कलयुगी बेटे ने अपने बीमार पिता को घर से निकाला, इलाज के दौरान तोड़ा दम

ग्रेटर नोएडा वेस्ट : कलयुगी बेटे ने अपने बीमार पिता को घर से निकाला, इलाज के दौरान तोड़ा दम

कलयुगी बेटे ने अपने बीमार पिता को घर से निकाला, इलाज के दौरान तोड़ा दम

Google Image | प्रतीकात्मक फोटो

कलयुगी बेटे ने अपने बीमार पिता को घर से निकाला, इलाज के दौरान तोड़ा दम Greater Noida West : मां-बाप जिन बच्चों को बुढ़ापे का सहारा समझकर पूरी जिंदगी पालते हैं। वहीं, बच्चे उन्हें भूखा मरने के लिए सड़क पर फेंक रहे हैं। ऐसी ही एक घटना बिसरख थाना क्षेत्र के शाहबेरी गांव में घटी। जहां पर बच्चों ने बुजुर्ग बिमार पिता को भूखे-प्यासे मरने के लिए सड़क पर फेंक दिया। एक दुकानदार ने मानवता का परिचय देते हुए उन्हें गंभीर हालत में नोएडा के जिला अस्पताल में भर्ती करवाया। उपचार के दौरान उनकी शनिवार को मौत हो गई।

दुकानदार ने जिला अस्पताल में भर्ती करवाया
पुलिस ने बताया की शाहबेरी गांव में रहने वाले रामगोपाल (65 वर्ष )पुत्र राधेश्याम अपने परिवार के साथ रह रहे थे। 14 मई को उनके बच्चों ने उन्हें भूखा प्यासा शाहबेरी गांव के मार्केट में सड़क पर छोड़ दिया। जावेद नामक एक दुकानदार ने मानवता का परिचय देते हुए 2 दिनों तक उन्हें खाना खिलाया, लेकिन उनकी तबीयत बिगड़ती चली गई। उसने गंभीर हालत में उन्हें नोएडा के जिला अस्पताल में भर्ती करवाया। जहां उपचार के दौरान आज उनकी मौत हो गई। 

बच्चे अंतिम संस्कार करने के लिए भी तैयार नहीं
घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस मामले की जांच कर रही है। उनको अस्पताल में भर्ती करवाने वाले जावेद के अनुसार उनकी मौत के बाद भी उनके बच्चे उनका अंतिम संस्कार करने को तैयार नहीं है। पुलिस का कहना है कि हर पहलू से जांच की जा रही है। इस मामले में मृतक व्यक्ति के परिजनों से संपर्क करने का प्रयास कर रहे है।

अन्य खबरे

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.