BIG NEWS: आईपीएस अजयपाल शर्मा के खिलाफ लखनऊ में एफआईआर दर्ज करवाई गई

Updated Mar 08, 2020 22:39:24 IST | Mayank Tawer

गौतमबुद्ध नगर के पुलिस कप्तान रह चुके डॉ. अजयपाल शर्मा के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई गई है। यह एफआईआर लखनऊ के हजरतगंज थाने में दर्ज करवाई गई है। यह मुकदमा दीप्ति शर्मा नामक महिला की ओर से दर्ज करवाया...

BIG NEWS: आईपीएस अजयपाल शर्मा के खिलाफ लखनऊ में एफआईआर दर्ज करवाई गई
Photo Credit:  Tricity Today
IPS Ajaypal Sharma

गौतमबुद्ध नगर के पुलिस कप्तान रह चुके डॉ. अजयपाल शर्मा के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई गई है। यह एफआईआर लखनऊ के हजरतगंज थाने में दर्ज करवाई गई है। यह मुकदमा दीप्ति शर्मा नामक महिला की ओर से दर्ज करवाया गया है। दूसरी ओर निलम्बित आईपीएस अधिकारी वैभव कृष्ण की शिकायत के आधार पर स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम भी अजयपाल शर्मा के खिलाफ अपनी रिपोर्ट सौंप चुकी है। इस मामले में कभी भी कार्रवाई हो सकती है।

नोएडा के पूर्व एसएसपी वैभव कृष्णा ने अजय पाल शर्मा पर गम्भीर आरोप लगाते हुए शासन से शिकायत की थी। जिसके बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जांच का आदेश दिया। एसआईटी का गठन किया गया और फरवरी में जांच पूरी करके एसआईटी ने सीएम को रिपोर्ट दी। अब इस मामले में शासन को कार्रवाई का निर्णय लेना है। लेकिन इससे पहले ही रविवार को लखनऊ के हजरतगंज थाने में दीप्ति शर्मा नाम की महिला ने एफआईआर क्राइम नंबर 101/2020 दर्ज करवाई है। जिसमें डॉ. अजयपाल शर्मा के खिलाफ आईपीसी की धारा 409, 201, 120 बी के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

इस मामले में हुई अजयपाल शर्मा के खिलाफ जांच
गौतमबुद्ध नगर में एसएसपी रहते हुए IPS अजयपाल शर्मा पर कुछ पत्रकारों के साथ सांठगांठ करके पोस्टिंग और मुकदमों में जांच से जुड़ी गड़बड़ियां करने के आरोप लगे। अजयपाल शर्मा का गौतमबुद्ध नगर से तबादला हो गया और उनकी जगह शासन ने वैभव कृष्ण को कप्तान बनाकर भेजा। वैभव कृष्ण ने पत्रकारों को रंगे हाथों गिरफ्तार करके जेल भेजा। उनके मोबाइल फोन से बरामद डेटा के आधार पर वैभव कृष्ण ने डीजीपी और शासन से शिकायत की। मामले में जांच नहीं हुई। शासन में वैभव कृष्ण की रिपोर्ट को दबा लिया गया। दूसरी ओर वैभव कृष्ण की एक वीडियो वायरल कर दी गई।

इसके बाद वैभव कृष्ण ने इस मामले में पत्रकार वार्ता की। इसी दौरान उनकी ओर से शासन को भेजी गई रिपोर्ट सार्वजनिक हो गई। जिसके चलते उन्हें तत्कालीन डीजीपी ने कोड ऑफ कंडक्ट तोड़ने का दोषी बताते हुए निलम्बित कर दिया। लेकिन, मामला नेशनल मीडिया में आ गया तो खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वैभव कृष्ण की रिपोर्ट तलब कर ली। इस रिपोर्ट में यूपी के 5 आईपीएस अफसरों पर भ्रष्टाचार के आरोप थे। सीएम के आदेश पर एसआईटी गठित कर दी गई। एसआईटी ने 3 आईपीएस अफसरों को क्लीन चिट दी लेकिन अजयपाल शर्मा के खिलाफ कार्रवाई की शिकायत की। अब इसी रिपोर्ट के आधार पर गृह विभाग ने आईपीएस डॉ. अजयपाल शर्मा के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई है। IPS अजयपाल शर्मा पर आईपीसी की धाराओं 409 (गबन), 201 (साक्ष्य छिपाना) और 120B (आपराधिक षड्यंत्र) के आरोपों में मुकदमा दर्ज हुआ है।

IPS Ajaypal Sharma, Vaibhav Krishna IPS, UP Police, SSP Noida

Trending

नोएडा
नोएडा पुलिस ने दो बिल्डर जेल भेजे, निवेशकों के करोड़ों हड़पे और फिर गैंगस्टर सुंदर भाटी और अनिल दुजाना से मरवाने की धमकी दी
नोएडा पुलिस ने दो बिल्डर जेल भेजे, निवेशकों के करोड़ों हड़पे और फिर गैंगस्टर सुंदर भाटी और अनिल दुजाना से मरवाने की धमकी दी
उत्तर प्रदेश
यूपी में बच्चों के लिए योगी आदित्यनाथ की बड़ी घोषणा, कुपोषित बच्चों के परिवार को मिलेगी गाय, 900 रुपये महीना भी मिलेंगे
यूपी में बच्चों के लिए योगी आदित्यनाथ की बड़ी घोषणा, कुपोषित बच्चों के परिवार को मिलेगी गाय, 900 रुपये महीना भी मिलेंगे
ग्रेटर नोएडा
शारदा यूनिवर्सिटी की सेमिनार में बोले जस्टिस दीपक मिश्रा- लोकतंत्र की रक्षा में न्याय पालिका ने कई मौकों पर अपनी भूमिका निभाई
शारदा यूनिवर्सिटी की सेमिनार में बोले जस्टिस दीपक मिश्रा- लोकतंत्र की रक्षा में न्याय पालिका ने कई मौकों पर अपनी भूमिका निभाई
ग्रेटर नोएडा
साठा चौरासी का आरोप- दादरी के 18 गांवों का अस्तित्व समाप्त करना बड़ी साजिश
साठा चौरासी का आरोप- दादरी के 18 गांवों का अस्तित्व समाप्त करना बड़ी साजिश
यमुना सिटी
खुशखबरी : जनवरी में आएगी छोटे आवासीय भूखंडों की योजना, जेवर एयरपोर्ट के पास बसने का एक और सुनहरा मौका
खुशखबरी : जनवरी में आएगी छोटे आवासीय भूखंडों की योजना, जेवर एयरपोर्ट के पास बसने का एक और सुनहरा मौका