नोएडा और ग्रेटर नोएडा में हजारों फ्लैट की नहीं हुई रजिस्ट्री, देर रात बायर्स ने डॉ.महेश शर्मा को पीएम के नाम दिया ज्ञापन

घर पर हक चाहिए : नोएडा और ग्रेटर नोएडा में हजारों फ्लैट की नहीं हुई रजिस्ट्री, देर रात बायर्स ने डॉ.महेश शर्मा को पीएम के नाम दिया ज्ञापन

नोएडा और ग्रेटर नोएडा में हजारों फ्लैट की नहीं हुई रजिस्ट्री, देर रात बायर्स ने डॉ.महेश शर्मा को पीएम के नाम दिया ज्ञापन

Tricity Today | बायर्स ने डॉ.महेश शर्मा को पीएम के नाम दिया ज्ञापन

नोएडा और ग्रेटर नोएडा में हजारों फ्लैट की नहीं हुई रजिस्ट्री, देर रात बायर्स ने डॉ.महेश शर्मा को पीएम के नाम दिया ज्ञापन नोएडा और ग्रेटर नोएडा की तमाम हाउसिंग सोसायटीज में हजारों फ्लैटों की रजिस्ट्री नहीं हुई हैं। इस मसले को लेकर फ्लैट खरीदारों की संस्था नेफोमा ने प्रधानमंत्री के नाम सांसद डॉ.महेश शर्मा को सौंपा ज्ञापन सौंपा है। ग्रेटर नोएडा वेस्ट में बिल्डरों ने हजारों फ्लैट बायर की रजिस्ट्री नहीं की हैं। सोमवार की देर रात सांसद महेश शर्मा को नेफोमा ने प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन दिया। विभिन्न सोसाइटियों में फ्लैट की रजिस्ट्री करवाने की मांग की। ग्रेटर नोएडा वेस्ट में बिल्डरों से प्रतिदिन होने वाली समस्याओं जैसे मूलभूत सुविधाओं, बिजली, ज्यादा मेंटीनेंस चार्ज पर भी चर्चा की गई। नेफोमा ने बताया कि लगभग एक घण्टा मीटिंग चली। जिसमें सांसद ने सभी की बातों को अच्छी तरह सुना।

नेफोमा ने अपने ज्ञापन में लिखा है कि गौतमबुद्ध नगर के ग्रेटर नोएडा, नोएडा और ग्रेटर नोएडा वेस्ट में बिल्डर परियोजना में पिछले 10 वर्षों के दौरान लाखों फ्लैट बायर ने घर बुक किए। फ्लैट बॉयर्स ने बिल्डरों को पूरे पैसे दे दिए हैं लेकिन बिल्डरों ने हजारों फ्लैट बॉयर्स की रजिस्ट्री नहीं की हैं। जिससे सैकड़ों प्रोजेक्ट में हजारों फ्लैट बॉयर्स रजिस्ट्री की वजह से परेशान हैं। अपनी जिंदगी भर की कमाई बिल्डरों को देकर मालिकाना हक से वंचित हैं। नेफोमा के अध्यक्ष अन्नू खान ने बताया की फ्लैट और जमीन एक ऐसी संपत्ति होती है, जिसे कोई विपत्ति आने पर बेचकर लोग अपना जीवन बचा लेते हैं। हमारे पास ऐसी बहुत सी शिकायत आईं, जिनके पति, पिता या कोई दूसरा परिजन कोरोना काल में मर गए। घर में कोई आय का साधन नहीं रहा। ऐसी स्थिति में अगर फ्लैट की रजिस्ट्री होती तो लोग अपना फ्लैट बेच कर जीवन यापन कर सकते थे। 

अन्नू खान ने कहा, बिल्डरों ने फ्लैट बॉयर्स से पूरे पैसे वसूलने के बाद भी रजिस्ट्री नहीं कराई हैं। बिल्डर एक तरफ सरकार और प्राधिकरण का नुकसान तो कर ही रहे हैं, साथ ही फ्लैट बॉयर्स को मानसिक तौर पर प्रताड़ित कर रहे हैं। नेफोमा की महासचिव रश्मि पाण्डेय ने बताया कि एक तरफ तो वह फ्लैट बॉयर्स हैं, जिनको पिछले 10 साल से घर नहीं मिल रहा है। वह घर की ईएमआई और रेंट की वजह से दोहरी मार झेल रहे हैं। हमने सांसद को ग्रेटर नोएडा वेस्ट की सोसाइटी में बिल्डरों से हो रही समस्याओं के बारे में बताया है। सांसद ने आश्वासन दिया है कि जल्द ही समस्या का निस्तारण किया जाएगा। सांसद ने कहा, "प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर फ्लैट निवासियों की रजिस्ट्री करवाने की मांग करेंगे। अधिकारियों को समस्याओं से अवगत कराकर हजारों फ्लैट बॉयर्स की रजिस्ट्री कराने के लिए कोई ना कोई रास्ता निकलवाने की कोशिश करेंगे। मीटिंग में नेफोमा सदस्य उमेश सिंह, अभय जैन, मनिंदर, विनय, राकेश टंडन, डीके सिन्हा, रोहित, अमनप्रीत, उदय, नरेश शामिल रहे।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.