दुल्हन को हेलीकॉप्टर से ले जाने के लिए फायर अफसर और एडसीएम की फर्जी एनओसी लगाई, जाना पड़ा जेल

ग्रेटर नोएडा : दुल्हन को हेलीकॉप्टर से ले जाने के लिए फायर अफसर और एडसीएम की फर्जी एनओसी लगाई, जाना पड़ा जेल

दुल्हन को हेलीकॉप्टर से ले जाने के लिए फायर अफसर और एडसीएम की फर्जी एनओसी लगाई, जाना पड़ा जेल

Tricity Today | दुल्हन और दूल्हा

दुल्हन को हेलीकॉप्टर से ले जाने के लिए फायर अफसर और एडसीएम की फर्जी एनओसी लगाई, जाना पड़ा जेल ग्रेटर नोएडा के ईकोटेक-3 थाने में मध्यप्रदेश में जिला भिंड में रहने वाले एक व्यक्ति के खिलाफ धोखाधड़ी और अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार किया गया है। इस व्यक्ति ने ग्रेटर नोएडा से दुल्हन को हैलीकॉप्टर से ले जाने के लिए अग्निशमन अधिकारी और एसडीएम दादरी का फर्जी पत्र लगाया था। एसीपी ने इस मामले में मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए थे। जिसके बाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर आरोपी हेलीकॉप्टर सर्विस प्रोवाइडर कंपनी के एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

10 मई 2021 को थी तिलपता गांव में शादी
ईकोटेक-3 थाने के प्रभारी भुवनेश कुमार ने बताया कि ग्रेटर नोएडा के तिलपता गांव में रहने वाली वर्षा की शादी 10 मई 2021 को भाटी फार्म हाउस में होनी थी। विवाह समारोह में दूल्हे का आगमन और विवाह के बाद दुल्हन की विदाई हेलीकॉप्टर के माध्यम से होनी थी। इस कार्यक्रम में हेलीकॉप्टर की लैंडिंग को लेकर सूरजपुर थाना के सब-इंस्पेक्टर ने 29 अप्रैल को अपनी संस्तुति सहित आख्या लगाई थी। जिसमें सेंट्रल नोएडा एसीपी, फायर अधिकारी, एसडीएम और अभिसूचना इकाई से भी लैंडिंग के संबंध में आख्या प्राप्त किए जाने के बारे में निर्देश करते हुए एतराज लगा दिया गया था।

अग्निशमन अधिकारी और एसडीएम दादरी के फर्जी हस्ताक्षर दिए
जिसके बाद हेलीकॉप्टर सर्विस प्रोवाइडर कंपनी की ओर से रवि सिंह निवासी मनका बाग थाना बबेडी जिला भिंड (मध्य प्रदेश) ने अग्निशमन अधिकारी जितेंद्र कुमार और एसडीएम दादरी अंकित कुमार और प्रभारी निरीक्षक अभिसूचना इकाई के हस्ताक्षर की आख्या सहायक पुलिस आयुक्त तृतीय सेंट्रल नोएडा को स्वयं लाकर दी थी। 

शक होने पर ACP से जांच के आदेश दिए
रवि सिंह द्वारा प्रस्तुत की गई आख्या पर शक होने पर सहायक पुलिस आयुक्त तृतीय सेंट्रल नोएडा पीपी सिंह ने फायर अधिकारी जितेंद्र कुमार से पत्राचार करते हुए यह बात की तो पता चला कि इस मामले में उन्होंने कोई अनुमति नहीं दी है। जब अग्निशमन अधिकारी ने ऐसी किसी भी अनुमति देने से इनकार किया तो पता लगा कि रवि सिंह ने फर्जी तरीके से पत्र तैयार किया और उस पर अग्निशमन अधिकारी के फर्जी साइन किए थे। इस मामले में एसीपी के आदेश पर ग्रेटर नोएडा के ईकोटेक-3 थाने में रवि सिंह के खिलाफ धोखाधड़ी और विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।

सूरजपुर में हुई हेलीकॉप्टर की लैंडिंग
वहीं, दूसरी ओर इस मामले में पता चला है कि दुल्हे को जब तिलपता गांव में हेलीकॉप्टर की लैंडिंग के लिए इजाजत नहीं मिली तो सूरजपुर में स्थित हेलीकॉप्टर बनाने वाली कंपनी में हेलीकॉप्टर की लैंडिंग करके दिल्ली का दूल्हा अपनी दूल्हन को लेकर चला गया है।

 

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.