अंतरराष्ट्रीय शूटर विश्वकप सिल्वर मेडलिस्ट सीमा तोमर से अभद्रता, बिसरख पुलिस पर लगाया टालमटोल करने का आरोप

ग्रेटर नोएडा वेस्ट : अंतरराष्ट्रीय शूटर विश्वकप सिल्वर मेडलिस्ट सीमा तोमर से अभद्रता, बिसरख पुलिस पर लगाया टालमटोल करने का आरोप

अंतरराष्ट्रीय शूटर विश्वकप सिल्वर मेडलिस्ट सीमा तोमर से अभद्रता, बिसरख पुलिस पर लगाया टालमटोल करने का आरोप

Social Media | Shooter Seema Tomar

अंतरराष्ट्रीय शूटर विश्वकप सिल्वर मेडलिस्ट सीमा तोमर से अभद्रता, बिसरख पुलिस पर लगाया टालमटोल करने का आरोप
  • - पुलिस ने तहरीर के आधार पर दर्ज किया मारपीट की धाराओं में केस
  • - पीड़ित के थाने और पुलिस चौकी के कई चक्कर लगाने के बाद दर्ज हुई एफआईआर
Greater Noida West News :  ग्रेटर नोएडा वेस्ट की ट्राइडेंट एम्बेसी सोसाइटी में अंतरराष्ट्रीय महिला शूटर सीमा तोमर से अभद्रता की गई। पीड़ित सीमा तोमर का आरोप है कि उनकी सोसाइटी की रिजर्व पार्किंग में खड़ी कार हटाने की बात कहने पर तीन लोगों ने उनसे अभद्रता, गाली गलौज और जान से मारने की धमकी दी। इसकी रिकार्डिंग करने पर आरोपियों ने पीड़िता का मोबाइल फोन छीनने व उन पर जानलेवा हमले की कोशिश की। 9 अक्टूबर को हुई इस घटना के बाद से पीड़ित सीमा तोमर अपनी शिकायत दर्ज करवाने के लिए बिसरख थाने और पुलिस चौकी के चक्कर लगाने को मजबूर होती रहीं। काफी भागदौड़ के बाद 23 अक्टूबर को बिसरख पुलिस ने मारपीट की मामूली धाराओं में केस दर्ज किया है। सीमा तोमर विश्व सिल्वर मेडलिस्ट हैं और प्रकाशी तोमर (शूटर दादी के नाम से मशहूर) की बेटी हैं और 17 साल से भारतीय सेना में सीओडी पद पर कार्यरत हैं।

मूलरूप से बागपत निवासी सीमा तोमर ग्रेनो वेस्ट के सेक्टर-01 स्थित ट्राईडेंट एम्बेसी सोसाइटी में रहती हैं। सीमा तोमर ने बिसरख कोतवाली में दी गई शिकायत में पुलिस को बताया है कि वह दिल्ली में कार्यरत हैं। 9 अक्टूबर को वह दिल्ली से ड्यूटी पूरी करने के बाद जब सोसाइटी में पहुंची तो उन्होंने देखा कि उनकी रिजर्व पार्किंग में एक कार खड़ी थी। इस कार पर सोसाइटी का स्टीकर भी नहीं लगा था। सुरक्षाकर्मी ने एक फ्लैट में रहने वाले लोगों को कॉल कर कार हटाने के ल‌िए कहा तो उन्होंने कार हटाने से इनकार कर दिया। इसके बाद सीमा तोमर ने भी उन लोगों को फ़ोन कर कार हटाने के लिए कहा तो उन्होंने ठीक से बात नहीं की। काफी देर तक सीमा तोमर पार्किंग में खड़ी रहकर उन लोगों के आने का इंतजार करती रहीं। कुछ देर बाद तीन लोग वहां पर आए और कार हटाने के बजाय सीमा तोमर से अभद्रता करने लगे।

उन्होंने पीड़िता के साथ गाली गलौज भी की। सीमा ने मोबाइल फोन निकालकर घटना का वीडियो बनाने का प्रयास किया तो वह लोग मोबाइल फोन छीनने का प्रयास करते हुए हमले की को‌शिश करने लगे। इनमें से एक आरोपी बे खुद को बड़े पद पर सरकारी अधिकारी बताते हुए पीड़िता को जान से मारने की धमकी भी दी। सीमा तोमर का कहना है कि ये घटना करीब लगभग आधे घंटे तक चलती रही। तब जाकर उन्होंने पुलिस को सूचना दी। एसीपी योगेंद्र सिंह ने बताया कि पीड़िता की शिकायत पर मामला दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है।

थाने-चौकी के कई चक्कर लगाने  पर दर्ज हुई एफआईआर
सीमा तोमर ने बताया कि उन्हें केस दर्ज कराने के लिए लिए तीन बार बिसरख कोतवाली और दो बार पुलिस चौकी जाना पड़ा। इस मामले में उन्होंने पुलिस के आलाधिकारियों को भी ईमेल से जानकारी देते हुए शिकायत की। आला अधिकारियों के हस्तक्षेप के बाद बिसरख पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज की है। उनका कहना है कि जो लोग उनसे अभद्रता कर सकते हैं और धमकी दे सकते हैं, वह आम महिलाओं से किस तरह व्यवहार करते होंगे। इसलिए इस मामले में पुलिस को सख्त कार्रवाई करनी चाहिए।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.