BIG BREAKING: यूपी में विश्वविद्यालयों की स्थगित परीक्षाएं अब नहीं होंगी, जानिए क्या होगा

Updated Jun 29, 2020 20:50:23 IST | Anika Gupta

उत्तर प्रदेश में स्नातक और परास्नातक कक्षाओं के छात्रों के लिए बड़ी खबर आई है। कोरोना संक्रमण के कारण यूपी के सभी विश्वविद्यालयों की स्थगित परीक्षाएं...

BIG BREAKING: यूपी में विश्वविद्यालयों की स्थगित परीक्षाएं अब नहीं होंगी, जानिए क्या होगा
Photo Credit:  Google Image
प्रतीकात्मक फोटो

उत्तर प्रदेश में स्नातक और परास्नातक कक्षाओं के छात्रों के लिए बड़ी खबर आई है। कोरोना संक्रमण के कारण यूपी के सभी विश्वविद्यालयों की स्थगित परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं। अब उनका दोबारा आयोजन नहीं किया जाएगा। छात्रों को सेमेस्टर और पिछले वर्षों में मिले अंकों के आधार पर पास करते हुए अगली कक्षाओं में भेजा जाएगा। चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय के कुलपति की अध्यक्षता में गठित समिति ने यह रिपोर्ट उत्तर प्रदेश सरकार को सौंप दी है। इस मसले पर आज शाम मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ दिनेश शर्मा के साथ बैठक की थी।

कोरोना वायरस के कारण देशव्यापी लॉकडाउन लागू किया गया था। जिसके चलते उत्तर प्रदेश में लगभग सभी यूनिवर्सिटी की परीक्षाएं स्थगित कर दी गई थीं। अब लॉकडाउन खत्म हुआ तो विश्वविद्यालयों ने स्थगित परीक्षाओं को दोबारा आयोजित करने पर विचार शुरू किया था, लेकिन उत्तर प्रदेश के अधिकांश जिलों में कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में विश्वविद्यालयों के शिक्षकों ने परीक्षाएं आयोजित नहीं करने की राय कुलपतियों को दी थी। शिक्षकों के संगठनों ने उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उच्च शिक्षा मंत्री डॉ दिनेश शर्मा को पत्र लिखकर परीक्षाएं स्थगित करने की मांग की थी।

इन पत्रों पर संज्ञान लेते हुए उच्च शिक्षा मंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने मेरठ के चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर एनके तनेजा की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया था। इस समिति में अवध विश्वविद्यालय लखनऊ, छत्रपति साहूजी महाराज विश्वविद्यालय कानपुर और डॉक्टर भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय आगरा के कुलपति बतौर सदस्य शामिल किए गए थे। इन चारों कुलपति से उच्च शिक्षा मंत्री ने 3 दिनों में रिपोर्ट देकर मत स्पष्ट करने को कहा था। 

अब जानकारी मिली है कि सोमवार को लखनऊ में मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई बैठक के दौरान कुलपति प्रोफेसर एनके तनेजा ने अपनी रिपोर्ट सौंप दी है। इस रिपोर्ट में समिति ने उत्तर प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों की स्थगित परीक्षाओं को रद्द करने की संस्तुति की है। जानकारी मिल रही है कि समिति की संस्तुति पर सरकार ने फैसला ले लिया है और यूपी के सभी विश्वविद्यालयों की परीक्षाएं रद्द कर दी हैं।

अब इस तरह पास किए जाएंगे विश्विद्यालयों के छात्र

समिति ने सिफारिश की है कि छात्रों को सेमेस्टर और वार्षिक परीक्षाओं के औसत अंकों के आधार पर इस साल की परीक्षा के लिए अंक दिए जाएं और प्रोन्नत कर दिया जाए। अंतिम वर्ष के छात्रों को पूर्व के वर्षों और सेमेस्टर्स में मिले अंकों के औसत के आधार पर प्रोन्नत किया जाएगा।

Uttar Pradesh University, Uttar Pradesh News, UP News, Uttar Pradesh University exam, Postponed examinations in UP