योगी के आदेश पर मुख्तार अंसारी पर गिरी गाज, क्या आपको पता है मुख्तार अंसारी के गैंग का नम्बर

Updated Jul 14, 2020 22:35:11 IST | Mayank Tawer

कानपुर में गैंगस्टर विकास दुबे और पुलिस के बीच हुई मुठभेड़ में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी गई थी। इस सनसनीखेज कांड के बाद यूपी एसटीएफ और उत्तर प्रदेश पुलिस....

योगी के आदेश पर मुख्तार अंसारी पर गिरी गाज, क्या आपको पता है मुख्तार अंसारी के गैंग का नम्बर
Photo Credit:  Google Image
मुख्तार अंसारी

कानपुर में गैंगस्टर विकास दुबे और पुलिस के बीच हुई मुठभेड़ में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी गई थी। इस सनसनीखेज कांड के बाद यूपी एसटीएफ और उत्तर प्रदेश पुलिस ने चुन-चुन कर विकास दुबे और उसके गुर्गों को ठिकाने लगाया है। अब उत्तर प्रदेश में विकास दुबे जैसे कुख्यात गैंगस्टर की भी शामत आ गई है। जहां गौतम बुध नगर में सुंदर भाटी और अनिल दुजाना गैंग की मुश्कें कसी जा रही हैं, वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश पर मंगलवार को गाजीपुर के कुख्यात गैंगस्टर मुख्तार अंसारी के गैंग पर भी गाज गिरी है। गाजीपुर पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक मुख्तार अंसारी गैंग के 5 गुर्गों और उसके रिश्तेदारों पर पुलिस और प्रशासन ने बड़ा एक्शन लिया है। 

इन लोगों के पास मौजूद असलहों और कारतूसों का जिला प्रशासन और पुलिस ने ऑडिट किया। जिसमें भारी गड़बड़ी सामने आई है। इसके बाद मुख्तार अंसारी के रिश्तेदारों और गुर्गों के लाइसेंस जब्त कर लिए गए हैं। हथियार पुलिस ने माल खाने में जमा कर दिए हैं। अब पुलिस इनकी प्रॉपर्टी की छानबीन में जुट गई है। जानकारी मिल रही है कि अगले कुछ दिनों में गैंग की प्रॉपर्टी भी जब्त की जाएगी। लोकल इंटेलिजेंस और पुलिस को पता लगा है कि इन लोगों ने आम आदमी को आतंकित करके करोड़ों रुपए की प्रॉपर्टी बनाई है।

मुख्तार अंसारी के गैंग का नंबर है आईएस-191

गाजीपुर के जिलाधिकारी के ओमप्रकाश आर्य ने बताया कि उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले में मुख्तार अंसारी गैंग का नम्बर IS191 है। इस गैंग से जुड़े 5 सहयोगियों और रिश्तेदारों के शस्त्र, शस्त्र लाइसेंस व कारतूसों के भौतिक सत्यापन में अनियमितता पाई गई हैं। इसके आधार पर प्रभारी निरीक्षक मुहम्मदाबाद ने रिपोर्ट प्रेषित की गयी थी। रिपोर्ट के आधार पर मुख्तार अंसारी गैंग के 5 सहयोगियों और रिश्तेदारों के शस्त्र लाइसेंस निलम्बित कर दिये हैं। इस प्रकार पिछले 24 घण्टों में जनपद गाजीपुर पुलिस ने माफिया मुख्तार अंसारी के 5 सहयोगियों के शस्त्र निलम्बित कराकर थाने के मालखाने में दाखिल किए हैं।

अब तक माफियाओं के 35 हथियार जब किए गए हैं

कानपुर कांड के बाद 4 जुलाई से शुरू हुई कार्रवाई के तहत गाजीपुर जनपद में अब तक मुख्तार अंसारी गैंग के सदस्यों, सहयोगियों, रिश्तेदारों के 33 शस्त्र निलम्बित करके थाने के मालखानों में दाखिल करवाए जा चुके हैं। गाजीपुर के जिला अधिकारी ओपी आर्य का कहना है कि आने वाले दिनों में गैंगस्टर, माफिया और गुंडों पर और बड़ी कार्यवाही की जाएगी। इन लोगों की संपत्तियों का पता लगाया जा रहा है। जल्दी ही माफियाओं की संपत्ति भी जब्त की जाएगी।

मुख्तार के इन पांच गुर्गों पर गिरी गाज

  1. उदय नरायण यादव पुत्र श्रीपति सिंह यादव, निवासी रघुवरगंज, थाना मुहम्मदाबाद,गाजीपुर (मुख्तार अंसारी का सहयोगी)
  2. रियाज अंसारी पुत्र शब्बीर अंसारी, कल्यानपुर, थाना मुहम्मदाबाद, गाजीपुर (मुख्तार अंसारी का सहयोगी) 
  3. रामानुज सिंह यादव पुत्र रामदरश सिंह यादव, दाउदपुर, थाना मुहम्मदाबाद, गाजीपुर (मुख्तार अंसारी का सहयोगी)
  4. अफजल अली खान पुत्र शहाबुद्दीन खान, दाउदपुर, थाना मुहम्मदाबाद, गाजीपुर (मुख्तार अंसारी के सहयोगी)
  5. वलीउल्लाह खान पुत्र कलीमुल्लाह, जफरपुरा, थाना मुहम्मदाबाद, गाजीपुर (मुख्तार अंसारी का सहयोगी)
Gangster Mukhtar Ansari, Gazipur Crime, Yogi Adityanath, UP Police, Mukhtar Ansari Gang members