यमुना नदी के किनारे बसे गांवों के लिए हाई अलर्ट जारी

Updated Dec 29, 2019 04:41:02 IST | Tricity Today Chief correspondent

यमुना किनारे बसे गांवों के लिए गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी ने हाई अलर्ट जारी किया है। दरअसल, पहाड़ों पर हुई भारी बारिश के कारण हथिनी कुंड बैराज से 8 लाख क्यूसेक पानी यमुना नदी में छोड़ा गया है। जिससे यमुना किनारे बसे गांवों में बाढ़ का खतरा पैदा हो गया है।

Photo Credit: 

NOIDA: यमुना किनारे बसे गांवों के लिए गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी ने हाई अलर्ट जारी किया है। दरअसल, पहाड़ों पर हुई भारी बारिश के कारण हथिनी कुंड बैराज से 8 लाख क्यूसेक पानी यमुना नदी में छोड़ा गया है। जिससे यमुना किनारे बसे गांवों में बाढ़ का खतरा पैदा हो गया है।

जिलाधिकारी बीएन सिंह ने सिंचाई विभाग, पुलिस और राजस्व विभाग को आदेश जारी किया है कि हाईअलर्ट पर रहें। बाढ़ चौकियों पर 24 घंटे निगरानी रखने का आदेश दिया गया है। यमुना नदी के तट बांधों की पेट्रोलिंग की जा रही है। जिलाधिकारी कार्यालय में 24 घंटे का कंट्रोल रूम स्थापित करने का आदेश दिया गया है। इसके साथ ही यमुना किनारे बसे गांव वालों को चेतावनी जारी की गई है की बाढ़ के खतरे से सजग रहें।

जिलाधिकारी ने दो दिन पहले राजस्व अमले से बैठक करके किसी भी आपातकालीन स्थिति से निपटने की तैयारियों का जायजा लिया है। गौरतलब है कि गौतमबुद्ध नगर जिले में करीब 70 किलोमीटर लंबी यमुना नदी है। गौतमबुद्ध नगर की सदर, दादरी और जेवर तहसील से होकर यमुना नदी गुजरती है। नोएडा से लेकर जेवर तक करीब 100 गांव यमुना नदी के किनारे बसे हैं। इसके अलावा नोएडा और ग्रेटर नोएडा यमुना नदी की बाढ़ के लिए संवेदनशील श्रेणी में आते हैं। हालांकि गौतमबुद्ध नगर जिले में यमुना नदी में वर्ष 1977 में अंतिम बार बाढ़ आई थी।

High alert in noida, high alert in delhi, Flood in yamuna river, flood of ganga river, DM noida