ओम प्रकाश के फिर से बदले सुर, राजभर बोले- बीजेपी अगर समर्थन करती है तो उनका भी स्वागत

लखनऊ : ओम प्रकाश के फिर से बदले सुर, राजभर बोले- बीजेपी अगर समर्थन करती है तो उनका भी स्वागत

ओम प्रकाश के फिर से बदले सुर, राजभर बोले- बीजेपी अगर समर्थन करती है तो उनका भी स्वागत

Tricity Today | ओम प्रकाश के फिर से बदले सुर

ओम प्रकाश के फिर से बदले सुर, राजभर बोले- बीजेपी अगर समर्थन करती है तो उनका भी स्वागत लखनऊ : उत्तर प्रदेश में होने वाले 2022 के विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहा है वैसे- वैसे विपक्षी पार्टियां रंग बदलते हुए दिखाई दे रहीं हैं। सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने शुक्रवार को लखनऊ में प्रेस कांफ्रेंस करने के दौरान ऐलान किया है कि हमारे मुद्दों के साथ जो पार्टी होगी, हम उसका साथ देंगे। हम पूरे प्रदेश में पूर्ण शराबबंदी, मुफ्त शिक्षा, न्याय समिति रिपोर्ट की सिफारिश लागू करने को लेकर संघर्ष कर रहे हैं। जो भी इस मुद्दे पर हमारे साथ हैं, उन सबका स्वागत है। राजभर ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी अगर समर्थन करती है तो उनका भी स्वागत है।

समझौता करने आये हैं लखनऊ
ओपी राजभर ने कहा कि सभी को बताने का प्रयास किया कि अभी तक वो अपने मोर्चे की ताकत पैदा कर रहे थे। अब समझौते के लिए लखनऊ आये हैं। जो चाहे बात कर सकता। उन्होंने कहा कि समाजहित में राजभर कोई भी कुर्बानी दे सकता है। पहले बीजेपी और मुख्यमंत्री पर तल्ख बयानबाजी करने के सवाल पर उन्होंने कहा कि तब दौर दूसरा था, अब दूसरा है। उनसे पूछा कि बीजेपी में किससे बात होगी तो दो टूक कहा की पीएम नरेंद्र मोदी, अमित शाह क्योंकि यहां बात करने से रिजल्ट नही निकलेगा।इसीलिए तय किया है कि सीधे दल के मालिक से बात की जाए।

मऊ में 27 भरेंगे हुँकार
राजभर ने कहा कि भागीदारी संकल्प मोर्चा तमाम मुद्दों पर बनाया गया है। मोर्चा ने तय किया है, जो भी पार्टी मुद्दों पर समझौता करेगी, वो साथ आएगी। इसी के साथ राजभर ने कहा कि 27 अक्टूबर को मऊ की रैली में वंचित, पिछड़ा, अल्पसंख्यक को संबोधित करेंगे और उसी दिन फैसला लिया जाएगा कि आगे का चुनावी सफर कैसे तय करना है।

शिवपाल यादव के घर पर हुई थी मुलाकात
बता दें कि पिछले दिनों सीएम योगी को लेकर बयान बाजी पर कहा कि वो जो कहते है सच कहते हैं, सच कड़वा होता है। कुछ दिन पहले शिवपाल यादव के आवास पर भी ओपी राजभर, असद्दुदीन ओवैसी और चंद्रशेखर के साथ बैठक हुई थी। फिलहाल शिवपाल यादव को सपा में संभावनाएं दिख रही हैं। इस बात पर जब ओपी राजभर से पूछा तो उन्होंने कहा कि परिवार का लगाव है। चाचा-भतीजे, भाई-भाई का सवाल है।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.