राम मंदिर पर जारी डाक टिकट की धूम, रोजाना लाखों रुपए के टिकट बिक रहे हैं

राम मंदिर पर जारी डाक टिकट की धूम, रोजाना लाखों रुपए के टिकट बिक रहे हैं

Google Image | श्रीराम जन्मभूमि अयोध्या मंदिर

श्रीराम जन्मभूमि अयोध्या मंदिर पर डाक विभाग की ओर से जारी किए गए टिकट ने धूम मचा रखी है। डाक विभाग रोजाना लाखों रुपए की टिकट बेच रहा है। अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि पिछले 4 दिनों में 16.50 लाख रुपए की 66 हजार टिकट बिक गए हैं। अयोध्या शोध संस्थान ने 5 हजार टिकट खरीदे हैं। डाक विभाग का कहना है कि देशभर में यह टिकट खरीदा जा रहा है। विदेशों से भी डिमांड आ रही है।

अयोध्या में 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रीराम जन्म भूमि मंदिर के लिए भूमि पूजन किया है। अयोध्या में श्रीराम मंदिर पर एक डाक टिकट भी जारी किया गया है। इस डाक टिकट की देशभर से भारी मांग हो रही है। अभी डाक टिकट जारी हुए केवल 4 दिन हुए हैं और 66,000 से ज्यादा टिकट बिक चुके हैं। जिससे डाक विभाग को 16.5 लाख रुपए की आमदनी हुई है। इतना ही नहीं दुनिया भर से इस डाक टिकट को खरीदने के लिए डाक विभाग को ऑनलाइन डिमांड मिल रही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पोस्टल डिपार्टमेंट की ओर से जारी किया था। टिकट पर राम जन्मभूमि मंदिर को उकेरा गया है। मंदिर के लिए तैयार किए गए मॉडल को इस डाक टिकट पर प्रकाशित किया गया है। इस डाक टिकट से पहले भगवान श्रीराम पर 11 स्मारक टिकट जारी कर चुके हैं। इस तरह अब देश में भगवान श्रीराम पर कुल 12 प्रचलित डाक टिकट मौजूद हैं। 5 अगस्त को जारी किए गए डाक टिकट की कीमत 5 रुपये रखी गई है। 

फिलहाल पांच लाख डाक टिकट छापे गए हैं। यह डाक टिकट यूपी सरकार ने तैयार करवाए हैं। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 सितंबर 2017 को वाराणसी के मानस मंदिर में श्रीराम की जीवन कथा पर आधारित 11 डाक टिकट जारी किए थे। यह सभी डाक टिकट रामायण के विभिन्न प्रसंगों पर आधारित हैं। इनमें राम-सीता स्वयंवर से लेकर भगवान राम के अयोध्या में पुनः राज्य अभिषेक तक के प्रसंग को दर्शाया गया है। 

उन डाक टिकट पर प्रयागराज की सोरांव तहसील में स्थित श्रृंगवेरपुर की ऐतिहासिक फोटो भी है। वहां श्रीराम, लक्ष्मण और सीता नाव पर सवार होकर नदी पार करते हुए दिख रहे हैं। पौराणिक मान्यता है कि इसी रास्ते से भगवान श्रीराम 14 वर्ष के वनवास पर गए थे।

अन्य खबरे

Copyright © 2019-2020 Tricity. All Rights Reserved.