केजरीवाल इस भैया दूज से एनसीआर की महिलाओं दे रहे है यह विशेष तोहफा

Updated Dec 29, 2019 04:41:02 IST | Tricity Today Reporter

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने महिलाओं से डीटीसी बस में जो मुफ्त सफर का वादा किया था उसे भाई दूज के दिन अमली जामा पहना दिया जाएगा। भाई दूज के मौके पर इस बार महिलाओं को डीटीसी बसों में हमेशा के लिए निशुल्क सफर का तोहफा मिलेगा।

केजरीवाल इस भैया दूज से एनसीआर की महिलाओं दे रहे है यह विशेष तोहफा
Photo Credit: 
प्रतीकात्मक फोटो

DELHI: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने महिलाओं से डीटीसी बस में जो मुफ्त सफर का वादा किया था उसे भाई दूज के दिन अमली जामा पहना दिया जाएगा। भाई दूज के मौके पर इस बार महिलाओं को डीटीसी बसों में हमेशा के लिए निशुल्क सफर का तोहफा मिलेगा।

29 अक्तूबर से इसे लागू करने के लिए डीटीसी ने तैयारियां पूरी होने का दावा किया है। बसों की संख्या में बढ़ोतरी के साथ-साथ महिलाओं की सुरक्षा के लिए महिला मार्शल की संख्या में भी बढ़ोतरी की जा रही है।

केजरीवाल ने कहा कि भाई दूज से हर बसों में मार्शल तैनात होंगे, महिला सुरक्षा हमारे लिए सर्वोपरि है। रोजाना करीब 30-31 लाख यात्री डीटीसी बसों में सफर करते हैं। इनमें करीब 15 फीसदी यानि पांच लाख महिलाएं सफर करती हैं। 

बसों में निशुल्क सफर का मौका देने के लिए दिल्ली सरकार के इस निर्णय को लागू करने में डीटीसी पूरी तरह जुटा है। इसके तहत पहले से संचालित होने वाली बसों को दुरस्त करने के साथ साथ बेहतर सुविधाएं देने के लिए तैयारियां की जा रही हैं।

इस स्कीम की शुरुआत से उन महिलाओं को अधिक फायदा मिलेगा, जो पहले से ही बसों में सफर कर रही हैं। माना जा रहा है कि इस सुविधा के शुरू होने से उन महिलाओं को अधिक फायदा मिलेगा जिन्हें गंतव्य तक पहुंचने के लिए सीधी रूट की बसें चल रही हैं।

पुरानी हो चुकी बसों में होने वाली खराबी के कारण अक्सर यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। डीटीसी की संख्या में बढ़ोतरी के लिए टेंडर जारी किए जा रहे हैं। इसमें 300 इलेक्ट्रिक बसों के अलावा 1000 अन्य बसें शामिल हैं।

इन बसों के सड़कों पर उतरने के बाद ही यात्रियों को दिल्ली में बेहतर परिवहन सुविधा मिल सकेगी। तब तक दिल्ली में बसों की कमी के कारण डीटीसी को चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा। पुरानी हो चुकी लो फ्लोर बसों के कहीं भी खराब हो जाने की वजह से डीटीसी बसों में सफर करने वालों की संख्या कम होती जा रही है।

दिल्ली की सड़कों पर वाहनों की भारी तादाद होने की वजह से लेागों को अक्सर बसों में सफर करने वालों को देरी की समस्या से जूझना पड़ता है। बसों की कमी और नियमित समय पर संचालन न होने की वजह से बसों में यात्रियों की संख्या पहले से कम हुई है। नौ साल पहले डीटीसी बसों में रोजाना 40 लाख से अधिक लोग सफर करते थे। मेट्रो का संचालन शुरू होने के बाद बसों में यात्रियों की संख्या कम होते होते 25 फीसदी तक कम हो गई। अब यह संख्या करीब 30 लाख है।
 

Arvind Kejriwal, Delhi-NCR, Bhaiya Dooj, DTC Bus

Trending

नोएडा
नोएडा पुलिस ने दो बिल्डर जेल भेजे, निवेशकों के करोड़ों हड़पे और फिर गैंगस्टर सुंदर भाटी और अनिल दुजाना से मरवाने की धमकी दी
नोएडा पुलिस ने दो बिल्डर जेल भेजे, निवेशकों के करोड़ों हड़पे और फिर गैंगस्टर सुंदर भाटी और अनिल दुजाना से मरवाने की धमकी दी
उत्तर प्रदेश
यूपी में बच्चों के लिए योगी आदित्यनाथ की बड़ी घोषणा, कुपोषित बच्चों के परिवार को मिलेगी गाय, 900 रुपये महीना भी मिलेंगे
यूपी में बच्चों के लिए योगी आदित्यनाथ की बड़ी घोषणा, कुपोषित बच्चों के परिवार को मिलेगी गाय, 900 रुपये महीना भी मिलेंगे
ग्रेटर नोएडा
शारदा यूनिवर्सिटी की सेमिनार में बोले जस्टिस दीपक मिश्रा- लोकतंत्र की रक्षा में न्याय पालिका ने कई मौकों पर अपनी भूमिका निभाई
शारदा यूनिवर्सिटी की सेमिनार में बोले जस्टिस दीपक मिश्रा- लोकतंत्र की रक्षा में न्याय पालिका ने कई मौकों पर अपनी भूमिका निभाई
ग्रेटर नोएडा
साठा चौरासी का आरोप- दादरी के 18 गांवों का अस्तित्व समाप्त करना बड़ी साजिश
साठा चौरासी का आरोप- दादरी के 18 गांवों का अस्तित्व समाप्त करना बड़ी साजिश
यमुना सिटी
खुशखबरी : जनवरी में आएगी छोटे आवासीय भूखंडों की योजना, जेवर एयरपोर्ट के पास बसने का एक और सुनहरा मौका
खुशखबरी : जनवरी में आएगी छोटे आवासीय भूखंडों की योजना, जेवर एयरपोर्ट के पास बसने का एक और सुनहरा मौका