गौर सिटी से गायब हुए गौरव शर्मा वडोदरा में मिले, इस कारण वहां पहुंचे

Updated Jan 12, 2020 22:23:22 IST | Tricity Today Reporter

ग्रेटर नोएडा वेस्ट की हाउसिंग सोसायटी गौर सिटी फिफ्थ एवेन्यू से 10 जनवरी को लापता हुए गौरव शर्मा मिल गए हैं। ग्रेटर नोएडा पुलिस ने बताया कि गौरव शर्मा को वापस उनके घर रिश्तेदार लेकर लौट रहे हैं...

Photo Credit:  Tricity Today
Gaurav Sharma

ग्रेटर नोएडा वेस्ट की हाउसिंग सोसायटी गौर सिटी फिफ्थ एवेन्यू से 10 जनवरी को लापता हुए गौरव शर्मा मिल गए हैं। ग्रेटर नोएडा पुलिस ने बताया कि गौरव शर्मा को वापस उनके घर रिश्तेदार लेकर लौट रहे हैं। पुलिस ने जानकारी दी है कि गौरव शर्मा वडोदरा के एक मेडिटेशन सेंटर में भर्ती हो गए थे। गौरव चंदेल हत्याकांड के बाद गौर सिटी के ही रहने वाले पूर्व सीनियर मैनेजर गौरव शर्मा रहस्यमय परिस्थितियों में गायब हो गए थे।

10 जनवरी की सुबह वह अपने घर से बेटे को स्कूल छोड़ने गए थे और फिर घर वापस नहीं लौटे। गौरव शर्मा के बड़े भाई सौरव शर्मा ने पुलिस को जानकारी दी थी और उनकी गुमशुदगी दर्ज करवाई गई थी। पुलिस को बताया गया था कि वह अपनी मोटरसाइकिल ग्लैमर पर सवार होकर घर से गए थे वापस नहीं लौटे हैं। बिसरख कोतवाली पुलिस ने मामले में एफआइआर दर्ज की और छानबीन शुरू की।

ग्रेटर नोएडा वेस्ट और ग्रेटर नोएडा शहर में विभिन्न स्थानों पर लगे सीसीटीवी कैमरे की रिकॉर्डिंग निकलवाई गई। जिससे जानकारी हुई कि गौरव शर्मा ग्रेटर नोएडा की तरफ से दिल्ली पहुंचे हैं। इसके बाद पुलिस ने सबूत जुटाने शुरू किए लेकिन कोई कामयाबी नहीं मिली। अंततः रविवार की रात जानकारी मिली कि वह वडोदरा के एक मेडिटेशन सेंटर में भर्ती हैं।

पुलिस का कहना है कि करीब 3 महीने पहले गौरव शर्मा की नौकरी चली गई थी और उन्हें दोबारा नौकरी नहीं मिल रही थी। जिसके कारण वह डिप्रेशन का शिकार हो गए थे। ऊपर से घर में पत्नी के साथ हुई मामूली कहासुनी ने उन्हें परेशान कर दिया और वह घर छोड़ कर चले गए। पुलिस ने बताया कि गौरव शर्मा पुत्र जीवन शर्मा निवासी 658 एच टावर फिफ्थ एवेन्यू गौर सिटी गुजरात के वडोदरा में एक मेडिटेशन सेंटर पर मिल गए हैं। गुमशुदा गौरव शर्मा के भाई सौरव शर्मा ने दूरभाष पर बिसरख के सब इंस्पेक्टर को अवगत कराया कि वह अपनी फाइनेंसियल कंडीशन और काफी समय से जॉब न लग पाने के कारण घर से बिना बताए चले गए थे। गुजरात के वडोदरा में गुमशुदा के परिवारी जन मौजूद हैं, कल सुबह तक वह लेकर आ रहे हैं।