कड़कड़ाती ठंड में बने बेघरों का सहारा

जरूरतमंदों के साथ खड़े हुए ग्रेटर नोएडा के लोग कड़कड़ाती ठंड में बने बेघरों का सहारा

कड़कड़ाती ठंड में बने बेघरों का सहारा

Tricity Today | सामाजिक संगठन बने बेघरों का सहारा

Greater Noida :
दिल्ली-एनसीआर की सर्दी पूरे विश्व में अपनी प्रचंडता के लिए जानी जाती है, जो यहां रहता है, वही जानता है कि इस हाड़ कंपा देने वाली दिल्ली की सर्दी में क्या हालत होती है? हम तो घर में हीटर चला लेते हैं, गरम सूप पीकर आराम करते हैं, लेकिन उनका क्या जिनके पास न आसरा है और न आशियाना? तापमान में गिरावट देख नोएडा और ग्रेटर नोएडा वेस्ट के कई सामाजिक संगठन आगे आये और इन बेघरों की मदद के लिए हाथ बढ़ाया है।  

मातृ-पीठ ग्रेटर नोएडा वेस्ट काली बाड़ी ने बांटे कंबल 
मातृपीठ ग्रेटर नोएडा वेस्ट काली बाड़ी ने इस हाड़ कपां वाली सर्दी में बेघरों को सर्द रातों में राहत देने के लिए कंबल वितरण अभियान शुरू किया है। मातृपीठ के चेयरमैन अमित सेनगुप्ता का कहना है कि जैसे-जैसे तापमान गिरता है, हम उम्मीद करते हैं कि सभी के पास एक गर्म कंबल होना चाहिए। मातृपीठ के अध्यक्ष सुब्रोतो उपाध्याय का कहना है कि कंबल जैसी बुनियादी जरूरतों के बिना कैसे गुजारा हो सकता है? इस ठंड में किसी को भी सर्दी से परेशान नहीं होना चाहिए। हमें उम्मीद है कि हमारे प्रयासों से उन लोगों का जीवन सुरक्षित रहे और वो ठंड में आराम से गुजारा कर सकें। मातृपीठ की महासचिव श्रुति दासगुप्ता कहती हैं कि एनसीआर क्षेत्र में दिसंबर से फरवरी के महीनों में रातें कड़ाके की ठंड पड़ती है और बेघरों के पास अक्सर कम गर्म कपड़े होते हैं। हमारे प्रयासों से एक जीवन भी बचेगा तो हमारे प्रयास सार्थक साबित हो जाएंगे।

पहले भी चलाया गया था अभियान 
जनवरी के पहले और दूसरे सप्ताह में ग्रेटर नोएडा वेस्ट, नोएडा और गाजियाबाद में भी अभियान चलाया गया था। इसके अलावा मातृपीठ अभी आने वाले अभियान के लिए चंदा ले रहा है।मातृपीठ का मिशन उन क्षेत्रों में जीवन की गुणवत्ता को बढ़ाना है जो वंचित और वंचित हैं। कंबल अभियान के अलावा, समूह कई धर्मार्थ परियोजनाओं पर काम कर रहा है, जो गरीब बच्चों और महिलाओं को जीवित रहने का बेहतर मौका देगा। ये कार्यक्रम शिक्षा पर केंद्रित होंगे।

नारी प्रगति फाउंडेशन ने जीएल बजाज इंस्टीट्यूट के साथ काम शुरू किया
नारी प्रगति फाउंडेशन की संस्थापक और प्रबंध-निदेशक मिनाक्षी त्यागी ने बेसहारा लोगो की मदद के लिए खास मुहीम छेड़ी है। उनका कहना है कि बेसहारों की मदद करने से बढ़कर कोई पुण्य नहीं है। इसको ध्यान में रखते हुए नारी प्रगति सोशल फाउंडेशन ने 'परियोजना पुकार' के अंतर्गत वैशाली, गाज़ियाबाद और ग्रेटर नोएडा अल्फा-2 की झुग्गियों में जीएल बजाज इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड रिसर्च के छात्रों और फैकल्टी के योगदान से जरूरतमंदो को गर्म कपड़े, रजाई, कम्बल और स्टेशनरी का सामान वितरित किया है। मिनाक्षी त्यागी का कहना है कि हम जब दान-पुण्य करते हैं तो पहले पूरे एरिया का सर्वे करते है। वो एरिया देखते हैं, जहां कोई संस्था नहीं पहुंची है। जहां जरूरत है। हम रिक्शा चलाने वालों को रजाई देते हैं, ताकि वो सवारी के इंतजार में ठंड से तड़पे नहीं। पहले हम कपड़े एकत्र करते हैं और जनता से गुजारिश है, जब भी कपड़े दान दें, उनको धोकर और अच्छे से पैक करके दें। अगर कोई भी सर्दी के कपड़े दान करना चाहे तो हमसे हेल्पलाइन नम्बर 96545 92996 पर संपर्क करें।

Copyright © 2022 - 2023 Tricity. All Rights Reserved.