गाजियाबाद में रामलीला मंचन करने के लिए 11 समितियों ने किया आवेदन, शहर की सबसे पुरानी रामलीला का अभी आवेदन नहीं आया

Updated Oct 15, 2020 20:50:58 IST | Anika Gupta

कोरोना काल के दौरान उत्तर प्रदेश सरकार ने रामलीला मंचन के लिए सहमति दे दी है। हांलाकि, यह अनुमति शर्तों और कोविड-19 नियमों के तहत...

गाजियाबाद में रामलीला मंचन करने के लिए 11 समितियों ने किया आवेदन, शहर की सबसे पुरानी रामलीला का अभी आवेदन नहीं आया
Photo Credit:  Google Image
प्रतीकात्मक फोटो

Ghaziabad Ramleela : कोरोना काल के दौरान उत्तर प्रदेश सरकार ने रामलीला मंचन के लिए सहमति दे दी है। हांलाकि, यह अनुमति शर्तों और कोविड-19 नियमों के तहत दी गई है। सालों पुरानी परम्परा का निर्वाह करने के लिए रामलीला समितियां मंचन कर सकेंगी। लेकिन इस दौरान मेला और फूड स्टॉल नहीं लग सकेंगे। बुधवार को जिला प्रशासन ने रामलीला मंचन के लिए अनुमति देनी शुरू कर दी है। वहीं, दूसरी ओर अभी तक गाजियाबाद शहर की सबसे पुरानी रामलीला समिति ने आवेदन नहीं किया है। 

कोरोना काल के दौरान उत्तर प्रदेश सरकार ने रामलीला मंचन के लिए सहमति दे दी है। हांलाकि, यह अनुमति शर्तों और कोविड-19 नियमों के तहत दी गई है। सालों पुरानी परम्परा का निर्वाह करने के लिए रामलीला समितियां मंचन कर सकेंगी। लेकिन इस दौरान मेला और फूड स्टॉल नहीं लग सकेंगे। बुधवार को जिला प्रशासन ने रामलीला मंचन के लिए अनुमति देनी शुरू कर दी है। वहीं, दूसरी ओर अभी तक गाजियाबाद शहर की सबसे पुरानी रामलीला समिति ने आवेदन नहीं किया है। 

रामलीला मंचन के लिए एडीएम सिटी कार्यालय में 11 समितियों ने आवेदन किया है। जिसमें विजयनगर, प्रताप विहार और ट्रांस हिंडन क्षेत्र की समितियां शामिल हैं। शहर की चारों प्रमुख रामलीला समितियों ने मंचन के लिए आवेदन नहीं किया है। राजनगर और संजय नगर रामलीला समिति की ओर से जिला प्रशासन से सुन्दरकांड कराए जाने की अनुमति मांगी गई है। अभी सुल्लामल और कविनगर रामलीला समिति की ओर से कोई आवेदन नहीं किया गया है। आपको बता दें कि गाजियाबाद शहर में सुल्लामल की रामलीला सबसे पुरानी है। इसका मंचन गाजियाबाद सदर में घंटाघर के पास सैकड़ों सालों से किया जा रहा है।

हालांकि, चारों समितियां पूर्व में यह कह चुकी हैं कि कोरोना काल में समिति का लोगों के साथ रामलीला मंचन कराना सम्भव नहीं हो सकेगा। मंचन के लिए करीब एक महीने पहले से ही तैयारियां शुरू हो जाती हैं और मंचन के दौरान कम से कम 200-300 लोग मौजूद रहते हैं। इसके अलावा दर्शकों को रोक पाना भी आसान नहीं होगा। जिससे स्थिति बिगड़ सकती है।

Ghaziabad Ramleela, Ghaziabad News, Ghaziabad, Ramleela 2020, Ramleela in Ghaziabad