कोरोना काल में यूपी डायल 112 का दिखा मानवीय चेहरा, 40 दिनों में 7 लाख से ज्यादा लोगों को पहुंचाई मदद

पुलिस को सलाम : कोरोना काल में यूपी डायल 112 का दिखा मानवीय चेहरा, 40 दिनों में 7 लाख से ज्यादा लोगों को पहुंचाई मदद

कोरोना काल में यूपी डायल 112 का दिखा मानवीय चेहरा, 40 दिनों में 7 लाख से ज्यादा लोगों को पहुंचाई मदद

Tricity Today | PRV 112

कोरोना काल में यूपी डायल 112 का दिखा मानवीय चेहरा, 40 दिनों में 7 लाख से ज्यादा लोगों को पहुंचाई मदद इसमें कोई दोराय की बात नहीं है। जब से उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस का कहर बढ़ने लगा है। यूपी डायल 112 का मानवीय चेहरा देखने को मिल रहा है। सिर्फ एक काॅल पर यूपी डायल 112 मौके पर पहुंचकर लोगों की सेवा में लगी हुई है। यूपी डायल 112 इस आपदा में कानून-व्यवस्था और लॉकडाउन का पालन करवाने के साथ ही प्रदेश के लोगों को सहायता पहुंचाने का भी कार्य कर रहा है। 

यूपी डायल 112 द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार 1 अप्रैल 2021 से तक 112 की पीआरवी ने प्रदेशभर में 7,43,556 जरुरतमंद लोगों को आपात सहायता पहुंचाया है। इसी क्रम मे कालाबाजारी करने वालों पर अंकुश लगाने के लिए डायल 112 ने पूरे प्रदेश मे अभियान शुरू किया है। बाजार, अस्पताल, मेडिकल स्टोर या कही और आप से कोई व्यक्ति अगर निर्धारित मूल्य से अधिक किसी वस्तु की कीमत मांग रहा है, तो आप तत्काल हेल्पलाइन नंबर 112 पर कॉल करके या सोशल मीडिया के अन्य माध्यमों से सूचना देकर सहायता ले सकते हैं। 

एडीजी 112 अशोक कुमार सिंह ने उत्तर प्रदेश के सभी जनपदों में 112 के नोडल अधिकारियों को वर्चुअल मीटिंग कर इस सम्बन्ध मे आवश्यक दिशा निर्देश दिया है। कालाबाजारी करने वालों की सूचना देने वाले जागरूक नागरिक यदि नहीं चाहते कि उनका नाम सार्वजनिक हो तो ऐसे कॉलर का नाम और पता गुप्त रखा जाएगा। कालाबाजारी करने वालों पर पुलिस विभाग लगातार कार्यवाई कर रहा है। इसके बावजूद प्रदेश मे कई स्थानों से नागरिकों द्वारा 112 पर कालाबाजारी करने वालों की सूचना समय-समय पर दी जा रही है। 

सूचना देने वाले नागरिकों को 112 के कर्मियों द्वारा कई स्थानों पर सहायता भी पहुंचाई गई है। एडीजी 112 ने नागरिकों से अपील की है कि वह किसी भी समय 112 पर कॉल करके या व्हाट्सऐप, ट्वीटर आदि सोशल मीडिया के माध्यमों पर सूचना देकर सहायता मांग सकते हैं। पीआरवी कर्मियों को मानवीय संवेदना दृष्टिकोण अपनाने और त्वरित कार्रवाई हेतु प्रेरित किया गया है।

 

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.