BIG NEWS: ग्रेटर नोएडा का होगा कायाकल्प, प्राधिकरण तैयार करवा रहा है मास्टर प्लान 2041, ऐसा होगा भविष्य का शहर

ग्रेटर नोएडा का होगा कायाकल्प, प्राधिकरण तैयार करवा रहा है मास्टर प्लान 2041, ऐसा होगा भविष्य का शहर

Tricity Today | Greater Noida Authority

  • - अथॉरिटी ने रुद्राभिषेक इंटरप्राइजेज लिमिटेड को इस प्रोजेक्ट के लिए सलाहकार नियुक्त किया है
  • - कंपनी ग्रेटर नोएडा के फेज-1 तथा फेज-2 क्षेत्र का सर्वे, परीक्षण, आधारभूत सुविधाएं, परिवहन जैसे बिंदुओं को शामिल करेगी
  • - 6 महीने में प्राथमिक रिपोर्ट सौंपेगी कंपनी
  • - फिलहाल ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण का मास्टर प्लान-2021 लागू है
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण (Greater Noida Development Authority) मास्टर प्लान 2041 (Master Plan 2041) को लेकर तेजी दिखा रहा है। यह प्लान एक वर्ष में तैयार हो जाएगा। अथॉरिटी ने मैसर्स रुद्राभिषेक इंटरप्राइजेज लिमिटेड (Rudrabhishek Enterprises Ltd) (REPL) को इस प्रोजेक्ट के लिए सलाहकार (Advisor) नियुक्त किया है। मास्टर प्लान में आधुनिक ग्रेटर नोएडा की झलक दिखाई देगी। इसमें आईटी हब (IT Hub), हाइटेक रेसिडेंसियल एरिया (High-tech Residential Areal), औद्योगिक क्षेत्र (Industrial Area) और ग्रामीण क्षेत्र के विकास की रूपरेखा और खाका खींचा जाएगा।

भविष्य के शहर का खाका खींचा जाएगा
बताते चलें कि प्राधिकरण ग्रेटर नोएडा को एक आदर्श एवं आधुनिक शहर के रूप में विकसित करने की दिशा में काम कर रहा है। यह मास्टर प्लान उस लिहाज से अहम है। फिलहाल ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण का मास्टर प्लान-2021 (Master Plan 2021) लागू है। लेकिन भविष्य का ग्रेटर नोएडा आज से बिलकुल जुदा होगा। औद्योगिकीकरण की वजह से यहां भारी भीड़ जुटेगी। जैसे-जैसे रोजगार के अवसर बढ़ेंगे, लोग आते जाएंगे। इसलिए अथॉरिटी ने जनसंख्या (Population), आधारभूत सुविधायें (Basic Facilities), निवेश (Investment) तथा महत्वपूर्ण परियोजनाओं (Important Projects) आदि को देखते हुए अपने प्रस्तावित मास्टर प्लान-2041 पर पूरा ध्यान फोकस किया है। 

6 महीने में प्राथमिक रिपोर्ट तैयार
ग्रेनो प्राधिकरण ने इस मास्टर प्लान को तैयार करने के लिए आरईपीएल को सलाहकार नियुक्त किया है। यह कंपनी ग्रेटर नोएडा के फेज-1 तथा फेज-2 क्षेत्र का सर्वे, परीक्षण, आधारभूत सुविधाएं, परिवहन जैसे बिंदुओं को शामिल कर मास्टर प्लान-2041 तैयार करेगी और 6 महीने में प्राथमिक रिपोर्ट देगी। कंपनी पूरी रिपोर्ट एक साल में तैयार करेगी और सौंपेगी। 

समीक्षा बैठक की गई
ग्रेनो प्राधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषण ने इस संबंध में समीक्षा बैठक की थी। इसमें एसीईओ अमनदीप डुली, ओएसडी संतोष कुमार, जीएम वित्त एचपी वर्मा, जीएम परियोजना एके अरोड़ा, जीएम नियोजन मीना भार्गव व स्कूल आफ प्लानिंग एवं आर्किटेक्चर के पूर्व निदेशक प्रो जमाल अन्सारी शामिल हुए। बैठक में सलाहकार कंपनी ने मास्टर प्लान को लेकर विस्तृत प्रस्तुतीकरण भी दिया।

तमाम बिंदुओं पर होगी मंथन
यह कंपनी ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण व अन्य एजेंसियों के उपलब्ध आंकड़ों को इकट्ठा करेगी। उनकी समीक्षा के बाद वह अपना सुझाव देगी। यह कंपनी आगामी परियोजनाओं के लिए मास्टर प्लानिंग तैयार करेगी। आर्थिक एवं निवेश का अध्ययन करेगी। आगामी और प्रस्तावित इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास का अध्ययन करेगी। हितधारकों से परामर्श लेगी और जीआईएस आधारित मास्टर प्लान तैयार करेगी। साथ ही सेक्टोरल प्लान तैयार करने, पर्यावरण और सामाजिक प्रभाव का आकलन करने की जिम्मेदारी भी सलाहकार कंपनी को सौंपी गई है।

आधुनिक शहर बसेगा
प्रस्तावित मास्टर प्लान-2041 में आईटी हब व हाइटेक आवासीय जोन का प्रावधान किया जाएगा। शहरी, ग्रामीण क्षेत्रों एवं लाल डोरा क्षेत्र को भी योजना में सम्मिलित किया जाएगा। इससे ग्रेटर नोएडा को एक आदर्श एवं आधुनिक शहर के रूप में विकसित करने में मदद मिलेगी। इससे भविष्य की आवश्यकताओं के अनुरूप शहर बसाया जा सकेगा। सीईओ ने बताया कि स्कूल ऑफ प्लॉनिंग एवं आर्किटेक्चर, नई दिल्ली के पूर्व निदेशक प्रो जमाल अंसारी सलाहकार कंपनी को सुझाव और मार्गदर्शन देते रहेंगे।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.