इंदिरापुरम की गलियों में नहीं खेल सकेंगे बच्चे और कार पार्किंग भी नहीं होगी, जानिए वजह

गाजियाबाद : इंदिरापुरम की गलियों में नहीं खेल सकेंगे बच्चे और कार पार्किंग भी नहीं होगी, जानिए वजह

इंदिरापुरम की गलियों में नहीं खेल सकेंगे बच्चे और कार पार्किंग भी नहीं होगी, जानिए वजह

Google Image | सुपरिटेंडेंट इंजीनियर को सौंपा ज्ञापन

इंदिरापुरम की गलियों में नहीं खेल सकेंगे बच्चे और कार पार्किंग भी नहीं होगी, जानिए वजह Ghaziabad : बिजली विभाग की लापरवाही और मनमानी के खिलाफ बिल्डर्स वेलफेयर एसोसिएशन के बैनर तले व्यापारियों ने बिजली विभाग के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। विद्युत् वितरण खण्ड-8 के सुपरिटेंडेंट इंजीनियर को इंदिरापुरम में समस्याओं से संबंधित ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में अध्यक्ष राजीव शर्मा और महासचिव मनोज गोयल ने लिखा कि इंदिरापुरम सहित अन्य आवासीय कॉलोनियों में विद्युत विभाग 50 केवीए से कम बिजली के लोड पर ट्रांसफार्मर लगा रह है। यह नियमों के खिलाफ है। 

'सबकुछ जानकार अंजान बना हुआ है विद्युत विभाग'
इंदिरापुरम की एक गली में लगभग 25 भूखण्ड हैं और पार्किंग की सुविधा का आभाव है। ऐसे में यदि प्रत्येक भूखण्ड के सामने ट्रांसफार्मर लग जाएंगे तो इतनी छोटी रोड पर कारें कैसे पार्क होंगी। दरअसल, यहां ज्यादातर लोग गलियों में अपने घरों के सामने दोनों ओर वाहन पार्क करते हैं। हर घर के सामने ट्रांसफार्मर लगने से जगह बिल्कुल नहीं बचेगी। मनोज गोयल ने बताया कि सोसायटी के बच्चे सड़कों पर खेलते हैं। अगर कोई ट्रांसफार्मर फट जाता है तो बड़ा हादसा हो सकता है। इसकी जवाबदेही किसकी होगी? विद्युत विभाग सबकुछ जानकार अंजान बना हुआ है। उसे किसी बड़े हादसे का इंतजार है।

गलियों में सीवर और पानी की पाइप लाइन हैं
निवासियों ने आगे कहा, "सड़क के दोनों तरफ पानी और सीवर की लाइन हैं। ऐसे में विभाग जब प्रत्येक भूखण्ड पर ट्रांसफार्मर के लिए दोहरी केबल डालेगा तो सड़क के पास जगह बिल्कुल नहीं बचेगी। पूर्व में भी ट्रांसफार्मर की स्कीम पास होती रही है। यह जरूरी है कि इंदिरापुरम की सुंदरता बनी रहे। अब विद्युत विभाग की लापरवाही के चलते स्थिति भयावह बनी हुई है। इंदिरापुरम की सुंदरता को बिगाड़ने में विद्युत विभाग कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहा है।"

जहां दोनों तरफ ग्रीन बेल्ट हैं, वहां लगें ट्रांसफार्मर
उन्होंने कहा कि जिस प्लॉट पर बिजली का लोड 50 केवीए से ज्यादा है और गली के बाहर दोनों तरफ ग्रीन बेल्ट है, वहां ट्रांसफार्मर लगाए जाएं। जिसका भुगतान भूखण्ड मालिक कर सकते हैं। इससे विभाग में रजिस्टर्ड ठेकेदारों से भूखण्ड स्वामियों को अनैतिक कामों से मुक्ति मिल जाएगी। कॉलोनियों के मासूम बच्चों को खेलने की जगह मिल सकेगी। साथ ही दुर्घटनाओं पर भी रोक लगेगी।

इस दौरान सुरेन्द्र कुमार अरोड़ा, विनित महेश्वरी, संजय शर्मा, तारा चंद सरस्वती, प्रेम पाल सिंह, प्रमोद डागर, राकेश कुमार, अनुराग गोयल, भूपसिंह पाल समेत बड़ी संख्या में लोग उपस्थित रहे।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.