गाजियाबाद में रजिस्ट्रेशन के लिए रामलीला मैदान बंद, भटक रहे हैं श्रमिक

Updated May 19, 2020 10:25:03 IST | Tricity Reporter

प्रवासी मजदूरों को लेकर गाजियाबाद प्रशासन सतर्क हो गया है। कल की घटना से सबक लेते हुए मंगलवार को कवि नगर और घंटाघर रामलीला...

Photo Credit:  Tricity Today
गाजियाबाद में रजिस्ट्रेशन के लिए रामलीला मैदान बंद

प्रवासी मजदूरों को लेकर गाजियाबाद प्रशासन सतर्क हो गया है। कल की घटना से सबक लेते हुए मंगलवार को कवि नगर और घंटाघर रामलीला मैदान को रजिस्ट्रेशन के लिए बंद कर दिया गया है। रजिस्ट्रेशन बंद होने से शहर में मजदूर इधर-उधर भटक रहे हैं। हालांकि चर्चा है कि प्रवासी मजदूरों के रजिस्ट्रेशन के लिए दूसरों जगह इंतजाम किये जा रहे है।

गाजियाबाद प्रशासन ने कवि नगर रामलीला मैदान में रजिस्ट्रेशन की सुविधा रखी थी। लेकिन सोमवार को मजदूरों की संख्या बढ़ने के कारण वहां अफरा-तफरी मच गई। अव्यवस्था फैलने से मजदूरों में रोष उत्पन्न हो गया। कल की इस घटना से सबक लेते हुए गाजियाबाद प्रशासन ने रामलीला मैदान को रजिस्ट्रेशन के लिए बंद कर दिया है। आज दोनों मैदान सुबह से खाली पड़े हैं। शहर में मजदूर इधर-उधर भटक रहे हैं। इकट्ठा हो रहे मजदूरों को भगाने के लिए पुलिस ने हल्का बल भी प्रयोग किया है। हालांकि चर्चा है कि राधा स्वामी सत्संग ब्यास के परिसर में रजिस्ट्रेशन किया जाएगा। हालांकि अभी इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है।

गौरतलब है कि लॉकडाउन के कारण गाजियाबाद में दूसरे राज्यों और जिलों के फंसे लोगों को उनके घर भेजने के लिए ट्रेनों का संचालन शुरू किया गया है। गाजियाबाद से सोमवार को तीन ट्रेन बिहार के लिए और तीन ट्रेन उत्तर प्रदेश के जिलों के लिए चलाई गई हैं। इसके लिए उत्तर प्रदेश के जनसुनवाई पोर्टल पर मजदूरों को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना होता है। बड़ी संख्या में मजदूर जानकारी के अभाव में रजिस्ट्रेशन नहीं कर पा रहे हैं। जिला प्रशासन ने इनकी समस्या का समाधान करने के लिए रामलीला मैदान में एक काउंटर खोलने का ऐलान कर दिया था। इसके बाद हजारों मजदूरों की भीड़ रामलीला मैदान पहुंच गई। हालात बेकाबू हो गए थे। सोशल डिस्टेंसिंग का किसी को कोई ख्याल नहीं था। बड़ी समस्या यह हुई है कि काउंटर केवल एक खोला गया था और मजदूरों की भीड़ हजारों में थे।
 
आपको बता दे कि बिहार के रक्सौल, मुजफ्फरपुर और पटना के लिए ट्रेनों का संचालन गाजियाबाद से किया जा रहा है। इसकी व्यवस्था घंटाघर रामलीला मैदान में की गई है। वहीं, उत्तर प्रदेश के गोरखपुर बनारस और प्रयागराज के लिए तीन ट्रेनों का संचालन किया गया है। इनके यात्रियों के लिए कवि नगर रामलीला मैदान में व्यवस्था की गई है। इन स्थानों पर मजदूरों का रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है। सूचना के बाद सोमवार की सुबह 4:00 बजे से ही लोगों की भीड़ रामलीला मैदान पहुंच थी। दोनों मैदानों में 10 हजार से ज्यादा लोग अपने घर जाने की आस में दौड़ पड़े। इस दौरान हजारों की संख्या में लोगों को टिकट नहीं मिल सके।

Ramlila Grounds Ghaziabad, Ramlila Maidan Ghaziabad, Ghaziabad News, Ghaziabad