गुर्जर स्वाभिमान समिति के अध्यक्ष अनंतराम तंवर ने पद से इस्तीफा दिया, बताई ये वजह

BREAKING : गुर्जर स्वाभिमान समिति के अध्यक्ष अनंतराम तंवर ने पद से इस्तीफा दिया, बताई ये वजह

गुर्जर स्वाभिमान समिति के अध्यक्ष अनंतराम तंवर ने पद से इस्तीफा दिया, बताई ये वजह

Google Image | गुर्जर स्वाभिमान समिति के अध्यक्ष अनंतराम तंवर ने पद से इस्तीफा दिया

गुर्जर स्वाभिमान समिति के अध्यक्ष अनंतराम तंवर ने पद से इस्तीफा दिया, बताई ये वजह Delhi-NCR : गुर्जर समाज के हितों की रक्षा के लिए गठित राष्ट्रीय गुर्जर स्वाभिमान समिति के अध्यक्ष अनंतराम तंवर ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने इसकी बड़ी वजह बताई है। हाल ही में ग्रेटर नोएडा के दादरी में सम्राट मिहिर भोज के शिलापट्ट पर गुर्जर शब्द लिखने -मिटाने से शुरू हुए विवाद के बाद गुर्जर समुदाय ने बड़ा प्रदर्शन किया था। पुलिस ने 200 से ज्यादा लोगों को हिरासत में लेकर पुलिस लाइन में रखा था। वहीं 151 सदस्यों वाली राष्ट्रीय गुर्जर स्वाभिमान समिति का गठन किया गया था।अनंतराम तंवर को उसका अध्यक्ष बनाया गया। उन्हें गुर्जर समाज के हित और स्वाभिमान की रक्षा की जिम्मेदारी सौंपी गई थी।

अपने इस्तीफे में उन्होंने कहा है, मुझे राष्ट्रीय गुर्जर स्वाभिमान समिति का अध्यक्ष बनाया गया था। मैं पहले से ही राष्ट्रीय गुर्जर समन्वय समिति का अध्यक्ष हूं। इस संस्था के काम के लिए मुझे पूरे देश में जाना पड़ता है। मैंने पहले भी मीटिंग में कई बार समाज के लोगों और सरदारों से अपील की कि मैं दोनों संस्था को समय नहीं दे पाऊंगा। दादरी में गुर्जर सम्राट मिहिर भोज की मूर्ति से यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुर्जर शब्द हटवाया है। इसका पूरे देश के गुर्जर समाज में रोष है। मगर इस लड़ाई को लड़ने के लिए किसी और को अध्यक्ष बनाया जाए। मैं राष्ट्रीय गुर्जर स्वाभिमान समिति के अध्यक्ष पद से हट रहा हूं। मगर मैं इस समिति का सदस्य रहूंगा। हालांकि सदस्य के तौर पर मैं अपनी क्षमता अनुसार समाज हित के लिए काम करता रहूंगा।

उन्होंने आगे कहा कि 31 अक्टूबर को दादरी में प्रस्तावित महापंचायत को सफल बनाने के लिए गुरुग्राम के सेक्टर 57 में स्थित तिघरा गांव में 24 अक्टूबर, रविवार को मीटिंग बुलाई गई है। सभी सरदारों से अनुरोध है कि वह इस बैठक में जरूर पहुंचे। ताकि दादरी की महापंचायत के लिए रणनीति बनाई जा सके।

उनके इस्तीफे पर गुर्जर स्वाभिमान समिति के कोर मेंबर राजकुमार भाटी ने बताया,  इसी महीने 11 अक्टूबर को समिति के कोर मेंबर की एक बैठक हुई थी। इसमें उनके साथ अध्यक्ष अनंतराम तंवर, नेपाल कसाना सहित 12 सदस्य शामिल थे। इस दौरान फैसला लिया गया कि राजनीतिक दलों से जुड़े लोगों को समिति से बाहर रखा जाए। शायद इसी वजह से अनंतराम तंवर ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने का फैसला लिया है। कोर कमेटी ने माना कि पॉलीटिकल लोगों के होने से समुदाय की लड़ाई को राजनीतिक बना दिया जाएगा और यह कमजोर पड़ जाएगी। 

सपा के प्रवक्ता राजकुमार भाटी ने ट्राइसिटी टुडे से बातचीत में कहा, गुर्जर समुदाय का सदस्य होने के नाते हम सभी इस समाज के हित और स्वाभिमान की लड़ाई लड़ते रहेंगे। लेकिन स्वाभिमान समिति में नए और सामाजिक सरोकारों से जुड़े युवाओं को मौका दिया जाएगा। उनकी अगुवाई में यह समिति गुर्जर हित के लिए देशभर में काम करेगी। दादरी में सम्राट मिहिर भोज की प्रतिमा के आगे गुर्जर शब्द लिखवा दिया गया है। हम इससे संतुष्ट हैं। हमारी मांग है कि इस पूरे मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और भारतीय जनता पार्टी माफी मांगे। उन्होंने गुर्जर समुदाय की भावनाओं को आहत किया है। इसलिए सिर्फ नाम लिखवाना काफी नहीं है।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.