दनकौर क्षेत्र के गांवों के मुख्य रास्तों का बुरा हाल, यमुना प्राधिकरण के सीईओ को ज्ञापन दिया

Updated Jul 09, 2020 21:39:48 IST | Rakesh Tyagi

यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के दायरे वाले गांवों में मुख्य मार्गों का बुरा हाल है। अधिकतर गांवों के मुख्य रास्ते गड्ढा और कीचड़ युक्त हैं। जिन रास्तों से ग्रामीणों को आने-जाने में भारी समस्या का सामना...

दनकौर क्षेत्र के गांवों के मुख्य रास्तों का बुरा हाल, यमुना प्राधिकरण के सीईओ को ज्ञापन दिया
Photo Credit:  Tricity Today
यमुना प्राधिकरण के सीईओ को ज्ञापन दिया
Key Highlights
करप्शन फ्री इंडिया ने सीईओ को ज्ञापन देकर संपर्क मार्ग बनाने की मांग की
बताया कि प्राधिकरण क्षेत्र के गांवों में मुख्य सड़कों की हालत बहुत खराब है
लोगों के लिए पैदल चलना भी मुश्किल है और रोजाना दुर्घटनाएं हो रही हैं
सीओ ने कहा, विधायक के प्रस्ताव पर ज्यादातर गांव में सड़के बनाई जा रही हैं

यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के दायरे वाले गांवों में मुख्य मार्गों का बुरा हाल है। अधिकतर गांवों के मुख्य रास्ते गड्ढा और कीचड़ युक्त हैं। जिन रास्तों से ग्रामीणों को आने-जाने में भारी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। इन सभी समस्याओं को देखते हुए करप्शन फ्री इंडिया के पदाधिकारी यमुना प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी डॉक्टर अरुणवीर सिंह से मिले और ज्ञापन सौंपकर सड़कों गड्ढा मुक्त करने की मांग की है।

करप्शन फ्री इंडिया संगठन के संस्थापक चौधरी प्रवीण भारतीय ने बताया कि यमुना प्राधिकरण के अंतर्गत आने वाले अधिकतर गांवों के मुख्य मार्ग गड्ढा और कीचड़ युक्त हैं। इससे ग्रामीणों को आने-जाने में भारी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। इन गांवों की समस्याओं को देखते हुए संगठन के बैनर तले प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक डॉक्टर अरुणवीर सिंह को ज्ञापन दिया है। गांव की समस्याओं का समाधान करने की मांग की गई है।

चौधरी प्रवीण भारतीय ने बताया कि दनकौर क्षेत्र के अट्टा गुजरान, नौरंगपुर, महमूदपुर, डेरी गुजरान आदि गांवों के मुख्य रास्तों में कीचड़ भरा हुआ है। जिस कारण आए दिन ग्रामीण इन रास्तों में गिर कर चोटिल हो रहे हैं। बरसात के इस मौसम में संक्रमण रोग फैलने का भी खतरा बना हुआ है।

संगठन की कोर कमेटी के सदस्य संजय भैय्या ने बताया कि अट्टा गुजरान से यमुना एक्सप्रेस वे तक आने वाले मार्ग की हालत बहुत खस्ता है। मार्ग पर पैदल चलने पर भी लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि गलगोटिया यूनिवर्सिटी से बाईपास रोड, जो बिजली घर पर जुड़ता है, इस सड़क में भी गहरे-गहरे गड्ढे बने हुए हैं। आए दिन इन गड्ढों की वजह से दुर्घटनाएं हो रही हैं। लोग बहुत परेशान हैं। उन्होंने बताया कि प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी डॉ अरुणवीर सिंह ने आश्वासन दिया है कि तत्काल समस्याओं का समाधान किया जाएगा।

यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी डॉ अरुणवीर सिंह ने इस बारे में बताया कि इनमें से ज्यादातर गांवों के मुख्य मार्गों को दोबारा बनाने के लिए जेवर के विधायक ठाकुर धीरेंद्र सिंह के प्रस्ताव पर टेंडर प्रक्रिया चल रही है। अभी बरसात होने के कारण काम रुका हुआ है। जैसे ही बरसात खत्म होगी, यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के दायरे में पड़ने वाले सभी गांवों के संपर्क मार्ग दोबारा बना दिए जाएंगे।

Yamuna Authority, Yamuna Authority News, Yamuna News, Dr Arunvir Singh IAS, Dankour Village, Yamuna City Village