जेवर एयरपोर्ट की जमीन से 28 फरवरी तक स्कूल, सड़क और बिजली की लाइनें शिफ्ट होंगी, देखिए क्या-क्या हटाया जाएगा

Updated Oct 13, 2020 21:00:06 IST | Harish Rai

जेवर एयरपोर्ट परियोजना में आने वाले स्कूल, सड़क, बिजली की लाइन, आंगनबाड़ी केंद्र आदि को अगले साल 28 फरवरी तक शिफ्ट कर दिया जाएगा। एयरपोर्ट के कामों...

जेवर एयरपोर्ट की जमीन से 28 फरवरी तक स्कूल, सड़क और बिजली की लाइनें शिफ्ट होंगी, देखिए क्या-क्या हटाया जाएगा
Photo Credit:  Google Image

जेवर एयरपोर्ट परियोजना में आने वाले स्कूल, सड़क, बिजली की लाइन, आंगनबाड़ी केंद्र आदि को अगले साल 28 फरवरी तक शिफ्ट कर दिया जाएगा। एयरपोर्ट के कामों को तेजी से पूरा करने के लिए कार्ययोजना को अंतिम रूप दे दिया गया है। ये सारे काम संबंधित विभाग अपने-अपने खर्चे पर कराएंगे। इसके लिए शासन की ओर से आदेश जारी कर दिए गए हैं। इन कामों को प्राथमिकता के आधार पर कराने के लिए कहा गया है।

जेवर एयरपोर्ट का पहला चरण 1334 हेक्टेयर जमीन पर मूर्त रूप लेगा। इस परियोजना क्षेत्र में स्कूल, आंगनबाड़ी केंद्र, सड़क, बिजली की लाइन, नाला, नहर आदि आ रहे हैं। इनको परियोजना से बाहर शिफ्ट किया जाना है। सोमवार को इसको लेकर मुख्य सचिव राजेंद्र तिवारी ने एयरपोर्ट से संबंधित अधिकारियों के साथ ऑनलाइन बैठक की। उन्होंने इन कामों को 28 फरवरी तक पूरा करने के लिए कहा है। एयरपोर्ट परियोजना पर तेजी से काम करने के लिए पहले इन सभी को शिफ्ट किया जाना जरूरी है।

नौ सड़कों को शिफ़्ट करेंगे

परियोजना में आने वाली सड़कों को भी शिफ्ट किया जाएगा। इसमें किशोरपुर से बनवारीवास मार्ग करीब 1.15 किलोमीटर, एचएसके से बनवारीवास मार्ग 1.81 किलोमीटर, एचएसके से नगला छीतर मार्ग 1.81 किलोमीटर व नगला छीतर से नगला शरीफ खान मार्ग में 0.5 किलोमीटर शिफ्ट होगा। इसके अलावा एचएसके से रोही मार्ग 1.75 किलोमीटर, एचएसके से रन्हेरा मार्ग एक किलोमीटर, एचएसके से नगला गणेशी मार्ग 0.9 किलोमीटर, जेवर-रबूपुरा से दयानतपुर खेड़ा मार्ग 0.650 किलोमीटर और एचएसके से रामनेर मार्ग 0.6 किलोमीटर शिफ्ट किया जाना है। यह काम पीडब्ल्यूडी करेगा। पीडब्ल्यूडी विभाग इसके लिए तैयार कर ली है।

परियोजना में छह स्कूल हैं

जेवर एयरपोर्ट परियोजना में दयानतपुर और रोही में तीन-तीन सरकारी स्कूल हैं। अब इन स्कूलों को जेवर बांगर में बनाया जाएगा। जेवर बांगर में ही प्रभावित परिवारों को बसाया जाना है। छह स्कूलों की जगह अब दो उच्च प्राथमिक विद्यालय बनाए जाएंगे। एक विद्यालय में 19 और दूसरे विद्यालय में 5 कमरे होंगे। परियोजना में 5 आंगनबाड़ी केंद्र आ रहे हैं। इन आंगनबाड़ी केंद्रों को इन्हीं स्कूलों में शिफ्ट किया जाएगा। यह काम शिक्षा विभाग करेगा।

नहर-नाला भी शिफ्ट होंगे

परियोजना में नहर और नाला भी आ रहे हैं। इनको भी शिफ्ट किया जाएगा। बैठक में बजौता माइनर और पथवाया नाला को शिफ्ट करने के लिए कार्ययोजना प्रस्तुत की यह काम सिंचाई विभाग करेगा। इस काम के लिए शासन ने पहले ही अपनी सहमति दे दी है।

जद में आईं बिजली की लाइन

एयरपोर्ट परियोजना में बिजली की लाइनें भी आ रही हैं। इन लाइनों के साथ बिजली के पोल भी लगे हुए हैं। लाइन व खंभों को बिजली विभाग शिफ्ट करेगा। इसकी योजना बनाई जा चुकी है।

जेवर बांगर में बसाए जाएंगे परिवार

जेवर एयरपोर्ट परियोजना में 3627 परिवारों को दूसरी जगह बसाया जाना है। इसके लिए जेवर बांगर में जमीन का अधिग्रहण किया गया है। 45 हेक्टेयर से अधिक जमीन पर कब्जा मिल गया है। यहीं पर स्कूल, आंगनबाड़ी केंद्र आदि  बनाए जाएंगे। इस सेक्टर को विकसित करने के लिए यमुना प्राधिकरण को नोडल एजेंसी बनाया गया है। प्राधिकरण के अफसरों का दावा है कि जमीन का लेआउट मिलने के बाद छह महीने में काम पूरा कर लिया जाएगा।

नियाल के मुख्य कार्यपालक अधिकारी डॉ.अरुणवीर सिंह का कहना है कि एयरपोर्ट परियोजना में आने वाले स्कूल, आंगनबाड़ी केंद्र, बिजली की लाइनों आदि को शिफ्ट किया जाएगा। मुख्य सचिव ने इन कामों की समीक्षा की है। सभी काम 28 फरवरी तक पूरा करने के लिए कहा है।

Jewar Airport, Noida International Airport, Jewar News, NIAL