अब पुराने वाहनों को कर सकेंगे इलेक्ट्रिक वाहन में तब्दील, दिल्ली सरकार ने बनाया यह बड़ा प्लान

अच्छी खबर : अब पुराने वाहनों को कर सकेंगे इलेक्ट्रिक वाहन में तब्दील, दिल्ली सरकार ने बनाया यह बड़ा प्लान

अब पुराने वाहनों को कर सकेंगे इलेक्ट्रिक वाहन में तब्दील, दिल्ली सरकार ने बनाया यह बड़ा प्लान

Google Image | Now old vehicles can be converted into electric vehicles

अब पुराने वाहनों को कर सकेंगे इलेक्ट्रिक वाहन में तब्दील, दिल्ली सरकार ने बनाया यह बड़ा प्लान Delhi : दिल्ली सरकार ने एक बड़ी योजना तैयार की है। अब जल्द ही अपने पुराने डीजल और पेट्रोल चालित वाहनों को इलेक्ट्रिक वाहन में बदलवा सकेंगे। इलेक्ट्रिक वाहनों (ईवी) रेट्रो फिटमेंट सेवा को दिल्ली सरकार फेसलेस करने जा रही हैं। इसके बाद दिल्ली देश में इस सेवा को फेसलेस करने वाला पहले प्रदेश बन जाएगा। इस स्कीम से पुराने वाहन मालिकों को अपने वाहनों को इलेक्ट्रिक में बदलने का मौका मिलेगा।

अब कर सकेंगे रेट्रो फिटमेंट का इस्तेमाल 
सरकार ने पहले ही पेट्रोल और डीजल वाहन मालिकों को रेट्रो फिटमेंट का इस्तेमाल कर वाहनों को ईवी में बदलने की अनुमति दे दी है। जिसके लिए आदेश भी जारी कर दिए हैं। ग्राहकों और एजेंसियों को इस सेवा के तहत एक प्लेटफार्म मुहैया करने के लिए पोर्टल की सुविधा शुरू की जा चुकी हैं। 

कैलाश गहलोत ने कहा जल्द ही उठा पाएंगे इस सेवा का लाभ 
डीजल वाहनों में इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) किट के रेट्रोफिटमेंट के लिए इस सेवा को वाहन पोर्टल में ऑनलाइन किया गया हैं। यह सेवा उनके लिए लाभदायक है जिनके 10 साल से पुराने डीजल वाहन और 15 साल पुराने पेट्रोल वाहन हैं। यह सेवा ऐसे वाहनों को सड़कों पर चलाने में सक्षम बनाएगी, 
जिन्हें एनजीटी के आदेशों का हवाला देते हुए प्रतिबंधित कर दिया गया हैं। परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा कि दिल्लीवासी जल्द ही अपने वाहनों को अपने घरों में आराम से ईवी में परिवर्तित करवा सकेंगे। दिल्ली में इलेक्ट्रिक मोबिलिटी को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने यह कदम उठाएं हैं।

कैसे उठा सकते है सेवा के लाभ 
  1. डीजल चालित वाहनों में ईवी किट के रेट्रो फिटमेंट के लिए माड्यूल को वाहन पोर्टल में आनलाइन किया गया है।
  2. डीजल चालित कार में ईवी किट की स्थापना के लिए सरकार द्वारा अधिकृत रेट्रो फिटमेंट सेंटर पर जाएं।
  3. आरएफसी डीजल कार में स्थापित ईवी किट की जानकारी वाहन पोर्टल पर अपलोड करेगा।
  4. इसे संबंधित क्षेत्र के क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय (आरटीओ) के अधिकारी द्वारा सत्यापित किया जाएगा।
  5. वाहन में बदलाव के लिए आनलाइन आवेदन करना होगा, जिसके बाद जरूरी दस्तावेज अपलोड कर आवश्यक शुल्क का भुगतान करना होगा।

अन्य खबरे