राहतः गाजियाबाद के अस्पतालों को कड़ी चेतावनी, खुद करें ऑक्सीजन का इंतजाम, नहीं तो होगी सख्त कार्रवाई

गाजियाबाद के अस्पतालों को कड़ी चेतावनी, खुद करें ऑक्सीजन का इंतजाम, नहीं तो होगी सख्त कार्रवाई

Tricity Today | ऑक्सीजन के लिए परेशान परिजन

गाजियाबाद प्रशासन ने कोविड अस्पतालों की आदत सुधारने के लिए बड़ा फैसला लिया है। अब अगर मरीज अस्पताल में भर्ती है, तो ऑक्सीजन के लिए परिजन को परेशान होने की जरूरत नहीं है। ऑक्सीजन आपूर्ति के लिए जिले में नोडल अधिकारी बनाए गए नगर आयुक्त ने लोगों से अपील की है कि अगर कोई अस्पताल प्रबंधन भर्ती मरीज के लिए ऑक्सीजन लाने का दबाव बनाकर दौड़ा रहा है तो उसके खिलाफ कंट्रोल रूम में शिकायत करें। ऐसे अस्पताल के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। 

अस्पतालों में भर्ती मरीज के लिए ऑक्सीजन का इंतजाम करने की जिम्मेदारी हॉस्पिटल की है। वहां समय पर ऑक्सीजन पहुंचे, इसके लिए जिला प्रशासन के अधिकारियों की ड्यूटी लगाई है। प्रत्येक अस्पताल में ऑक्सीजन पहुंचाई जा रही है। हॉस्पिटल की तरफ से कहा जा रहा था कि अस्पताल में भर्ती मरीज को ऑक्सीजन नहीं दे सकते हैं। आप मरीज के तीमारदार हैं, खुद ऑक्सीजन लेकर आइए। इस तरह का दबाव कई कोविड अस्पताल प्रबंधन परिजनों पर बना रहे थे। मरीज की जान बच सके, इसके लिए तीमारदार सिलेंडर का इंतजाम करने से ऑक्सीजन भरवाने के लिए दौड़ते हैं। 

ऐसे में लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। कई बार ऑक्सीजन ब्लैक में भी खरीदनी पड़ती है। लोग ठगी का भी शिकार हो रहे हैं। जिले में अस्पतालों में भर्ती मरीज के लिए अगर रेमडेसिविर इंजेक्शन, ऑक्सीजन खत्म होने की बात कहकर कोई आपको दौड़ाए तो आप इसकी जानकारी एकीकृत कोविड कमांड एवं कंट्रोल सेंटर के नंबर 0120- 2829040, 2965799, 2965758, 2965798, 2965757 या व्हॉट्सअप नंबर 8826797248 पर कर सकते हैं। दरअसल अस्पतालों द्वारा मरीजों के तीमारदारों को ऑक्सीजन के लिए दौड़ाने से व्यवस्था बिगड़ रही है।

लोहा मंडी के पास स्थित मैसर्स तारणहार गैसेज प्लांट पर होम आइसोलेशन के मरीजों के लिए ऑक्सीजन लेने पहुंचे लोगों के साथ अस्पतालों में भर्ती तीमारदार के लोग भी पहुंच रहे हैं। ऐसे में वहां भीड़ जमा हो जाती है। ऑक्सीजन न मिलने पर लोगों को जिले के बाहर दिल्ली, नोएडा, मुजफ्फरनगर तक चक्कर काटना पड़ रहा है। नगर आयुक्त महेंन्द्र सिंह तंवर ने कहा अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति सुनिश्चित करवाई जा रही है। इसका रिकॉर्ड भी रखा जा रहा है। अस्पताल प्रबंधकों को सीएमओ के माध्यम से निर्देश दिए गए हैं कि वे मरीजों के तीमारदारों पर बाहर से ऑक्सीजन लाने का दबाव न बनाएं। अगर ऐसा किया जा रहा है तो लोग शिकायत करें। शिकायत की जांच कर संबंधित के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
p;

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.