BREAKING: विकास दुबे के घर से एके-47 और उसके साथी के घर से इंसास राइफलें बरामद, 50 हजार का इनामी फरार साथी गिरफ्तार

BREAKING: विकास दुबे के घर से एके-47 और उसके साथी के घर से इंसास राइफलें बरामद, 50 हजार का इनामी फरार साथी गिरफ्तार

Google Image | विकास दुबे के घर से एके-47 और उसके साथी के घर से इंसास राइफलें बरामद

विकास दुबे और पुलिस के बीच हुए एनकाउंटर कांड में कानपुर पुलिस ने सोमवार की देर रात बड़ी कामयाबी हासिल की है। दो जुलाई की रात आठ पुलिसकर्मियों की हत्या में शामिल विकास दुबे के साथी शशिकांत पांडे को गिरफ्तार कर लिया गया है। कानपुर पुलिस ने शशिकांत पांडे की निशानदेही पर विकास दुबे के घर से एके-47 और खुद शशिकांत के घर से इंसास राइफल बरामद की हैं। यह दोनों हथियार दो जुलाई की रात मुठभेड़ के वक्त पुलिसकर्मियों से लूटे गए थे।

कानपुर नगर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर सोमवार की देर रात करीब 2:50 पर रेल बाजार, शिवपुरी थानों की पुलिस और एसओजी की टीम ने संयुक्त अभियान में शशिकांत को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है। पुलिस उसे गिरफ्तार करने के बाद बिकरु गांव लेकर पहुंची। उसकी निशानदेही पर विकास दुबे के घर से एके-47 राइफल और उसके घर से इंसास राइफल बरामद की गई है।

शशिकांत पांडेय ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि 2 जुलाई की रात पुलिस कर्मियों की हत्या में विकास दुबे, अमर दुबे, अतुल दुबे, प्रेम कुमार, प्रभात मिश्रा, बउअन, हीरू, शिवम, जिलेदार, रामसिंह, रमेश चन्द्र, गोपाल सैनी, अखिलेश मिश्रा, विपुल, श्यामू बाजपेयी, राजेन्द्र मिश्रा, बालगोविंद दुबे, दयाशंकर अग्निहोत्री आदि लोग शामिल थे। इन सभी लोगों ने मिलकर पुलिस कर्मियों की हत्या की है। इनमें से विकास दुबे और अमर दुबे समेत कई लोग पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारे जा चुके हैं।

आपको बता दें कि दो जुलाई की रात गैंगस्टर विकास दुबे को गिरफ्तार करने के लिए बिल्हौर के डीएसपी देवेंद्र मिश्रा पुलिस टीम के साथ बिकरु गांव पहुंचे थे। रात में विकास दुबे और उसके साथियों ने घात लगाकर पुलिसकर्मियों पर ताबड़तोड़ फायरिंग की थी। जिसमें डीएसपी देवेंद्र मिश्रा समेत आठ पुलिसकर्मी मारे गए थे। इसके बाद यूपी एसटीएफ, एटीएस और उत्तर प्रदेश पुलिस के संयुक्त अभियान में विकास दुबे और अमर दुबे समेत 5 लोग मुठभेड़ में मारे गए थे। विकास दुबे के कई साथियों को पुलिस अब तक गिरफ्तार करके जेल भेज चुकी है।

अन्य खबरे

Copyright © 2019-2020 Tricity. All Rights Reserved.