EXCLUSIVE: ग्रेटर नोएडा पहुंच रहा ट्रेन में भर लुटेरों का गैंग

Updated Dec 29, 2019 04:41:02 IST | Asad Ahmed Khan/Greater Noida

ग्रेटर नोएडा में हर रोज ट्रेन में सवार होकर दिल्ली के रास्ते लुटेरों का गैंग पहुंच रहा है। गैंग जिले में महिलाओं के गले से सोने की चैन, पर्स, मोबाइल लूटता है। झपटमारी और लैपटाप चोरी करता है। पूरा गैंग लूटपाट करके शाम को फिर ट्रेन में सवार होकर बिजनौर लौट जाता है। इसी गिरोह का एक सदस्य शनिवार को गे्रटर नोएडा में कुछ छात्रों ने चोरी कर भागते हुए पकड़ लिया। पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस अब गैंग के बाकी बदमाशों की तलाश में जुट गई है।

Photo Credit: 


ग्रेटर नोएडा में हर रोज ट्रेन में सवार होकर दिल्ली के रास्ते लुटेरों का गैंग पहुंच रहा है। गैंग जिले में महिलाओं के गले से सोने की चैन, पर्स, मोबाइल लूटता है। झपटमारी और लैपटाप चोरी करता है। पूरा गैंग लूटपाट करके शाम को फिर ट्रेन में सवार होकर बिजनौर लौट जाता है। इसी गिरोह का एक सदस्य शनिवार को गे्रटर नोएडा में कुछ छात्रों ने चोरी कर भागते हुए पकड़ लिया। पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस अब गैंग के बाकी बदमाशों की तलाश में जुट गई है।


शनिवार की दोपहर ग्रेटर नोएडा के सेक्टर अल्फा-2 निवासी आदित्य कुमार पढ़ाई करके अपने रूम का दरवाजा खुला छोड़कर बाहर निकल आये। तभी उन्हें अपने रूम से दो लड़के निकलते दिखे, जो उनको देखकर भागने लगे। शोर मचाने पर वहां मौजूद दूसरे छात्रों ने लड़कों का पीछा किया और एक को दबोच लिया। जबकि उसका दूसरा साथी भागने में कामयाब हो गया। आरोपी युवक आदित्य का लैपटाप चोरी करके भाग रहा था। छात्रों ने चोर से लैपटाप लेकर उसको पुलिस के हवाले कर दिया।

 

पुलिस पूछताछ में चोर ने जो बातें बताई हैं, उन्हें सुनकर हैरत में पड़ जाएंगे। युवक की पहचान सैफ अली के रूप् में हुई है। वह बिजनौर जिले के गांव लुकमानपुरा (थाना किरतपुर) का रहने वाला है। फरार आरोपी की पहचान सैफुल के रूप में हुई है। पीड़ित आदित्य ने आरोपी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाई है।


 
हर रोज ट्रेन में पहुंचते हैं करीब 100 लुटेरे
बिजनौर जिले के लुकमानपुरा और किरतपुर समेत आसपास के गांवों के करीब 100 युवक बिजनौर से ट्रेन में सवार होते हैं। जल्दी सुबह दिल्ली पहुंचते हैं। उसके बाद कुछ दिल्ली में रुक जाते हैं और बाकी मैट्रो के रास्ते बाॅटनिकल गार्डन पहुंचकर नोएडा व ग्रेटर नोएडा में फैल जाते हैं। इसके बाद ये यहां बाइक चोरी करते हैं। महिलाओं से चैन, पर्स, मोबाइल झपट लेते हैं। वहीं, कुछ जिले में चोरी चकारी करते हुए वापस इसी रास्ते से बिजनौर पहुंच जाते हैं।

 

बिजनौर के गांवों में सामान खरीदने पहुंचते हैं दिल्ली के व्यापारी और ज्वैलर
बिजनौर के लुकमानपुरा और उसके आसपास के गांवों में लैपटाप, सोने की चैन, मोबाइल काफी सस्ते दामों में मिल जाते हैं। लुटेरे इन गांवों में पहुंचकर चोरी व लूट किये गये सामान को अपने कुछ साथियों को देते हैं। जो सामान को दूसरे लोगों को सस्ते दामों में बेच देते हैं। खास बात ये है कि लूटपाट के सामान को खरीदने के लिये दिल्ली तक के दुकानदार और ज्वैलर वहां पहुंचते हैं।

 

कासना कोतवाली इंचार्ज सुधीर कुमार त्यागी ने बताया कि एक चोर को गिरफ्तार कर लिया गया है। बाकि की तलाश शुरू कर दी गयी है। 

Greater Noida train approaching brigands of the Gang,