ब्राह्मण समागम रोकने के लिए बड़े नेता ने लगाया ऐड़ी से चोटी का जोर, अब पुलिस का इस्तेमाल करने की तैयारी

Updated Feb 29, 2020 14:48:34 IST | Tricity Today Chief Correspondent

जेवर क्षेत्र के कलुपुरा गांव में रविवार (एक मार्च) को होने जा रहे ब्राह्मण समागम को रोकने के लिए जिले के एक ब्राह्मण ने ऐड़ी से चोटी का जोर लगा रखा है। करीब एक महीने से हर हथकंडा अपनाया गया। जब कार्यक्रम रोकने में कामयाबी नहीं मिली तो अब पुलिस का इस्तेमाल करने की तैयारी है। नेता के गुर्गे पुलिस को एक एप्लिकेशन देकर कार्यक्रम में बवाल की आशंका जताएंगे। धारा 144 का हवाला देंगे और कार्यक्रम की एनओसी को कैंसिल करवाने की...

Photo Credit:  Tricity Today
Bhagwan Parshuram

जेवर क्षेत्र के कलुपुरा गांव में रविवार (एक मार्च) को होने जा रहे ब्राह्मण समागम को रोकने के लिए जिले के एक ब्राह्मण ने ऐड़ी से चोटी का जोर लगा रखा है। करीब एक महीने से हर हथकंडा अपनाया गया। जब कार्यक्रम रोकने में कामयाबी नहीं मिली तो अब पुलिस का इस्तेमाल करने की तैयारी है। नेता के गुर्गे पुलिस को एक एप्लिकेशन देकर कार्यक्रम में बवाल की आशंका जताएंगे। धारा 144 का हवाला देंगे और कार्यक्रम की एनओसी को कैंसिल करवाने की साजिश रची जा रही है।

एक मार्च को कलुपुरा गांव में ब्राह्मण समागम आयोजित किया जा रहा है। जिसमें पूरे भारत से ब्राह्मणों को आमंत्रित किया गया है। समाज के लोग 10 मुद्दों पर चर्चा करेंगे। जिले के बड़े नेता किसी भी कीमत पर इस कार्यक्रम को होना देना नहीं चाहते हैं। इसके लिए सबसे पहले एक गैर ब्राह्मण जनप्रतिनिधि का नाम घसीटा गया। कहा गया कि वह जनप्रतिनिधि इस कार्यक्रम में फंडिंग कर रहे हैं।

इससे भी बात नहीं बनी तो फिर एक ब्राह्मण संगठन को आगे करके फर्जी निमंत्रण पत्र छपवाकर बंटवाए गए। फिर उस संगठन के नेता की ओर से समागम रद्द होने की प्रेस विज्ञप्ति जारी करवाई गई। कई अखबारों में खबर भी पब्लिश हो गईं। इसके बाद समागम को समर्थन दे रहे ब्राह्मणों को बुलाकर गालियां दी गईं। धमकाया गया, किसी को ठेकों का लालच दिया गया और किसी को पैसे देकर बैठा दिया गया। इस सबके बावजूद भी जब ब्राह्मण समागम रद्द नहीं हुआ तो अब नई साजिश रची गई है।

विश्वसनीय सूत्रों से जानकारी मिली है कि नेताजी ने आज सुबह रबूपुरा थाने में फोन किया और किसी भी सूरत में कार्यक्रम नहीं होने देने की बात की। पुलिस की ओर से कहा गया कि वह लिखित शिकायत के बिना मामले में संज्ञान नहीं ले सकते। इसके बाद नेता के गुर्गों ने एक एप्लिकेशन टाइप करके मोबाइल फोन पर व्हाट्सएप की। नेता ने बाकायदा एप्लिकेशन पढ़कर डिक्टेशन दी। 

सूत्रों के मुताबिक एप्लिकेशन में लिखा गया है कि कार्यक्रम को लेकर तीन गुट हैं। एक गुट पहले ही कार्यक्रम से हट चुका है। दूसरा गुट कार्यक्रम नहीं करना चाहता है और तीसरा गुट कार्यक्रम करना चाहता है। अब इस साजिश के जरिए कार्यक्रम को रद्द करवाने का प्रयास किया जा रहा है।

जानकारी यह भी मिल रही है कि नेताजी इससे आगे का प्लान भी तैयार कर चुके हैं। अगर कार्यक्रम होता है तो वहां अपने भाड़े के लोगों को भेजने की कोशिश करेंगे। आयोजकों पर सवाल उठाएंगे।

Jewar, Brahman Samagam, Yamuna City, Padit, Bhagwan Parshuram, Parshuram