BIG NEWS : यमुना प्राधिकरण ने 46 कंपनियों को दी जमीन, 757 करोड़ का निवेश होगा, 14 हजार को मिलेगा रोजगार, पूरी जानकारी

Updated Oct 15, 2020 20:05:14 IST | Mayank Tawer

यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण ने गुरुवार को बड़ी उपलब्धि हासिल की है। प्राधिकरण ने गुरुवार को एकसाथ...

BIG NEWS : यमुना प्राधिकरण ने 46 कंपनियों को दी जमीन, 757 करोड़ का निवेश होगा, 14 हजार को मिलेगा रोजगार, पूरी जानकारी
Photo Credit:  Google Image
Yamuna Authority has allotted land to 46 companies
Key Highlights
- 5 और 10 हजार वर्ग मीटर के 46 भूखंडों का प्राधिकरण ने आवंटन किया
- एमएसएमई, अपैरल और हैंडीक्राफ्ट पार्क के लिए आवंटन किया गया है

यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण ने गुरुवार को बड़ी उपलब्धि हासिल की है। प्राधिकरण ने गुरुवार को एकसाथ 46 कम्पनियों को औद्योगिक भूखंडों का आवंटन कर दिया है। ये आवंटन सेक्टर-29 में किए गए हैं। इससे प्राधिकरण क्षेत्र में 757 करोड़ रुपये का निवेश होगा। साथ ही करीब 14,702 लोगों को रोजगार मिलेगा। पांच साल के भीतर सभी को अपनी इकाई संचालित करनी होगी। अगर समय पर इकाई शुरू नहीं की तो आवंटन निरस्त किया जा सकता है।

जेवर एयरपोर्ट आने के बाद यमुना प्राधिकरण क्षेत्र निवेशकों की पसंद बना हुआ है। प्राधिकरण ने गुरुवार को सेक्टर-29 में 46 औद्योगिक भूखंडों का आवंटन किया है। 5 हजार वर्ग मीटर के 40 भूखंडों के लिए 284 आवेदन आए थे। यमुना प्राधिकरण ने साक्षात्कार के जरिये भूखंडों का आवंटन कर दिया। इसमें एमएसएमई में 35, अपैरल में 2 और हैंडीक्राफ्ट में 3 भूखंड आवंटित किए गए हैं। इसके साथ 10 हजार वर्ग मीटर के 6 भूखंड आवंटित किए गए हैं। इसमें से 3 अपैरल, 2 हैंडीक्राफ्ट और 1 भूखंड फार्मा के लिए है। प्राधिकरण के सीईओ डॉ.अरुणवीर सिंह ने बताया कि 46 भूखंडों में 2.7 लाख वर्ग मीटर जमीन आवंटित की गई है।

स्थानीय लोगों को रोजगार पर जोर रहेगा

यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में 46 इकाइयों के लगने से करीब 14,702 लोगों को रोजगार मिलेगा। सबसे अधिक रोजगार एमएसएमई और अपैरल में मिलने की उम्मीद है। प्राधिकरण ने 30 प्रतिशत रोजगार स्थानीय लोगों को देने के लिए नियम बनाया है। आवंटन की शर्तों में यह शामिल है। ताकि बाद में कंपनियां इससे मुकर ना जाएं। यमुना प्राधिकरण का प्रयास है कि किसानों के बच्चों को घर के पास रोजगार मिल सके।

पांच साल तक आवंटी बेच नहीं पाएंगे भूखंड

गुरुवार को जिन 46 औद्योगिक भूखंडों का आवंटन किया है। इससे प्राधिकरण क्षेत्र में करीब 757 करोड़ रुपये का निवेश होगा। नये नियमों के मुताबिक, 5 साल में हर हाल इकाई लगानी होगी। साथ ही 5 साल तक भूखंड बेच नहीं पाएंगे। 51 प्रतिशत हिस्सेदारी अपने पास रखनी होगी।
 
नौ अक्टूबर को 700 भूखंड आवंटित हुए थे

इससे पहले 9 अक्टूबर को यमुना प्राधिकरण ने एमएसएमई, अपैरल, हैंडीक्राफ्ट और टॉय सिटी के लिए भूखंडों का आवंटन किया था। ये भूखंड 4 हजार मीटर से कम के थे और ड्रा के जरिये आवंटन हुआ था। यमुना प्राधिकरण ने 700 भूखंड आवंटित किए थे। इसमें से 63 लोगों को स्टार्टअप के लिए भूखंड आवंटित किए गए थे। इसमें 177.29 एकड़ जमीन आवंटित की गई थी। यमुना प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी डॉ.अरुणवीर सिंह ने बताया कि 5 और 10 हजार वर्ग मीटर के लिए 46 भूखंडों का आवंटन किया गया है। ये आवंटन सेक्टर-29 में किया गया है। इससे निवेश आएगा और रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे।

Yamuna Authority, Yamuna Authority news, Yamuna city news, Jewar Airport, investment