ग्रेटर नोएडा वेस्ट की हर सड़क जगमगाएगी, प्राधिकरण खर्च करेगा 14 करोड़ रुपए, जानिए पूरा प्लान

अच्छी खबर : ग्रेटर नोएडा वेस्ट की हर सड़क जगमगाएगी, प्राधिकरण खर्च करेगा 14 करोड़ रुपए, जानिए पूरा प्लान

ग्रेटर नोएडा वेस्ट की हर सड़क जगमगाएगी, प्राधिकरण खर्च करेगा 14 करोड़ रुपए, जानिए पूरा प्लान

Tricity Today | ग्रेटर नोएडा वेस्ट की हर सड़क जगमगाएगी

ग्रेटर नोएडा वेस्ट की हर सड़क जगमगाएगी, प्राधिकरण खर्च करेगा 14 करोड़ रुपए, जानिए पूरा प्लान
  •  एलईडी स्ट्रीट लाइट लगाने के लिए टेंडर जारी
  • 2300 से अधिक स्ट्रीट लाइट और 2200 नए पोल लगेंगे
Greater Noida West News : ग्रेटर नोएडा वेस्ट के निवासियों को दफ्तर के बाद एक और तोहफा देने की तैयारी प्राधिकरण (Greater Noida Authority) ने शुरू कर दी है। प्राधिकरण ग्रेटर नोएडा वेस्ट में 2,300 और एलईडी स्ट्रीट लाइट लगवाने जा रहा है, जिस पर करीब 14 करोड़ रुपये खर्च होंगे। इसके लिए टेंडर जारी हो गए हैं। ग्रेटर नोएडा वेस्ट में करीब 200 बिल्डर सोसाइटियां, सेक्टर और गांव बसे हुए हैं। यहां की आबादी बहुत तेजी से बढ़ रही है। तमाम नए रास्ते भी बन रहे हैं। प्राधिकरण यहां के निवासियों के जरूरत की सभी सुविधाएं उपलब्ध कराने की दिशा में तेजी से बढ़ रहा है। 

2,306 एलई़डी स्ट्रीट लाइट लगेंगी
प्राधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषण के निर्देश पर ग्रेटर नोएडा में नए एसटीपी और प्राधिकरण का दफ्तर बनाने की प्रक्रिया पहले ही शुरू कर दी गई है। अब एलईडी स्ट्रीट लाइट पर भी जल्द काम शुरू होने जा रहा है। प्राधिकरण ग्रेटर नोएडा वेस्ट में अलग-अलग रास्तों पर 2,306 एलई़डी स्ट्रीट लाइट लगवाने जा रहा है। करीब 2,200 नए पोल भी लगेंगे। इन रास्तों पर स्ट्रीट लाइट लगवाने की मांग ग्रेटर नोएडा वेस्ट के निवासी कर रहे थे। स्ट्रीट लाइट लगाने के लिए ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के महाप्रबंधक (परियोजना) की तरफ से टेंडर जारी कर दिए गए हैं। इस कार्य के प्राधिकरण ने इच्छुक कंपनियों से आवेदन मांगे हैं। 

प्राधिकरण ने निकाले टेंडर
शुक्रवार से आवेदन शुरू हो गया है। 09 दिसंबर तक आवेदन की अंतिम तिथि है। 13 दिसंबर को प्री क्वालीफिकेशन बिड खुलेगी। उसके बाद फाइनेंशियल बिड होगी, जिसमें चयनित कंपनी एलईडी स्ट्रीट लाइट लगाएगी। वही कंपनी सात साल तक इसका संचालन व रखरखाव भी करेगी। अगर कोई लाइट खराब होती है तो वह कंपनी ही उसे बदलेगी। ये सभी एलईडी स्ट्रीट लाइटें होंगी। ये स्ट्रीट लाइटें रिमोट मॉनिटरिंग सिस्टम से संचालित होंगी। इनको जलाने-बुझाने का काम रिमोट से हो सकेगा। तय समय पर जलाई और बुझाई जाएंगी। इससे विद्युत ऊर्जा की भी बचत होगी। 

15 हजार स्ट्रीट लाइटें लगी हैं
बता दें कि ग्रेटर नोएडा वेस्ट में करीब 15 हजार स्ट्रीट लाइटें लगी हैं, जिनमें से अधिकतर एलईडी स्ट्रीट लाइटें हैं। महाप्रबंधक (परियोजना) एके अरोड़ा ने बताया कि टेंडर के जरिए चयनित कंपनी से एलईडी लाइट लगाने का काम शीघ्र शुरू करा दिया जाएगा। सभी स्ट्रीट लाइट बदलने व नए पोल लगाने में करीब छह माह लग जाएंगे।  

स्मार्ट एलईडी लाइट में तब्दील हो रहीं ग्रेटर नोएडा की सभी 54 स्ट्रीट लाइटें
ग्रेटर नोएडा में करीब 54 हजार स्ट्रीट लाइटें लगी हुई हैं। इन सभी को एलईडी लाइट में कनवर्ट किया जाएगा। इसके लिए ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने सूर्या रोशनी लिमिटेड को करीब 48 करोड़ रुपये में बीते 8 सितंबर को जिम्मा दे दिया है।कंपनी ने इस पर काम भी शुरू कर दिया है। एक साल में सभी स्ट्रीट लाइटें बदलने का लक्ष्य है। एलईडी लाइटों के लग जाने से सड़कों पर रोशनी तो बेहतर होगी। एलईडी स्ट्रीट लाइटें ऑटोमेशन सिस्टम पर काम करेंगी। 

जिम्मेदारी अफसर को मिलेगी
स्ट्रीट लाइटों को सुबह-शाम समय से जलाने-बुझाने के लिए एक नियंत्रण कक्ष होगा। ये ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के जीआईएस से भी जुड़ी होंगी, जिससे प्राधिकरण के सीनियर अफसर भी इस पर नजर रखेंगे। अगर कहीं पर स्ट्रीट लाइट नहीं जल रही है तो सूचना मिलते ही कंपनी उसे तत्काल रिपेयर कराएगी। अगर रिपेयर करने में देरी हुई तो पेनल्टी का भी प्रावधान है। एलईडी स्ट्रीट लाइट लगने से ऊर्जा भी बचेगी और बिजली का बिल भी कम आएगा।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.