ग्रेटर नोएडा वेस्ट की सोसाइटियों में बाहरी लोगों के प्रवेश पर पूरी तरह पाबन्दी

Updated Mar 21, 2020 22:22:38 IST | Anika Gupta

कोरोना वायरस से बचाव और रोकथाम के लिए ग्रेटर नोएडा वेस्ट की कई हाउसिंग सोसाइटियों ने बाहरी लोगों के प्रवेश पर पाबंदी लगा दी है। बाहरी लोगों जैसे डिलीवरी बॉय, अखबार के हॉकर, फेरीवाले, नौकरानियों, दूधवाले और अन्य लोगों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है। गेट पर आपूर्ति प्राप्त की जा रही है। जहां से लोग आवश्यक सामान उठाते हैं। यह कदम नोएडा और ग्रेटर नोएडा की हाईराइज सोसायटी व सेक्टरों में पाबंदियां लगाई जा रही हैं। 

Photo Credit:  Tricity Today
Greater Noida West

कोरोना वायरस से बचाव और रोकथाम के लिए ग्रेटर नोएडा वेस्ट की कई हाउसिंग सोसाइटियों ने बाहरी लोगों के प्रवेश पर पाबंदी लगा दी है। बाहरी लोगों जैसे डिलीवरी बॉय, अखबार के हॉकर, फेरीवाले, नौकरानियों, दूधवाले और अन्य लोगों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है। गेट पर आपूर्ति प्राप्त की जा रही है। जहां से लोग आवश्यक सामान उठाते हैं। यह कदम नोएडा और ग्रेटर नोएडा की हाईराइज सोसायटी व सेक्टरों में पाबंदियां लगाई जा रही हैं। 

प्रारंभ में कुछ सोसायटी ने बाहरी लोगों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाया था, लेकिन बाद में सभी सोसायटी इसके दायरे में आ गई हैं। अब तक नोएडा और ग्रेटर नोएडा में 20 से ज्यादा सोसायटी ने घातक वायरस के खतरे के तहत बाहरी लोगों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है। जो अभी भी अनुमति दे रहे हैं, वे उचित थर्मल स्क्रीनिंग और स्वच्छता के तरीके अपना रहे हैं। आगंतुकों को प्रवेश करने से पहले सेनेटाइज किया जा रहा है। 

ग्रेटर नोएडा वेस्ट की अरिहंत आर्डेन सोसायटी के निवासी मनीष कुमार ने बताया कि गुरुवार से उनकी सोसायटी में बाहरी लोगों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। "कोरोना वायरस के मद्देनजर सोसायटी प्रबंधन ने आवासीय टावरों में बाहरी लोगों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया है। जबकि दूध, खाद्य ऑर्डर, कूरियर और अखबार सहित वस्तुओं को अपने टावरों के रिसेप्शन क्षेत्र से निवासी एकत्र कर रहे हैं। घरेलू नौकरानी के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने पर विचार चल रहा है और जल्द ही सोसायटी प्रबंधन इस पर कार्रवाई करेगा।

अरिहंत आर्डेन की तरह गौड़ सिटी और सेक्टर 76, 77, 78 क्षेत्रों में कई अन्य सोसायटी ने भी बाहरी लोगों के प्रवेश पर यही निर्णय लिया है। अब लोग इस घातक वायरस से लड़ने के लिए विभिन्न तरीके अपना रहे हैं। नोएडा में कुछ बच्चों ने एक एहतियाती गतिविधि शुरू की है। जिसमें उन्होंने घर पर सामग्री को पुनर्नवीनीकरण किया है। सेक्टर 79 में गौर स्पोर्ट्स में बच्चों ने टूथपिक और माचिस की तीली के साथ लिफ्ट में छोटे कार्ड बोर्ड और थर्मोकोल शीट चिपकाए हैं। बच्चे लोगों को सलाह दे रहे हैं कि वे लिफ्ट बटन दबाने के लिए टूथपिक का इस्तेमाल करें और कार्ड बोर्ड के साथ रखी कैन में टूथपिक को छोड़ दें। 

इस बीच गौतमबुद्ध नगर प्रशासन ने दो और निजी अस्पताल भवनों को अपने कब्जे में ले लिया है, जो पहले बंद हो चुके हैं। इन्हें COVID-19 के सकारात्मक रोगियों के लिए संगरोध सुविधाओं के रूप में उपयोग किया जाएगा।