ग्रेटर नोएडा वेस्ट में 11वीं मंजिल से गिरकर महिला की मौत, आत्महत्या की आशंका

BIG BREAKING : ग्रेटर नोएडा वेस्ट में 11वीं मंजिल से गिरकर महिला की मौत, आत्महत्या की आशंका

ग्रेटर नोएडा वेस्ट में 11वीं मंजिल से गिरकर महिला की मौत, आत्महत्या की आशंका

Google Image | Symbolic Image

ग्रेटर नोएडा वेस्ट में 11वीं मंजिल से गिरकर महिला की मौत, आत्महत्या की आशंका Greater Noida West : ग्रेटर नोएडा वेस्ट से बड़ी खबर सामने आ रही है। शहर में स्थित निराला एस्टेट में 11वीं मंजिल से गिरकर एक महिला की मौत हो गई है। इस घटना के बाद परिवार में कोहराम मच गया है। घटना की जानकारी बिसरख थाना पुलिस को दी गई है। सूचना मिलने के बाद थाना पुलिस टीम मौके पर पहुंच गई है। थाना प्रभारी पर मौके पर मौजूद है। प्राथमिक जांच के लिए फॉरेंसिक टीम मौके पर बुलाई गई है। पुलिस का कहना है कि महिला संदिग्ध परिस्थितियों में 11वीं मंजिल से नीचे गिरी है। शुरुआती जांच के बाद ही आत्महत्या की पुष्टि हो पाएगी। पुलिस ने आत्म हत्या की आशंका जाहिर की है।

शहर में काफी तेजी से बढ़ रहे सुसाइड के मामले
आपको बता दें कि ग्रेटर नोएडा वेस्ट की हाउसिंग सोसायटी में पिछले कुछ समय के दौरान काफी ज्यादा आत्महत्या के मामले सामने आए हैं। यह एक गंभीर विषय है। करीब 20 दिनों पहले एक अधिकारी ने ऊंचाई से कूदकर आत्महत्या की थी, जो अपने पीछे पत्नी और दो बच्चों को छोड़कर चला गया। करीब 2 महीने पहले ग्रेटर नोएडा वेस्ट में एक कपल ने सुसाइड किया था। दोनों काफी समय से एक-दूसरे से प्यार करते थे। जिसमें युवक एक नामी कंपनी में कार्य करता था। दोनों युवक और युवती गाजियाबाद के रहने वाले थे।

नौकरी पेशा वर्गों की चिंता सबसे ज्यादा
पिछले महीनों से देखा जा रहा है कि नोएडा और ग्रेटर नोएडा में मानसिक तनाव की समस्या काफी ज्यादा है। मानसिक समस्या से युवाओं पर सबसे गहरा असर पड़ रहा है। काफी तेजी के साथ जनपद में मानसिक समस्याओं से पीड़ित लोगों की संख्या बढ़ती जा रही है। खासतौर पर कार्यस्थल के तनाव और रोजगार को लेकर नौकरी पेशा वर्गों की चिंता सबसे ज्यादा है। मानसिक तनाव के कारण जनपद में आत्महत्या जैसे मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। जिले में अभी तक जितने भी सुसाइड के मामले आए हैं, उनमें से 80 प्रतिशत मानसिक तनाव के कारण हुए हैं। 

10 लाख से अधिक कर्मचारियों की काउंसलिंग 
अब इसको लेकर गौतमबुद्ध नगर स्वास्थ्य विभाग ने एक खास पहल करने की बात कही है। जिले के 20 हजार उद्योगों में मानसिक स्वास्थ्य के लिए हेल्प डेस्क बनाया जाएगा। आगामी जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में इस प्रस्ताव को रखा जाएगा। जिलाधिकारी सुहास एलवाई के सामने इस प्रस्ताव को रखा जाएगा। वहां से मंजूरी मिलने के बाद कार्य स्थलों पर 10 लाख से अधिक कर्मचारियों की काउंसलिंग का नियम अनिवार्य किया जाएगा।

जिले में 11 लाख से अधिक लोग नौकरी पेशा वाले
जिला स्वास्थ्य विभाग की सलाहकार डॉक्टर श्वेता खुराना का कहना है कि जिले में कोविड-19 के आने के बाद मानसिक तनाव से पीड़ित मरीजों की संख्या बढ़ी है। मानसिक तनाव से पीड़ित मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा होता जा रहा है। जिले में इस समय 20 हजार से भी अधिक औद्योगिक इकाइयां हैं, जिनमें करीब 10 लाख से भी अधिक लोग नौकरी करते हैं। इसके अलावा नोएडा और ग्रेटर नोएडा में 1200 से भी ज्यादा आईटी कंपनियां हैं, जिनमें करीब एक लाख से अधिक लोग नौकरियां करते हैं। इन कंपनियों में काम करने वाले कर्मचारी अधिकतर मानसिक तनाव से जूझते रहते हैं। जनपद में 20 हजार औद्योगिक इकाइयों में मानसिक स्वास्थ्य हेल्प डेस्क बनने के बाद मानसिक तनाव की समस्या कम होगी।

डिप्रेशन के कारण महिला ने सुसाइड किया : पुलिस
पुलिस ने बताया कि शनिवार को सुबह करीब 11ः00 बजे थाना बिसरख क्षेत्र में एक महिला प्रतिभा यादव पत्नी राजीव यादव ने आत्महत्या कर ली। प्रतिभा करीब 55 वर्ष की थीं। वह निराला स्टेट सोसाइटी में रहती थीं और गृहणी थीं। उन्होंने 11वीं मंजिल पर अपने फ्लैट की बालकनी से कूदकर आत्महत्या कर ली है। परिवार वालों ने उनको हॉस्पिटल भेजा। डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। सूचना पर थाना बिसरख पुलिस और फील्ड यूनिट मौके पर पहुंचीं। आवश्यक विधिक कार्यवाही की गई है। प्रतिभा यादव के पति राजीव यादव इंडियन डिफेन्स सर्विस में डायरेक्टर के पद से 2 साल पहले रिटायर हो चुके हैं। घर में प्रतिभा के साथ उनके पति राजीव यादव और बड़ा बेटा रोहन रहते थे। ये दोनों लोग उस समय दूसरे कमरे में थे। मृतका को 2015 से डिप्रेशन की दिक्कत थी, जिसका इलाज चल रहा था।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.