प्रदेशभर में कांग्रेसी गिरफ्तार, नोएडा, लखनऊ और वाराणसी में हुई गिरफ्तारियां

प्रदेशभर में कांग्रेसी गिरफ्तार, नोएडा, लखनऊ और वाराणसी में हुई गिरफ्तारियां

Tricity Today | प्रदेशभर में कांग्रेसी गिरफ्तार, नोएडा, लखनऊ और वाराणसी में हुई गिरफ्तारियां

गौतमबुद्ध नगर, बिजनौर और सहारनपुर के जिला अध्यक्षों को पुलिस ने गिरफ्तार कियाgangaप्रदेश अध्यक्ष अजय सिंह लल्लू की गिरफ्तारी के खिलाफ कांग्रेस ने प्रदर्शन किए gangaपिछले 25 दिनों से प्रदेश अध्यक्ष जेल में बंद है सरकार पर उत्पीड़न का आरोप

उत्तर प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू की 25 दिनों से गिरफ्तारी के विरोध में शनिवार को कांग्रेसियों ने प्रदेशभर में प्रदर्शन किया। नोएडा गौतमबुद्ध नगर, बिजनौर, वाराणसी और लखनऊ समेत तमाम जिलों में कांग्रेसियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। गौतमबुद्ध नगर और नोएडा के जिला अध्यक्षों को कई घंटों पुलिस ने हिरासत में रखा। बाद में छोड़ दिया गया।

कांग्रेस के नेताओं का कहना है कि प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार सिंह को गरीबों, प्रवासी श्रमिकों को मदद करने के अपराध में पिछले 25 दिनों से योगी सरकार ने जेल में डाल रखा है। उनकी गिरफ्तारी राजनीतिक दुर्भावना से प्रेरित है। लल्लू की रिहाई के लिए प्रदेश के सभी जिलों में कांग्रेस कार्यकर्ता और नेता महात्मा गांधी के प्रतिमा के सामने सुबह 11 बजे से मौन प्रतिवाद कर रहे थे।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस के महासचिव वीरेंद्र सिंह गुड्डू ने कहा, उप्र सरकार इतनी भयभीत है कि उसे मौन प्रतिवाद से भी डर लगता है। बड़े पैमाने पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं की गिरफ्तारी हो रही हैं। लखनऊ, वाराणसी, बिजनौर, गौतबुद्ध नगर, हापुड़, बुलन्दशहर, अमरोहा, फर्रुखाबाद, सुल्तानपुर और सहारनपुर जिलों में कार्यकर्ता गिरफ्तार हुए हैं। 

वाराणसी में अजय राय समेत सैकड़ों कार्यकर्ता गिरफ्तार किए गए हैं। लखनऊ में सैकड़ों कार्यकर्ता गिरफ्तार हुए हैं। वीरेंद्र सिंह गुड्डू ने कहा, उत्तर प्रदेश सरकार की दमनकारी नीति के खिलाफ हम लोगों का विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा। कांग्रेस गरीब के साथ खड़ी है। योगी आदित्यनाथ सरकार भले ही कितना उत्पीड़न कर ले, हम आम आदमी, गरीब और मजदूर का पक्ष लेने से पीछे नहीं हटेंगे।

आपको बता दें कि प्रवासी मजदूरों को घर भेजने के लिए कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश सरकार को 1000 बसें देने की पेशकश की थी। जिसके बाद राज्य सरकार और कांग्रेस के बीच गतिरोध उत्पन्न हो गया। इसी सिलसिले में प्रियंका गांधी के निजी सचिव संदीप सिंह और उत्तर प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कुमार सिंह के खिलाफ आगरा और लखनऊ में मुकदमे दर्ज करवाए गए थे। अजय कुमार सिंह को निषेधाज्ञा और लॉकडाउन का उल्लंघन करने के आरोप में आगरा पुलिस ने गिरफ्तार किया था।

उसके बाद लखनऊ पुलिस अजय कुमार सिंह को आगरा से लेकर गई और जेल भेज दिया। उन पर बसें उपलब्ध करवाने में धोखाधड़ी, जालसाजी और सरकार को गुमराह करने के आरोप लगाए गए थे। तब से करीब 25 दिन हो चुके हैं लल्लू जेल में बंद हैं। 

दूसरी ओर कांग्रेस इसे राजनीतिक दुर्भावना से प्रेरित गिरफ्तारी बता रही है। कांग्रेस के नेता लगातार सोशल मीडिया और दूसरे माध्यमों पर विरोध जता रहे हैं। इसी सिलसिले में शनिवार को उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में कांग्रेसियों ने विरोध जताया। महात्मा गांधी की मूर्तियों के सामने बैठकर मौन विरोध प्रदर्शन किया है।

अन्य खबरे

Copyright © 2019-2020 Tricity. All Rights Reserved.