगर उनकी आईडी बना देंगे तो ढाई हजार रुपए एक आधार कार्ड के दूंगी। राहुल ने नेहरु प्लेस में मोहर बनाने वाले संजय से सम्पर्क किया। दुकान पर जाकर ज्यादा पैसे देकर एमएलए नीरज शर्मा के नाम की मोहर बनवाई। इसी तरह फर्जी तरीके से करीब 17-18 आधार कार्ड बनाए गए।

नोएडा से एलएलएम कर रही है युवती
राहुल से की गई पूछताछ के आधार पर विधायक नीरज शर्मा की मोहर बनवाने वाले आरोपी संजय कुमार को गिरफ्तार किया गया। संजय पुत्र परशुराम दिल्ली में मदनपुर खादर का रहने वाला है। जिससे  मोहर बनाने की मशीन बरामद की गई है। जिसको अदालत पेश करके नीमका जेल भेजा जा चुका है। फरीदाबाद पुलिस के प्रवक्ता ने बताया कि दिनांक 24 जुलाई को नाइजीरियन महिला क्रिस्टी लारेन को ग्रेटर नोएडा में उसके घर से गिरफ्तार किया गया है। क्रिस्टी मूल रूप से लेगस ई/-24 ग्रिनलैण्ड स्टेट नाईजीरिया की रहने वाली है। अभी ग्रेटर नोएडा में जेपी ग्रीन्स के मूनकोर्ट टावर फ्लैट नंबर एमसी-150 में रहती थी। क्रिस्टी को अदालत में पेश करके पुलिस रिमांड लिया गया। नाईजीरियन महिला फिलहाल नोएडा से एलएलएम की पढ़ाई कर रही है। जिसने आरोपी राहुल से कई नाईजीरियन का आधार कार्ड बनवाया है। नाईजीरियन नागरिकों को आरोपी राहुल के पास आधार कार्ड बनवाने के लिए भेजती रही है।

एक फर्जी आधार कार्ड बनाने के 6,000 रुपये
राहुल और नाईजीरियन महिला को पुलिस रिमाण्ड लिया गया था। दोनों को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ की गई। रिमाण्ड के दौरान राहुल ने बताया कि उसको एक फर्जी आधार कार्ड बनाने के 6,000 रुपये मिलते थे और उसने करीब 17-18 नाइजीरियन व्यक्तियों के आधार कार्ड बनाए हैं। आरोपी राहुल के कब्जे से नीरज शर्मा एमएलए की एक गोल मोहर, लैपटॉप, चार्जर, प्रिंटर-1005, बायोमेट्रिक मशीन, आइरिश मशीन, कैमरा लोजिटिक और मोहर बनाने की मशीन बरामद की गई है। आरोपी के खिलाफ पुलिस थाना बीपीटीपी में धोखाधड़ी और फर्जी कागजात तैयार करने की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया था।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.