छात्रों का भविष्य संवारने के लिए शारदा विश्वविद्यालय की नई पहल, एमईएससी के साथ किया करार

ग्रेटर नोएडा : छात्रों का भविष्य संवारने के लिए शारदा विश्वविद्यालय की नई पहल, एमईएससी के साथ किया करार

छात्रों का भविष्य संवारने के लिए शारदा विश्वविद्यालय की नई पहल, एमईएससी के साथ किया करार

Tricity Today | एमईएससी के साथ किया करार

छात्रों का भविष्य संवारने के लिए शारदा विश्वविद्यालय की नई पहल, एमईएससी के साथ किया करार Greater Noida : शारदा विश्वविद्यालय ने मंगलवार को मीडिया एंड एंटरटेनमेंट स्किल काउंसिल (एमईएससी) के साथ मिलकर दो नए कोर्स की शुरूआत की है। इसमें बीएससी एनिमेशन एंड वीएफएक्स और बीएससी गेमिंग डिजाइन है। दोनों कोर्स 4 साल का होगा। इसकी खासियत यह होगी कि एक साल बच्चों को उद्योगों में जाकर काम करने और सीखने का मौका मिलेगा, जिससे उनका एक्सपोजर काफी बढेगा। इससे उन्हें नौकरी मिलने में आसानी होगी। 

शारदा विश्वविद्यालय के प्रो. चांसलर वाई के गुप्ता ने बताया कि आज की जरूरत और नई शिक्षा नीति के तहत हम लोगों ने नए -नए प्रयोग शुरू किए हैं। इसी कडी में विवि प्रबंधन ने मीडिया एंड एंटरटेनमेंट स्किल काउंसिल एमईएससी के साथ मिलकर दो तरह के कोर्स चलाने का फैसला लिया है। एमईएससी के चेयरमैन मशहूर और नामचीन फिल्म निर्माता सुभाष घई हैं। एमईएससी की तरफ से सीईओ माहित सैनी ने शारदा विवि के स्कूल ऑफ मीडिया, फिल्म एंड एंटरटेनमेंट के बीच समझौता किया गया। 

वहीं एमईएसी के अध्यक्ष और सिनटा सीने और टीवी कलाकार संघ के संयुक्त सचिव सुभाष घई समेत शिक्षा मंत्रालय के सीनियर रिटायर्ड इकोनामिक एडवाइजर एजुकेशन वीएलवीएसएस सुब्बा राव और मशहूर एक्टर डायरेक्टर और राइटर सलीम आरिफ और लक्ष्य डिजिटल के सीईओ मनविंदर शुकुल सत्र में ऑनलाइन शामिल हुए। इसके तहत दो नए कोर्स शुरू करने पर विचार किए गए। यह दोनों ही कोर्स नई शिक्षा नीति के तहत ही चयन किया गया है। इसमें पढाई के साथ ही व्यावहारिक जानकारी और ज्ञान पर फोकस रहेगा। इसी को देखते हुए चार साल के कोर्स में एक साल सामान्य उद्योग से फिल्म जगत तक में काम करने और बारीकियां सीखने का मौका मिलेगा। 

इस मौके पर एमईएससी के सीईओ मोहित सैनी ने कहा कि इस समझौते का दूरगामी परिणाम निकलेगा। शारदा विवि के डायरेक्टर एडमिशन राजीव गुप्ता ने बताया कि हमारे कैंपस से कुछ ही दूरी पर बडे पैमाने पर फिल्म सिटी बनाने की योजना है। इससे इन विषयों के छात्रों को काफी कुछ सीखने को मिलेगा। छात्रों को पढने के साथ एप्लिकेशन बेस्ड लर्निंग के अलावा कौशल से सुसज्जित करने का प्रयास किया जाएगा, ताकि पढाई पूरी होने के बाद उन्हें नौकरी के लिए कहीं भटकना नहीं पडेगा। 

शारदा विवि के वाइस चांसलर प्रो. सिबाराम खारा ने कहा कि आज के समय में थिअरी से ज्यादा प्रैक्टिल पर जोर देना होता है। जिससे छात्र आने वाली कठिनाइयों को समझते हुए पढाई करते हैं और भविष्य का रोडमैप भी उसी हिसाब से तैयार करते हैं। इस समझौते के तहत शारदा विश्वविद्यालय में मीडिया और मनोरंजन के क्षेत्र के लिए एक उत्कृष्ट और रचनात्मक केंद्र की संयुक्त रूप से स्थापना की जाएगी, जिसमें सभी सुविधाएं प्रदान की जाएंगी। कार्यक्रम में स्कूल ऑफ मीडिया, फिल्म एंड एंटरटेनमेंट की डीन प्रो. रितू सूद, अकैडमिक के डीन प्रो. परमानंद और भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय में सलाहकार वी एल वी एस एस सुब्बाराव आदि मौजूद रहे।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.