विकास दुबे एनकाउंटर की सीबीआई जांच की मांग को लेकर सपा नेता ने हाईकोर्ट में दायर की याचिका

विकास दुबे एनकाउंटर की सीबीआई जांच की मांग को लेकर सपा नेता ने हाईकोर्ट में दायर की याचिका

Tricity Today | विकास दुबे

याचिका शुक्रवार को इलाहाबाद उच्च न्यायालय में दायर की गईgangaसमाजवादी पार्टी के नेता अभिषेक सोम ने यह याचिका दायर की है

प्रयागराज। विशेष कार्य बल (एसटीएफ) द्वारा हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे की मुठभेड़ में सीबीआई जांच की मांग वाली याचिका शुक्रवार को इलाहाबाद उच्च न्यायालय में दायर की गई। समाजवादी पार्टी (सपा) के नेता अभिषेक सोम ने यह याचिका दायर की है।

याचिकाकर्ता ने जिम्मेदार पुलिसकर्मियों के खिलाफ प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करने के लिए हाईकोर्ट से दिशा-निर्देश की मांग की है। इस मामले की जांच किसी निष्पक्ष जांच एजेंसी या केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को देने की मांग अदालत से की गई है।"

याचिका में मुठभेड़ पर सवाल उठाए गए हैं। इसे 'फर्जी मुठभेड़' करार दिया गया है। याचिका में कहा गया है कि सर्वोच्च न्यायालय ने माना है कि "फर्जी मुठभेड़ कोल्ड ब्लडेड हत्या की तरह है।" पुलिस विभाग पर अधिकारियों को बचाने के लिए झूठी और मनगढ़ंत कहानी बनाने का आरोप लगाया है।

इससे पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी पूरे कानपुर एनकाउंटर मामले में सुप्रीम कोर्ट के एक जज से जांच कराने की मांग की थी। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने उत्तर प्रदेश को "अपराध प्रदेश" में बदल दिया है और विकास दुबे जैसे अपराधियों को सत्ता में लोगों द्वारा ढाल दी जा रही है।
 
कानपुर मुठभेड़ कांड का मुख्य आरोपी विकास दुबे शुक्रवार को पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारा गया था। कानपुर मुठभेड़ मामले के मुख्य आरोपी दुबे को पुलिस ने गुरुवार की सुबह उज्जैन में गिरफ्तार किया था। वह पिछले कई दिनों से फरार चल रहा था और उज्जैन मंदिर में पूजा-अर्चना करने के लिए आया था। जहां उसकी पहचान मंदिर के एक सुरक्षाकर्मी से हुई।

गैंगस्टर पिछले हफ्ते कानपुर के चौबेपुर इलाके के बिकरू गांव में हुई मुठभेड़ का मुख्य आरोपी है, जिसमें हमलावरों के एक समूह ने पुलिस टीम पर कथित रूप से गोलियां चलाईं, जो दुबे को गिरफ्तार करने के लिए गई थीं। मुठभेड़ में आठ पुलिस कर्मी मारे गए। दुबे भागने में सफल रहा और उत्तर प्रदेश पुलिस ने उसकी तलाश शुरू की है। उस पर इनाम बढ़ाकर 5 लाख रुपये कर दिया था।

अन्य खबरे

Copyright © 2019-2020 Tricity. All Rights Reserved.