Good News: काम और बाजार में छवि के आधार पर बिल्डरों की रैंकिंग होगी, यूपी रेरा ने योजना पर काम शुरू किया

Updated Apr 26, 2020 09:39:24 IST | Tricity Reporter

उत्तर प्रदेश रियल एस्टेट विनियामक प्राधिकरण (यूपी-रेरा) ने बिल्डरों और आवास परियोजनाओं को रैंक करने का निर्णय लिया है। इसके लिए प्राधिकरण...

Good News: काम और बाजार में छवि के आधार पर बिल्डरों की रैंकिंग होगी, यूपी रेरा ने योजना पर काम शुरू किया
Photo Credit:  Tricity Today
प्रतीकात्मक फोटो

उत्तर प्रदेश रियल एस्टेट विनियामक प्राधिकरण (यूपी-रेरा) ने बिल्डरों और आवास परियोजनाओं को रैंक करने का निर्णय लिया है। इसके लिए प्राधिकरण द्वारा विकसित एक प्रारूप के लिए डेवलपर्स से सुझाव आमंत्रित किए हैं। यूपी-रेरा ने कहा कि वार्षिक रैंकिंग होम बॉयर्स और निवेशकों को एक मनमाफिक अच्छा विकल्प चुनने में मदद करेगी।

नवंबर 2018 में नियामक प्राधिकरण ने पहली बार बिल्डरों और आवास परियोजनाओं को रैंक करने का निर्णय लिया था। हालांकि, अब तक प्राधिकरण योजना को परवान नहीं चढ़ा सका है। अधिकारियों ने कहा, फ्रेमवर्क ड्राफ्ट और अन्य तौर-तरीकों को अंतिम रूप देने में समय लगा।

23 अप्रैल को प्राधिकरण ने अपने पोर्टल पर www.bu-rera.in पर मसौदे की एक प्रति होमबॉयर्स सहित इच्छुक हितधारकों के लिए प्रकाशित की थी। उसी के माध्यम से जानकारी और सुझाव मांगे थे। प्राधिकरण ने कहा कि अब सभी सुझाव 13 मई, 2020 तक पोर्टल पर दिए जा सकते हैं। यूपी-रेरा की रूपरेखा पर डेवलपर्स के साथ बातचीत करने की भी योजना है, जो सोमवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित की जाएगी।

नोएडा, ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण, यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (YEIDA) और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में अन्य अधिकारियों के साथ परामर्श के बाद बिल्डरों और परियोजनाओं को रैंक करने की रूपरेखा तैयार की गई थी। नोएडा, ग्रेटर नोएडा और यमुना एक्सप्रेसवे के साथ कम से कम 600 निर्माणाधीन रियल्टी परियोजनाएं हैं।

अधिकारियों ने कहा कि आवास परियोजनाओं की रैंकिंग खरीदारों को काफी मदद करेगी। "रैंकिंग मुख्य रूप से खरीदारों को किसी भी संपत्ति को खरीदने से पहले तर्कसंगत विकल्प उपलब्ध करवाएगी। यूपी-रेरा के सदस्य बलविन्दर कुमार ने कहा कि हम इस तरह की रैंकिंग प्रणाली वाले पहले निकाय होंगे।

नियामक प्राधिकरण डेवलपर्स और आवास परियोजनाओं को संगठनात्मक संरचना, प्रमाण पत्र, ट्रैक रिकॉर्ड, नियमों और विनियमों के पालन और पुराने ग्राहकों से प्रतिक्रिया के आधार पर रैंक देगा। अधिकारियों के अनुसार, प्राधिकरण परियोजनाओं के क्रियान्वयन में प्रमोटर के ट्रैक रिकॉर्ड का भी मूल्यांकन करेगा और आवास परियोजनाओं से जुड़े संगठनात्मक, कानूनी और वित्तीय जोखिमों का विश्लेषण करेगा।

1 से 5 तक ग्रेडिंग की जाएगी

यूपी-रेरा में पंजीकृत परियोजनाओं को 1 से 5 तक ग्रेड दिया जाएगा। प्रमोटरों को प्राधिकरण के पोर्टल पर अपने आवास परियोजनाओं का विवरण प्रस्तुत करना होगा। इसके बाद नियामक परियोजनाओं का मूल्यांकन करेगा और ग्रेड को अंतिम रूप देने से पहले फीडबैक के लिए पोर्टल पर ग्रेड प्रकाशित करेगा। सभी परियोजनाओं को सालाना रैंक दिया जाएगा।

नेशनल रियल एस्टेट डेवलपर्स काउंसिल (उत्तर) के अध्यक्ष आरके अरोड़ा ने कहा, “परियोजनाओं और प्रमोटरों की ग्रेडिंग करके होमबॉयर्स के पास डेवलपर्स तक पहुंचने के लिए अधिक पारदर्शी प्रणाली होगी। प्रॉपर्टी खरीदते समय खरीदार त्वरित निर्णय ले सकते हैं और हम आशा करते हैं कि मांग बढ़ेगी, क्योंकि इससे खरीदारों का सिस्टम पर अधिक भरोसा होगा।"

Builders in noida, UP RERA, Noida, Greater Noida, Gautam Buddh Nagar, Uttar Pradesh, Real Estate Sector, Supertech Builder, CREDAI, Delhi NCR, Noida Authority, Greater Noida Authority, Yamuna Authority, YEIDA, GNIDA

Trending

नोएडा
नोएडा पुलिस ने दो बिल्डर जेल भेजे, निवेशकों के करोड़ों हड़पे और फिर गैंगस्टर सुंदर भाटी और अनिल दुजाना से मरवाने की धमकी दी
नोएडा पुलिस ने दो बिल्डर जेल भेजे, निवेशकों के करोड़ों हड़पे और फिर गैंगस्टर सुंदर भाटी और अनिल दुजाना से मरवाने की धमकी दी
उत्तर प्रदेश
यूपी में बच्चों के लिए योगी आदित्यनाथ की बड़ी घोषणा, कुपोषित बच्चों के परिवार को मिलेगी गाय, 900 रुपये महीना भी मिलेंगे
यूपी में बच्चों के लिए योगी आदित्यनाथ की बड़ी घोषणा, कुपोषित बच्चों के परिवार को मिलेगी गाय, 900 रुपये महीना भी मिलेंगे
ग्रेटर नोएडा
शारदा यूनिवर्सिटी की सेमिनार में बोले जस्टिस दीपक मिश्रा- लोकतंत्र की रक्षा में न्याय पालिका ने कई मौकों पर अपनी भूमिका निभाई
शारदा यूनिवर्सिटी की सेमिनार में बोले जस्टिस दीपक मिश्रा- लोकतंत्र की रक्षा में न्याय पालिका ने कई मौकों पर अपनी भूमिका निभाई
ग्रेटर नोएडा
साठा चौरासी का आरोप- दादरी के 18 गांवों का अस्तित्व समाप्त करना बड़ी साजिश
साठा चौरासी का आरोप- दादरी के 18 गांवों का अस्तित्व समाप्त करना बड़ी साजिश
यमुना सिटी
खुशखबरी : जनवरी में आएगी छोटे आवासीय भूखंडों की योजना, जेवर एयरपोर्ट के पास बसने का एक और सुनहरा मौका
खुशखबरी : जनवरी में आएगी छोटे आवासीय भूखंडों की योजना, जेवर एयरपोर्ट के पास बसने का एक और सुनहरा मौका

Most Viewed

ग्रेटर नोएडा वेस्ट
BIG NEWS : सुपरटेक और अजनारा समेत आठ बिल्डरों के 30 बैंक खाते कुर्क, 70 बिल्डरों से 150 करोड़ और वसूलेगा गौतमबुद्ध नगर प्रशासन
BIG NEWS : सुपरटेक और अजनारा समेत आठ बिल्डरों के 30 बैंक खाते कुर्क, 70 बिल्डरों से 150 करोड़ और वसूलेगा गौतमबुद्ध नगर प्रशासन
ग्रेटर नोएडा वेस्ट
ग्रेटर नोएडा वेस्ट के लोगों के लिए बड़ी खबर, 65 करोड़ रुपये का तोहफा मिलेगा, पूरी जानकारी
ग्रेटर नोएडा वेस्ट के लोगों के लिए बड़ी खबर, 65 करोड़ रुपये का तोहफा मिलेगा, पूरी जानकारी
यमुना सिटी
फिल्म सिटी का खाका खींचने के लिए 18 नवंबर को होगा मंथन, देश-दुनिया के विशेषज्ञ जुटेंगे
फिल्म सिटी का खाका खींचने के लिए 18 नवंबर को होगा मंथन, देश-दुनिया के विशेषज्ञ जुटेंगे
यमुना सिटी
BIG BREAKING : यमुना प्राधिकरण के 96 गांवों के लिए खुशखबरी, जमीन का मुआवजा बढ़ाने का ऐलान, एक लाख किसानों को मिलेगा लाभ, गावों की पूरी लिस्ट
BIG BREAKING : यमुना प्राधिकरण के 96 गांवों के लिए खुशखबरी, जमीन का मुआवजा बढ़ाने का ऐलान, एक लाख किसानों को मिलेगा लाभ, गावों की पूरी लिस्ट
ग्रेटर नोएडा वेस्ट
ग्रेटर नोएडा वेस्ट में गौड़ चौक को पूरी तरह बदला जाएगा, ऊपर से मेट्रो और नीचे से गुजरेंगी
ग्रेटर नोएडा वेस्ट में गौड़ चौक को पूरी तरह बदला जाएगा, ऊपर से मेट्रो और नीचे से गुजरेंगी