भरे बाजार दिनदहाड़े गोली मारी, तीन महीने पहले भाई को मारा था

लोनी में फिर हत्या : भरे बाजार दिनदहाड़े गोली मारी, तीन महीने पहले भाई को मारा था

भरे बाजार दिनदहाड़े गोली मारी, तीन महीने पहले भाई को मारा था

Tricity Today | मौके पर भीड़

भरे बाजार दिनदहाड़े गोली मारी, तीन महीने पहले भाई को मारा था Murder in Ghaziabad : गाजियाबाद की लोनी कोतवाली क्षेत्र में हत्याओं का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। शुक्रवार की दोपहर लोनी कोतवाली की चिरौडी मंडी में मास्टर मेडिकल स्टोर के सामने बाइक सवार बदमाशों ने एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर दी है। इस व्यक्ति की सुरेंद्र के रूप में हुई है। करीब तीन महीने पहले सुरेंद्र के भाई जोनी की भी हत्या कर दी गई थी। इस हत्याकांड से पूरे इलाके में सनसनी फ़ैल गई है। सूचना मिलने पर पुलिस मौके ओर पहुंच गई है। हमलावर वारदात को अंजाम देकर फरार हो गए हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक सुरेंद्र पड़ोसी गांव सिरोली के रहने वाले थे। जमीनी विवाद हत्या की वजह बताई जा रही है। ग्रामीणों का कहना है कि सौतेले भाइयों जमीन को लेकर विवाद चल रहा है। इसी के चलते 3 महीने पहले सुरेंद्र के भाई जॉनी की भी हत्या हुई थी। लोनी के चिरोड़ी कस्बे में यह वारदात शुक्रवार को करीब 11:00 बजे हुई है। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि मोटरसाइकिल सवार दो बदमाशों ने सुरेंद्र को सिर में गोली मारी। सुरेंद्र (52 वर्ष) पुत्र किशनलाल की हत्या कर दी। गोली लगने के बाद वह सड़क पर फिर पड़ा। गोली की आवाज सुनकर लोगों ने उस और देखा। हमलावर बाइक से फरार हो गए।

तीन महीने पहले छोटे भाई को मारा था
गांव वालों ने बताया कि करीब 3 महीने पूर्व सुरेंद्र के छोटे भाई जैनेंद्र उर्फ जैनी की हत्या हो चुकी है। जैनेंद्र की हत्या का मुख्य आरोपी अभी फरार चल रहा है। उसे लोनी कोतवाली की पुलिस अब तक पकड़ नहीं पाई है। जैनेन्द्र और सुरेंद्र का अपने सौतेले भाई के बेटे से जमीन के बंटवारे को लेकर विवाद चल रहा है। जैनेंद्र की हत्या के समय हत्यारोपी ने सुरेंद्र की भी हत्या करने की चेतावनी दी थी, लेकिन पुलिस सुरेंद्र को नहीं बचा पाई। हत्यारोपी ने दिनदहाड़े भरे बाजार सुरेंद्र की हत्या कर दी है।

भीड़ ने किया हंगामा, लाश नहीं उठने दी
इस वारदात के काफी देर बाद पुलिस मौके पर पहुंची। इस दौरान सिरौली गांव से सैकड़ों लोगों की भीड़ मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने शव उठाने की कोशिश की। भीड़ ने शव नहीं उठाने दिया। लोगों ने पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। लोगों ने कहा कि तीन महीने पहले सुरेंद्र के भाई जैनेंद्र की हत्या कर दी गई थी। अब तक हत्यारोपी की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है।

 

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.