भाई की जमानत के लिए डेढ़ सालों से कर रही थी भाग-दौड़, बाहर आते ही लगा ली फांसी

बिहार की युवती का शव गाजियाबाद के होटल में लटका मिला : भाई की जमानत के लिए डेढ़ सालों से कर रही थी भाग-दौड़, बाहर आते ही लगा ली फांसी

भाई की जमानत के लिए डेढ़ सालों से कर रही थी भाग-दौड़, बाहर आते ही लगा ली फांसी

Google Image | Symbolic Image

Ghaziabad : उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले में एक 27 वर्षीय युवती की लाश एक होटल में फांसी पर लटकी हुई मिली है। सूचना मिलने के बाद गाजियाबाद पुलिस टीम मौके पर पहुंची और युवती के शव को कब्जे में लेकर अस्पताल में ले जाया गया, लेकिन अस्पताल के डॉक्टरों ने युवती को मृत घोषित कर दिया। इस मामले के बाद गाजियाबाद पुलिस उलझी हुई है। 

अभी तक परिजनों ने नहीं दी कोई शिकायत
दरअसल, युवती अपने बड़े भाई की जमानत करवाने के लिए बिहार से गाजियाबाद आई थी। भाई की जमानत होने के बावजूद भी युवती की उसी होटल के कमरे में लाश लटकी हुई मिली, जिसमें वह रुकी हुई थी। इस मामले में पुलिस उलझी हुई है। पुलिस का कहना है कि बहुत ही जल्द मामले का खुलासा किया जाएगा। खबर लिखे जाने तक पीड़ित परिवार ने कोई भी शिकायत गाजियाबाद पुलिस को नहीं दी है। फिलहाल पुलिस अपने स्तर पर जांच कर रही है। 

वर्ष 2020 से भाई डासना जेल में बंद
गाजियाबाद के पुलिस अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि 27 साल की सरिता कुमारी बिहार के मोतिहारी जिले की रहने वाली थी। उसका भाई गाजियाबाद की डासना जेल में बंद था। सरिता कुमारी का भाई चंदन वर्ष 2020 से गाजियाबाद की डासना जेल में बंद था। बीते 19 जनवरी को हाईकोर्ट से चंदन को जमानत मिल गई थी। अपने भाई की जमानत के लिए सरिता काफी समय से भाग दौड़ कर रही थी। जिसके 19 जनवरी 2023 को सरिता की मेहनत से चंदन को जमानत मिल गई थी।

होटल में रुक कर करवा रही थी जमानत की कार्यवाही
गाजियाबाद पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार जमानत मिलने से पहले सरिता अपने भाई चंदन से मिलने डासना जेल की गई थी। वह फिलहाल गाजियाबाद के नंद ग्राम थाना क्षेत्र में स्थित एक होटल में रुक कर अपने भाई की जमानत के लिए कार्यवाही करवा रही थी।

शुक्रवार की देर शाम को फांसी पर लटका मिला शव
मिली जानकारी के मुताबिक जिस होटल में सरिता रुकी हुई थी। उसी होटल में शुक्रवार की देर रात को सरिता का शव लटका हुआ फांसी पर मिला। पता चला है कि होटल मैनेजमेंट ने शुक्रवार की शाम को सरिता के रूम का दरवाजा खटखटाया था, लेकिन काफी समय तक प्रतिक्रिया नहीं मिलने के बाद गाजियाबाद पुलिस को मामले की जानकारी दी गई। 

कोई सुसाइड नोट नहीं मिला
नंद ग्राम कोतवाली पुलिस टीम मौके पर पहुंची और युवती के रूम का दरवाजा तोड़कर अंदर घुसे। अंदर जाकर देखा तो युवती की लाश फांसी पर लटकी हुई थी। पुलिस ने लड़की के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मौके से कोई भी सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है। 

सरिता कुमारी के मामले में उलझी गाजियाबाद पुलिस
अब पुलिस इस मामले में उलझी हुई है कि लंबी लड़ाई के बाद सरिता ने अपने भाई को जमानत दिलवा तो दी, लेकिन उसके बावजूद भी आखिरकार क्यों फांसी पर लटक गई? पुलिस ने प्राथमिक जांच में इसको आत्महत्या बताया है, लेकिन उसके बावजूद भी नंद ग्राम कोतवाली पुलिस अधिकारियों के आदेशों पर अपने स्तर पर आगे की कार्रवाई कर रही है।

Copyright © 2022 - 2023 Tricity. All Rights Reserved.